CTET 2022: अगली सीटीईटी परीक्षा जल्द, बालविकास शिक्षा शास्त्र के इन सवालों से जाने परीक्षा का लेवल

Advertisement

CTET July 2022 CDP Model Questions: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा साल में दो बार आयोजित होने वाली सीटेट परीक्षा का जुलाई सेशन नोटिफिकेशन जल्द ही जारी किया जाएगा शिक्षक बनने की इच्छा रखने वाले लाखों अभ्यर्थी इस परीक्षा में सम्मिलित होंगे यदि आप भी सीटेट परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तो इस आर्टिकल में दी गई जानकारी आपके लिए बेहद महत्वपूर्ण है

सीटेट परीक्षा में सफलता हासिल करने के लिए अभ्यर्थियों को बाल विकास एवं शिक्षा शास्त्र विषय पर पकड़ बनाना बेहद आवश्यक है. सीटेट परीक्षा में दो पेपर आयोजित होते हैं और इन दोनों में ही बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र (CDP) समान रूप से पूछा जाता है इसके साथ ही सीटेट परीक्षा में पूछे जाने वाले सभी विषयों के पेडगॉजी सेक्शन के सवालों को हल करने के लिए अभ्यर्थियों को सीडीपी के कांसेप्ट क्लियर होना बेहद जरूरी है. इस आर्टिकल में बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र (CDP) के विगत परीक्षाओं में पूछे गए सवाल  शेयर किए गए हैं इन सवालों का अध्ययन करके आप सीटेट परीक्षा में पूछे जाने वाले CDP के सवालों तथा इसके पैटर्न को समझ सकते हैं.

परीक्षा में पूछे जाएँगे बालविकास शिक्षा शास्त्र के ऐसे सवाल- CDP model Questions for CTET July exam 2022

Q.1 Child-centered pedagogy promotes : छात्र केन्द्रित शिक्षाशास्त्र की क्या विशेषता है?

Advertisement

(a) Rote memorisation./यंत्रवत् याद करना

(b) Labelling and categorization of students base on ability./योग्यता के आधार पर विद्यार्थियों को नामांकित करना तथा वर्गीकरण करना 

(c) Exclusive reliance on text books. केवल पाठ्यपुस्तकों पर निर्भर होना

(d) Giving primacy to children’s experiences. बच्चों के अनुभवों को प्रमुखता देना

Ans. (d) 

व्याख्या- छात्र केन्द्रित शिक्षाशास्त्र में बच्चों के अनुभवों को प्रमुखता दी जाती है। बाल केन्द्रित शिक्षा में बालकों की रुचियों, योग्यताओं, क्षमताओं, मनोवृत्तियों, पूर्व अनुभवों, विचारों आदि को महत्त्व दिया जाता है तथा इसी के अनुसार शिक्षण विधियों, पाठ्यक्रमों और अधिगम परिस्थितियों का निर्माण किया जाता है। जिसमें छात्र सक्रिय सहभागिता के द्वारा अधिगम अनुभव प्राप्त करते हैं।

Q.2 ‘Naive theories’ that children construct about various phenomenon. अनेक घटनाओं के बारे में बच्चों के द्वारा बनाए गए ‘सहजानुभूत सिद्धांतों’ के संदर्भ में एक शिक्षिका को क्या करना चाहिए?

(a) Should be ‘replaced’ by correct one through repetitive memorization / बार-बार याद करने के द्वारा एक सही सिद्धांत से ‘बदल’ देना चाहिए।

(b) Should be challenged by presenting counter evidence and examples./प्रतिकूल प्रमाण एवं उदाहरणों को प्रस्तुत करके बच्चों के इन सिद्धांतों को चुनौती देनी चाहिए।

(c) Should be ignored by the teacher. बच्चों के इन सिद्धांतों को अनदेखा करना चाहिए।

(d) Should be punished by the teacher. बच्चों को दंडित करना चाहिए।

Ans. (b) 

व्याख्या- अनेक घटनाओं के बारे में बच्चों के द्वारा बनाये गये। ‘सहजानुभूत सिद्धांतों के संदर्भ में एक शिक्षिका को प्रतिकूल प्रमाण एवं उदाहरणों को प्रस्तुत करके बच्चों के इन सिद्धांतों को चुनौती देनी चाहिए ताकि उनके पूर्व निर्मित गलत धारणाओं में परिवर्तन व परिमार्जन किया जा सके।

Q.3 Which of the following statements about learning is correct from a constructivist perspective ? संरचनावादी सिद्धांतों के अनुसार अधिगम के बारे में निम्नलिखित कथनों में से कौन सा सही है?

(a) Learning is conditioning of behaviours by repetitive association. / अधिगम आवृत्तीय संबंध के द्वारा व्यवहारों का अनुबंधन है।

Advertisement

(b) Learning is the process of construction of knowledge by active engagements / अधिगम सक्रिय विनियोजन के द्वारा ज्ञान की संरचना की प्रक्रिया है।

(c) Learning is the process of reproduction and recall. /अधिगम पुनरुत्पादन एवं स्मरण की प्रक्रिया है।

(d) Leaning is the process of rote memorization अधिगम यंत्रवत् याद करने की प्रक्रिया है।

Ans. (b) 

व्याख्या- संरचनावादी सिद्धांतों के अनुसार अधिगम सक्रिय विनियोजन के द्वारा ज्ञान की संरचना की प्रक्रिया है अर्थात् अधिगम किसी अनुबंधन द्वारा न होकर बल्कि एक सक्रिय ज्ञान के निर्माण की प्रक्रिया है। संरचनावादी सिद्धांतकारों में स्विस मनोवैज्ञानिक जीन पियाजे तथा रसियन मनोवैज्ञानिक लेव वाइगोत्सकी प्रमुख हैं। इन दोनों सिद्धान्तकारों का मानना है कि ज्ञान अधिगमकर्ता द्वारा सक्रिय रहकर सृजित किया जाता है न कि निष्क्रिय रहकर वातावरण द्वारा प्राप्त किया जाता है।

Q.4 Emotions and cognition are ………… each other. संवेग एवं संज्ञान एक दूसरे से…….. हैं।

(a) Inter-woven with/सन्निहित

(b) Not related to/संबंधित नहीं पूर्णतया अलग

(c) Completely separate from /

(d) Independent of / स्वतंत्र | 

Ans. (a) 

व्याख्या- संवेग एवं संज्ञान एक दूसरे से सन्निहित हैं। सांवेगिक | दशा में व्यक्ति की विचार प्रक्रिया या तो शिथिल हो जाती है अथवा लुप्तप्राय हो जाती है। बुद्धि तथा विवेक एवं चिंतन तथा तर्क प्रक्रिया का उसके व्यवहार पर पूर्ण नियंत्रण नहीं रहता है, वह उचित व | अनुचित का ठीक ढंग से विचार नहीं कर पाता है।

Q.5 In which of the following periods does physical growth and development occur at a rapid pace? निम्नलिखित अवधि में से किसमें शारीरिक वृद्धि एवं विकास तीव्र गति से घटित होता है?

(a) Middle childhood and adolescence मध्य बाल्यावस्था एवं किशोरावस्था

(b) Adolescence and adulthood किशोरावस्था एवं वयस्कता

(c) Infancy and early childhood शैशवावस्था एवं प्रारंभिक बाल्यावस्था

(d) Early childhood and middle childhood प्रारंभिक बाल्यावस्था एवं मध्य बाल्यावस्था

Ans. (c) 

Advertisement

व्याख्या- शैशवावस्था एवं प्रारम्भिक बाल्यावस्था में शारीरिक वृद्धि एवं विकास तीव्र गति से घटित होता है। शैशवावस्था में विशेषकर जन्म से लेकर तीन वर्ष की आयु होने के दौरान शारीरिक विकास की गति अत्यन्त तीव्र रहती है। इसी प्रकार बाल्यवस्था के प्रथम तीन वर्षों के दौरान अर्थात् 6-9 वर्ष की आयु तक शारीरिक विकास अधिक तीव्र गति से होता है। बाद के तीन वर्षों में शारीरिक विकास की गति कुछ धीमी हो जाती है।

Q.6 Presenting students with clear examples and non-examples. विद्यार्थियों को स्पष्ट उदाहरण एवं गैर-उदाहरण देने के क्या परिणाम हैं? 

(a) Causes gaps in their understanding concepts. यह अवधारणाओं की समझ में अभाव पैदा करता है।

(b) Focuses on procedural knowledge rather than conceptual understanding. / यह अवधारणात्मक समझ के बजाय कार्यविधिक/ प्रक्रियात्मक ज्ञान पर ध्यान केंद्रित करता है।

(c) Is an effective way to encourage conceptual change. / अवधारणात्मक परिवर्तनों को प्रोत्साहित करने के लिए यह एक प्रभावशाली तरीका है। 

(d) Leads to confusion in the minds of students. यह विद्यार्थियों के दिमाग में भ्रांतियाँ उत्पन्न करता है।

Ans. (c) 

व्याख्या- विद्यार्थियों के सामने स्पष्ट उदाहरणों एवं गैर उदाहरणों को | प्रस्तुत करने से उनके अवधारणाओं में परिवर्तन व परिमार्जन करने में महत्वपूर्ण सहायता मिलती है। प्रायः यह देखा जाता है कि विद्यार्थी सामाजिक अंतःक्रिया द्वारा कई गलत अवधारणाएं विकसित कर लेते हैं जिसमें सुधार के लिए शिक्षक उनके जीवन से संबन्धित उदाहरणों और गैर उदाहरणों या अनुभवों को प्रस्तुत करते हैं।

Q.7 How can teacher facilitate understanding of complex concepts in children? शिक्षक बच्चों की जटिल अवधारणाओं की समझ को किस प्रकार सहज कर सकते हैं?

(a) By repetitive mechanical drill बार-बार यांत्रिक अभ्यास के द्वारा

(b) By providing opportunities for exploration and discussion / अन्वेषण एवं परिचर्चा के लिए। अवसर उपलब्ध करके।

(c) By delivering a lecture/एक व्याख्यान देकर के। 

(d) By organizing competitive events प्रतियोगितात्मक अवसरों की व्यवस्था करके।

Ans. (b)

व्याख्या- शिक्षक बच्चों की जटिल अवधारणाओं की समझ को | अन्वेषण एवं परिचर्चा के लिए अवसर उपलब्ध कराकर सहज कर सकते हैं। जब बच्चे किसी समस्या का समाधान स्वयं खोजते हैं। | और उस पर परिचर्चा करते हैं तो उस समस्या/विषय की जटिल | अवधारणाओं को स्वतः समझने लगते हैं।

Q.8 A primary school teacher can encourage children to become effective problem solvers by. एक प्राथमिक विद्यालय की अध्यापिका बच्चों को एक प्रभावशाली समस्या समाधानकर्ता बनने के लिए किस प्रकार से प्रोत्साहित कर सकती है?

(a) Dismissing and penalizing ‘incorrect answers’ ‘गलत उत्तरों’ को अस्वीकार करके एवं दंडित करके। (b) Encouraging children to make intuitive guesses and then brainstorming on the same./बच्चों को सहजानुभूत अनुमान लगाने के लिए प्रोत्साहित करके तथा उसी पर आधारित विचार मंथन करके।

(c) Offering materialistic rewards for every small tasks. /प्रत्येक छोटे कार्य के लिए भौतिक पुरस्कार देकर 

Advertisement

(d) Emphasizing only on procedural knowledge केवल प्रक्रियात्मक ज्ञान पर बल/महत्त्व देकर।

Ans. (b) 

व्याख्या- यदि एक प्राथमिक विद्यालय की अध्यापिका बच्चों को एक प्रभावशाली समस्या समाधानकर्ता बनने के लिए प्रोत्साहित करना चाहती है तो उसे बच्चों को सहजानुभूत अनुमान लगाने के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए तथा उसी पर आधारित विचार मंथन के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए क्योंकि प्रगतिशील शिक्षा में बच्चों को सक्रिय समस्या समाधानकर्ता और वैज्ञानिक अन्वेषक माना जाता है जो अपने ज्ञान का निर्माण स्वयं करते हैं इसलिए बच्चों के सामने | ऐसी समस्यात्मक वातावरण का निर्माण करना चाहिए जिसमें उन्हें सक्रिय रूप से समाधान खोजने के अवसर प्राप्त हों।

Q.9 The primary cause of individual variations is वैयक्तिक विभिन्नताओं का प्राथमिक कारण क्या है?

(a) The environmental influences /पर्यावरणीय प्रभाव

(b) The complex interplay between the heredity and the environment. / आनुवंशिकता एवं पर्यावरण के बीच जटिल पारस्परिक क्रिया।

(c) The genetic code received by the individuals from birth parents. / लोगों के द्वारा माता-पिता से प्राप्त आनुवंशिक संकेत पद्धति (कोड) 

(d) The inborn characteristics. / जन्मजात विशेषताएँ

Ans. (b)

 व्याख्या- वैयक्तिक भिन्नताओं का प्राथमिक कारण आनुवंशिकता एवं पर्यावरण के बीच जटिल पारस्परिक क्रिया है। अनेक मनोवैज्ञानिक शोधों ने यह सिद्ध कर दिया है कि अनेक शारीरिक, मानसिक तथा व्यक्तित्व संबंधी विभिन्नताओं के लिए वंशानुक्रम काफी सीमा तक उत्तरदायी होता है। इसी तरह जिस प्रकार के वातावरण में बालक रहता है उसी के अनुरूप उसका शारीरिक, मानसिक, संवेगात्मक तथा चारित्रिक विकास होता है। इन दोनों के पारस्परिक अंतर्क्रिया के कारण ही वैयक्तिक भिन्नता उत्पन्न होती है।

Q.10 Which of the following are examples of secondary socializing agency? निम्नलिखित में से कौन सा द्वितीयक समाजीकरण एजेन्सी का उदाहरण है?

(a) School and media/विद्यालय एवं मीडिया

(b) Media and neighbourhood मीडिया एवं पास-पड़ोस

(c) Family and neighbourhood परिवार एवं पास-पड़ोस 

(d) Family and media/परिवार एवं मीडिया 

Ans. (a) 

व्याख्या- विद्यालय एवं मीडिया समाजीकरण की द्वितीयक एजेन्सी के उदाहरण हैं, जबकि परिवार, परिवार के निकटतम सदस्य, पास पड़ोस, सहचर-समूह आदि समाजीकरण की प्राथमिक एजेन्सियां हैं। | ये सभी मिलकर बालक के सामाजिक विकास में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

इस आर्टिकल में हमने CTET July 2022 CDP Model Questions का अध्ययन किया है, जो कि आगामी सीटेट परीक्षा में पूछे जा सकते हैं सीटेट सहित सभी TET परीक्षाओं की नवीनतम अपडेट प्राप्त करने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल के सदस्य बन सकते हैं जॉइन लिंक नीचे दी गई है।

Advertisement

Advertisement

Leave a Comment