Connect with us

CTET

 CTET Exam 2022: ‘पर्यावरण पेडागोजी’ के ऐसे सवाल पूछे गए थे पिछले साल आयोजित हुई सीटेट परीक्षा में!

Published

on

Advertisement

CTET EVS Pedagogy Previous Year Question: दिसंबर से जनवरी माह में आयोजित की जाने वाली केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा 2022 का आयोजन सीबीएसई के द्वारा ऑनलाइन मोड में किया जाएगा ।इस परीक्षा में क्वालीफाई अभ्यर्थी केंद्रीय विद्यालय नवोदय विद्यालय आर्मी पब्लिक स्कूल साथ ही विभिन्न राज्यों में होने वाली शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया में आवेदन करने की पात्र होते हैं अगर आप भी इस परीक्षा में सम्मिलित होने वाले हैं तो इस आर्टिकल में आपके लिए विगत वर्ष पूछे गए पर्यावरण पेडगॉजी के कुछ चुनिंदा सवाल साझा कर रहे हैं जिसके माध्यम से आप यह जान पाएंगे कि विगत वर्ष परीक्षा में किस लेवल के सवाल पूछे गए थे।

सीटेट परीक्षा में पूछे गए पर्यावरण पेडागोजी के सवाल—EVS Pedagogy Previous Year Question For CTET Exam

1. बगीचे में दो बर्तनों में बीन के बीज बोये गए। अध्यापक ने राधा को एक बर्तन को छाया में और दूसरा सूर्य के प्रकाश में रखने के लिए कहा। राधा को प्रतिदिन के अवलोकन का रिकॉर्ड रखने को कहा। इससे राधा को सहायता मिलेगी-

1. आत्मविश्वास बढ़ाने में

Advertisement

2. अवलोकन कौशल विकसित करने में

3. संप्रत्ययों की प्रस्तुति में

4. समयबद्धता और अनुशासन में

Ans- 2 

2. एक पर्यावरण अध्यापक अपने विद्यार्थियों को एक पर्यावरण संरक्षक कैसे बना सकता है? सर्वश्रेष्ठ संभावना चुनिए-

1. उन्हें वस्तुओं के पुनः उपयोग, पुनः चक्रण में लाने को कहना।

2. उन्हें नए संसाधन विकसित करने को कहना।

3. उन्हें अपने इलाके के एक पौधे/पेड़ का देखभालकर्ता बनाकर।

4. उन्हें प्रकृति को हानि न पहुंचाने के लिए कहकर

Ans- 3 

3. निम्नलिखित में कौन-सा से उद्देश्य खोज आधारित शिक्षण से प्राप्त होता है? 

a. विद्यार्थियों की जिज्ञासा में वृद्धि होती है।

b. विद्यार्थियों की सीखने में व्यस्तता

c. छात्रों में परस्पर सामाजिक अंतः क्रिया

d. निम्न स्तरीय संज्ञानात्मक प्रक्रिया का विकास

Advertisement

1. केवल c और d

2. केवल और b

3. केवल a, b और d

4. केवल a, b और c

Ans- 4 

4. छात्रों में शिक्षण योग्यता सुधारने के लिए अनुभव-जन्य शिक्षण महत्त्वपूर्ण है। इनमें से कौन-सी उपलब्धि अनुभव-जन्य शिक्षण से प्राप्त की जा सकती है–

a. ज्ञानेन्द्रिय अनुभव

b. ठोस अनुभव

c. ज्ञान वृद्धि व ग्रेड अंकों में बुद्धि

d. कौशल प्रक्रिया में सुधार

1. a, b, और d

2. b और c

3. केवल d

4. c और d

Ans- 1 

5. सचिन सामाजिक आर्थिक अभावग्रस्त पृष्ठभूमि से संबंध रखता है। उसकी कक्षा अध्यापिका श्रीमती खुराना को उसकी सहायता करनी चाहिए और कक्षा में ऐसा वातारण और स्थिति बनानी चाहिए जिससे –

1. उसके सांस्कृति और सामाजिक परिवेश को सम्मान से देखा जाए।

2. उसके क्षेत्रीय भाषा बोली को हतोत्साहित करें और अंग्रेजी पर जोर दिया जाए।

Advertisement

3. उसे एक अलग समूह के रूप में चिन्हित करें।

4. उसे वे शिष्टाचार और आदतें सिखाएं जिन्हें वह सोचती है कि उसके पास कमी है।

Ans- 1 

6. निम्नलिखित में से कौन एक पर्यावरण अध्ययन के अध्यापक के लिए ई.वी.एस कक्षा को प्रभावशाली बनने में सहायक होगा-

a. विद्यालय का बगीचा

b. सम्प्रेषण तकनीकी

c. सूचना व सम्प्रेषण तकनीकी

d. विद्युत उपकरण व टेलीविजन

1 केवल a और c

2. b. c और d

3. केवल b और c

4. केवल a

Ans- 1 

7. श्रीमती मेहरा अपने छात्रों के परस्पर सम्बन्धों / सामाजिक विशेषताओं गुणों का विकास करना चाहती हैं वे अपनी पर्यावरण अध्ययन की कक्षा में किस आकलन के साधन का उपयोग करें?

a. लिखित प्रश्न-उत्तर

b. चर्चा द्वारा

c. क्रियाकलाप

d. मौखिक प्रश्न उत्तर

Advertisement

1. केवल b और c

2. a. b और c

3. b. c और d

4. केवल c और d

Ans- 1 

8. पर्यावरण अध्ययन के अध्यापक श्री मेहरा जी अपनी कक्षा में हमेशा भारत का मानचित्र लेकर जाते हैं, क्योंकि-

1. मानचित्र अच्छी प्रकार से बने होते हैं, उन्हें विद्यार्थी पसन्द करते हैं। 

2. विद्यार्थी मानचित्र देखकर आनंदित होते हैं।

3. मानचित्र छात्रों को स्थान और दिशाओं की स्थिति को समझाने में सहायक होते हैं।

4. छात्र कक्षा में शान्त और सावधान बैठे रहते हैं।

Ans- 3 

9. अर्जुन अक्सर, पर्यावरण अध्ययन की कक्षा में विद्यार्थियों से खेल के मैदान से लौटते हुए क्या देखा, उसके विषय में रोचक प्रश्न पूछते हैं। इस प्रकार के विद्यार्थियों के किस कौशल का आकलन करते हैं-.

1 श्रवण कौशल

2. चिन्तन कौशल

3. अवलोकन कौशल

4. संवेगात्मक कौशल

Ans- 3 

10. प्राथमिक स्तर के लिए कौन-सी विधि पर्यावरण अध्ययन शिक्षण के लिए अच्छी नहीं है?

Advertisement

1. विद्यार्थियों को अवलोकन के लिए कहना

2. कक्षा अध्यापन में प्रत्यय तथ्य देना

3. क्षेत्र भ्रमण

4. लघु चलचित्र देखना

Ans- 2 

11. श्रीमती मनीषा पर्यावरण अध्ययन के शिक्षण के लिए अच्छा वातारण बनाना चाहती हैं। वे योजना बनाती हैं- 

1. सप्ताहांत में अतिरिक्त कक्षा लेना

2. विद्यार्थियों को लिखित सामग्री देना

3. उनके द्वारा दी गई सामग्री को याद करना

4. आस-पास के क्षेत्र के सर्वे का आयोजन करना

Ans- 4 

12. पर्यावरण अध्ययन शिक्षण ——————- उपागम का अनुसरण करता है:

1. समाजिक रचनावादी

2. साहचर्यवादी

3. व्यवहारवादी 

4. अवलोकन जन्य अधिगम

Ans- 1 

13. एन. सी. एफ., 2005 के अनुसार प्राथमिक स्तर पर ई. वी. एस. का उद्देश्य निम्न में से कौन-सा होना चाहिए?

Advertisement

1. लिंग संबंधी विषयों की तथा हाशियाकरण के मुद्दों पर समालोचना करना ।

2. बच्चे की कंठस्थ करने की कला का विकास करना।

3. प्राथमिक स्तर पर ई.वी.एस. के सीखने में वर्णन के महत्व पर जोर देना।

4. वातावरण संबंधी प्रमुख मुद्दों को पहचानना व प्रत्याह्वान करना।

Ans- 1 

14. प्राथमिक स्तर पर ई.वी.एस. की एकीकृत प्रवृत्ति को निम्न में से कौन अनुमोदित करता है।

A. विज्ञान, सामाजिक विज्ञान तथा पर्यावरण शिक्षा की अवधारणाओं एवं मुद्दों का एकीकरण। 

B. बच्चा अपने पर्यावरण को एक संपूर्ण रूप में देखता है।

C. यह थीम पर आधारित है।

D. इसमें विज्ञान एवं सामाजिक विज्ञान के विषय तथा उपविषय शामिल हैं।

1. केवल A तथा B

2. A, B तथा C

3. केवल B तथा C

4. B, C तथा D

Ans- 2 

15. निम्न से से ई.वी.एस. की शिक्षा के संबंध में कौन-सा सही है?

A. अनुभव द्वारा सीखना

B. मूर्त से अमूर्त की ओर शिक्षा

Advertisement

C. ज्ञात से अज्ञात

D. ई.वी.एस. का प्रासंगिक स्वरूप

1. A, B, C तथा D

2. B. C तथा D

3. केवल C तथा D

4. केवल D

Ans- 1 

Read Also:-

CTET CDP PYQ: विगत वर्ष Online Exam में पूछे गए बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र के कुछ ऐसे सवाल!

CTET 2022: सीटेट परीक्षा में पूछे जाने वाले सामाजिक विज्ञान पेडागॉजी से जुड़े संभावित प्रश्न यहां पढ़े!

Advertisement

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *