Connect with us

CTET

CTET Exam: पिछले साल पूछे गए ‘बाल विकास एवं शिक्षा शास्त्र’ के कुछ चुनिंदा सवाल यहां पढें!

Published

on

Advertisement

CTET Previous Year Question: अगर आप भी सरकारी शिक्षक बनने का सपना देख रहे हैं, तो आपके लिए दिसंबर माह में आयोजित होने वाली सीटेट परीक्षा एक सुनहरा अवसर है। इस परीक्षा में क्वालीफाई अभ्यर्थि केंद्रीय विद्यालय एवं राज्य में होने वाली सरकारी शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया में आवेदन करने की पात्र होते हैं। ऐसे में परीक्षा में अच्छे अंकों के साथ सफलता प्राप्त करना अभ्यर्थियों के लिए अत्यंत आवश्यक हो जाता है। इस आर्टिकल में हम विगत वर्ष पूछे गए बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र के सवाल आपके साथ शेयर कर रहे हैं।  इन प्रश्नों के माध्यम से आप जान पाएंगे की परीक्षा में किस लेवल के सवाल पूछे जाते हैं।

सीटीईटी परीक्षा में पूछे गए CDP के कुछ ऐसे प्रश्न—CDP CTET Previous Year Question

Q.1 किस मनोवैज्ञानिक के अनुसार बच्चों के संज्ञानात्मक विकास में ‘सांस्कृतिक उपकरण’ एक महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं ?

A. अल्बर्ट बन्डुरा

Advertisement

B. बी. एफ. स्किनर

C. लेव वायगोत्स्की

D. जीन पियाजे

Ans- C 

Q. 2 अधिगम, एक ————– और ————- प्रक्रिया है।

A. सरल; व्यक्तिगत 

B. जटिल ; निष्क्रिय

C. जटिल ; सक्रिय;

D. सरल; रैखिक

Ans- C 

Q.3 निम्नलिखित में से कौन सा उदाहरण विद्यार्थियों को  अधिगम के लिए अभिप्रेरित करने के लिए प्रभावशाली पद्धति है।

A. वे कार्य देना जो कि बहुत सरल हों। 

B. प्रतियोगिताओं के लिए बहुत से अवसर उत्पन्न कराना।

C. पाड़ उपलब्ध कराना विशेषकर जब विद्यार्थी कोई नया कौशल सीख रहे हों ।

D. सीखने से ज्यादा कार्य पूर्ण करने पर बल देना

Advertisement

Ans- C 

Q. 4 बच्चों के चिंतन के विषय में निम्नलिखित में कौन सा कथन सही नहीं है ?

A. बच्चे अपने आस-पास की विविध घटनाओं के बारे में सक्रियतापूर्वक सोचते हैं और उनमें अन्वेषण (छान-बीन) की लालसा होती है।

B. बच्चे अपने आसपास की वस्तुओं को जानने के लिए जन्मजात जिज्ञासु होते हैं

C. बच्चे अपने आस-पास की विविध घटनाओं के बारे में स्वयं अपने सिद्धांतों की रचना करते हैं।

D. बच्चे प्रत्ययों को स्वयं नहीं सोच सकते और अध्यापक की मूल भूमिका उन्हें जानकारी उपलब्ध कराना है।

Ans- D 

Q.5 कक्षा में प्रभावशाली अधिगम के लिए ——– वातावरण की रचना करनी चाहिए बजाए ————- वातावरण के ।

A. भयावह सुसाध्यक

B. प्रतिस्पर्द्धिक ; सुसाध्यक

C. सहयोगिक : प्रतिस्पर्द्धिक

D. प्रतिस्पर्द्धिक; सहयोगिक

Ans- C 

Q. 6 निम्न में से शैशवावस्था की विशेषता नहीं है।

A. शारीरिक विकास में तीव्रता

B. नैतिकता का होना

C. मानसिक क्रियाओं की तीव्रता

D. दूसरों पर निर्भरता

Advertisement

Ans- B 

Q7.  एक —————  कक्षा में अध्यापिका अपनी शिक्षा शास्त्र व आकलन की विधियों को विद्यार्थियों की व्यक्तिगत ज़रूरतों के अनुसार परिवर्तित करती है।

A. पाठ्य पुस्तक केंद्रित

B. व्यवहारवादी

C. अध्यापक-केंद्रित

D. प्रगतिशील

Ans- D

Q. 8 अध्यापकों को कक्षा में बहुभाषीयता को ————— समझना चाहिए। 

A. एक समस्या

B. एक व्यवस्थागत मुद्दा 

C. एक गुण और साधन

D. एक रुकावट

Ans- C 

Q.9 जीन पियाजे के अनुसार संज्ञानात्मक विकास की अवस्थाएँ है |

A. 4

B. 3

C. 2

D. 5

Advertisement

Ans- A 

Q.10 बच्चों के समाजीकरण में विद्यालय –

A. प्राथमिक कारक है।

B. द्वितीयक कारक है।

C. की कोई भूमिका नहीं है । 

D. की बहुत कम भूमिका है।

Ans- B 

Q.11 निम्नलिखित में से किस मनोवैज्ञानिक ने प्रस्तावित किया है कि बच्चों का चिंतन गुणात्मक रूप से वयस्कों की अपेक्षा अलग होता है ?

A. हॉवर्ड गार्डनर

B. लॉरेंस कोलबर्ग

C. जीन पियाजे

D. लेव वायगोत्स्की

Ans- C

Q.12 विकास के विषय में निम्नलिखित में से कौन सा कथन सही है ?

A. विकास सुरुचिपूर्ण, सुव्यवस्थित समूह की अवस्थाओं में पूर्वनिश्चित आनुवंशिक घटकों के कारण होता है।

B. विकास एक सरल और एक-दिशीय प्रक्रिया है।

C. बच्चों के विकास में बहुत-सी सांस्कृतिक विविधताएँ होती हैं। 

D. संसार में सभी बच्चों का विकास एक ही के क्रम में और सुनिश्चित समय से होता है।

Advertisement

Ans- C

Q. 13 निम्नलिखित में से मध्य बाल्यावस्था की अवधि का मुख्य  प्रमाण चिह्न कौन सा है ?

A. पेशीय कौशल और समग्र शारीरिक वृद्धि का तेजी से विकास

B. वैज्ञानिक तर्क और अमूर्त रूप से सोचने की क्षमता का विकास

C. प्रतीकात्मक खेल का उभरना

D. तर्कसंगत विचारों का विकास जो कि प्राकृतिक रूप से मूर्त हैं।

Ans- D 

Q.14. जीन पियाजे के अनुसार बच्चे अमूर्त संक्रियात्मक अवस्था में –

A. संरक्षण, वर्गीकरण व श्रेणीबद्धता करन सक्षम नहीं हैं।

B. प्रतीकात्मक और सांकेतिक खेलों में भाग लेना प्रारंभ करते हैं।

C. परिकल्पित निगमनात्मक तर्क और प्रतिज्ञप्ति चिंतन करने में समर्थ हैं।

D. केंद्रीकरण और अनुत्क्रमणीय सोच स आबद्ध हैं।

Ans- C 

Q.15 लॉरेंस कोलबर्ग की नैतिक विकास के सिद्धांत के अनुसार व्यक्ति किस अवस्था में है जब विश्वास करता है कि वर्तमान सामाजिक प्रणाली सक्रियतापूर्वक बनाए रखने से धनात्मक मानवीय संबंध और सामाजिक वर्ग सुरक्षित रहता है ?

A. यंत्रीय उद्देश्य अभिविन्यास

B. सार्वभौमिक नैतिक सिद्धांत अभिविन्यास

C. दंड और आज्ञापालन अभिविन्यास

D. सामाजिक क्रम व्यवस्था अभिविन्यास

Advertisement

Ans- D

Read More:-

CTET 2022: लाखों अभ्यर्थी देगे सीटीईटी परीक्षा पूछे जाएंगे ‘बुद्धि के सिद्धांत’ से जुड़े कुछ इस प्रकार के प्रश्न

CTET Exam 2022-23: ‘पर्यावरण पेडागोजी’ से जुड़े इन सवालों का दे सही जवाब और चेक करें अपनी तैयारी!

उपरोक्त आर्टिकल में हमने पिछले साल पूछे गए ‘बाल विकास एवं शिक्षा शास्त्र’ के (CTET Previous Year Question) सवालों का अध्ययन किया। केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (CTET) से जुड़ी नवीनतम अपडेट और प्रैक्टिस सेट प्राप्त करने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल के सदस्य बने, जॉइन लिंक नीचे दी गई है

Advertisement

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *