Connect with us

CTET

CTET 2023: परीक्षा में पूछे जाने लगे हैं ‘बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र’ से जुड़े कुछ इस लेबल के सवाल अभी पढ़ें!

Published

on

CTET MCQ on Child Development and Pedagogy
Advertisement

CTET MCQ on Child Development and Pedagogy: सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन साल में दो बार केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा आयोजित करवाता है। इस परीक्षा का आयोजन 28 दिसंबर 2022 से 7 फरवरी 2023 तक देशभर के विभिन्न परीक्षा केंद्रों पर ऑनलाइन मोड में किया जा रहा है। अगर आप की भी परीक्षा आने वाले कुछ दिनों में होने वाली है, तो इस आर्टिकल में दी गई जानकारी आपके लिए बेहद महत्वपूर्ण होने वाली है। यहां पर हम बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र के कुछ ऐसे महत्वपूर्ण सवाल आपके लिए लेकर आए हैं, जो की परीक्षा की दृष्टि से बेहद महत्वपूर्ण है।

बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र से जुड़े परीक्षा में पूछे जाने वाले महत्वपूर्ण प्रश्न—Child Development and Pedagogy Questions and Answers For CTET

Q1. Which of the following principal states that development proceeds directionally from head to foot?/निम्नलिखित में से कौन-सा सिद्धान्त यह दर्शाता है कि विकास दिशात्मक है- सिर से पैरों की ओर ?

A. Cephalo-caudal principal/शीर्षगामी सिद्धांत।

Advertisement

B. Proximo-distal principal/अधोगामी सिद्धांत।

C. Specificity principal/विशिष्टता से संबंधित सिद्धांत।

D. Quantitative change principal/मात्रात्मक परिवर्तन सिद्धांत।

Ans- A 

Q2. As an infant Raghav was deprived of personal affection. In his late childhood he found considerate teachers. Yet, he has issues trusting people and lacks courage to take risks. Which issue of development aptly describes Raghav’s case?/राघव जब शिशु था तब उसे माता-पिता के स्नेह से वंचित रहना पड़ा। बाल्यावस्था के आगे के चरण में उसे बहुत संवेदनशील अध्यापक मिले। फिर भी उसे लोगों पर विश्वास करने में परेशानी होती है और वह जोख़िम लेने का साहस नहीं दिखा पाता। राघव के विषय में विकास का कौन-सा मुद्दा एक़दम स्पष्ट रूप से वर्णित होता है? 

A. Continuity-discontinuity issue/निरन्तरता – अनिरन्तरता का मुद्दा

B. Early-later experiences issue/आरंभिक – बाद के अनुभवों का मुद्दा

C. Nature-nurture issue/प्रकृति – पालन-पोषण का मुद्दा 

D. Uniformity – individuality issue/एकरूपता – वैयक्तिकता का मुद्दा

Ans- B

Q3. The play that facilitates children to understand other’s thoughts, beliefs and feelings is:/वह खेल जो बच्चों को दूसरों के विचारों, विश्वासों, और भावनाओं को समझने में सहायक होता है, क्या कहलाता है?

A. Make believe Play/कल्पनाशीलता वाला खेल

B. Parallel Play/समानांतर खेल

C. Solitary Play/एकांगी खेल

D. Independent Play/स्वतंत्र एकाकी खेल

Advertisement

Ans- A 

Q4. At which stage of moral reasoning in Lawrence Kohlberg’s theory do children believe that rules must be enforced in the same manner for everyone and each individual must obey them as his personal duty?/लॉरेंस कोहलबर्ग के सिद्धांत में नैतिक तर्कणा के किस चरण पर छात्र मान लेते हैं कि प्रत्येक व्यक्ति के लिए नियम एक समान प्रकार से लागू किये जाने चाहिए और प्रत्येक व्यक्ति का निजी कर्त्तव्य है कि वे इनका पालन करें? 

A. Good boy-good girl orientation/अच्छा लड़का – अच्छी लड़की अभिविन्यास

B. Punishment and obedience orientation/दण्ड और आज्ञापालन अभिविन्यास

C. Instrumental purpose orientation/यंत्रीय प्रयोजन अभिविन्यास

D. Social-order maintaining orientation/सामाजिक-क्रम को बनाए रखने का अभिविन्यास

Ans- D

Q5. Pointing out to the level of the lemonade in her taller but thinner glass Sara teases her sister that their father has given her more lemonade. Her sister does not respond since she had seen their father pour the lemonade from her glass to Sara’s and knew that both glasses contained equal amount of lemonade. Given this context, Sara exhibits-/अपने लंबे मगर कम चौड़े गिलास में नींबू पानी के स्तर की ओर इशारा करते हुए सारा अपनी बहन को चिढ़ाती है कि उनके पिताजी नेउसे ज़्यादा नींबू पानी दिया है। उसकी बहन किसी भी तरह की प्रतिक्रिया नहीं देती है, क्योंकि उसने अपने पिता को उसके गिलास से सारा के गिलास में नींबू पानी डालते हुए देखा है और वह जानती है कि दोनों गिलासों में नींबू पानी की मात्रा एक समान है। इस संदर्भ में सारा क्या प्रदर्शित करती है?

A. Centration/केन्द्रीकरण

B. Animation/जीववाद

C. Seriation/क्रमबद्धता

D. Class inclusion/वर्ग समावेशन

Ans- A 

Q6. According to Piaget, during which period of development, does the child begin to use symbols to represent objects and logical reasoning emerges?/पियाजे के अनुसार, विकास के किस काल में बालक वस्तुओं के लिए प्रतीकों का इस्तेमाल करने लगते हैं और तार्किक मानसिक समझ उभरने लगती है?

A. Pre-operational Stage/पूर्व-संक्रियात्मक काल

B. Concrete Operational Stage/मूर्त संक्रियात्मक काल

C. Post-Operational Stage/उत्तर संक्रियात्मक काल

Advertisement

D. Operational Stage/औपचारिक संक्रियात्मक काल

Ans- A 

Q7. Aman is trying to fix the pieces of a puzzle but he is struggling to fit the correct parts at the right places. His mother provides hints and cues, in the form of how, what, why. According to Lev Vygotsky’s theory of learning this strategy of learning will-/अमन एक पहेली के टुकड़ों को ठीक से लगाने की कोशिश कर रहा है, लेकिन वह सही जगह पर सही हिस्सों को फिट करने के लिए संघर्ष करता है। कैसे, क्या, क्यों के रूप में उसकी माँ उसे संकेत प्रदान करती है। लेव वायगोत्स्की के सीखने के सिद्धांत के अनुसार सीखने की यह प्रक्रिया क्या करेगी?

A. Demotivate the child/बच्चे को अप्रेरित करेगी 

B. Make him aggressive/उसे आक्रामक बना देगी

C. Act as a scaffold for learning/अधिगम के लिए पाड़ का काम करेगी

D. Will not help in learning/सीखने में मदद नहीं करेगी

Ans- C

Q8. In Vygotsky’s theory, assisted discovery is aided by -/वायगोत्स्की के सिद्धान्त के अनुसार ‘सहायक खोज’ किस में सहायक है?

A. cognitive conflict./संज्ञानात्मक द्वंद्व

B. peer collaboration./सहपाठी सहयोग

C. pairing of Stimulus-Response./उत्प्रेरक-प्रतिक्रिया सहचर्य

D. reinforcement./पुनर्बलन

Ans- B

Q9. According to Howard Gardner’s theory of multiple intelligences, while of the following terms is applied to the ability to perceive the visual worlds accurately and to perform transformation   on one’s initial perceptions?/हावर्ड गार्डनर के बहुआयामी बुद्धि के सिद्धान्त के अनुसार निम्नलिखित में से किसका प्रयोग, दृष्टिगत जगत को सही तरह से अनुभव करने की योग्यता और अपने आरंभिक अनुभवों में परिवर्तन लाने की योग्यता के लिए किया गया है? 

A. Bodily-kinesthesis intelligence/शारीरिक गतिबोधक बुद्धि

B. Spatial intelligence/स्थानिक बुद्धि

C. Logical- mathematical intelligence/तार्किक गणितीय गणन बुद्धि 

Advertisement

D. Intrapersonal intelligence/अंतः वैयक्तिक बुद्धि

Ans- B 

Q10. Hetal speaks Gujarati at home and is fluent in reading and writing the language. The medium of instruction in her school is Hindi, a language she does not know. As per National Education Policy 2020, what measures must be taken by the school in this situation? /हेतल घर में गुजराती बोलती है और इस भाषा को पढ़ने और लिखने में उसका प्रवाह है। उसके विद्यालय में निर्देश का माध्यम हिन्दी है, वह यह भाषा नहीं जानती है। राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के अनुसार इस स्थिति में विद्यालय को क्या करना चाहिए? 

A. Hetal should be asked to speak only in Hindi at school./हेतल को विद्यालय में सिर्फ़ हिन्दी बोलने के लिए कहना चाहिए।

B. All children should be encouraged to respect each other’s native language to create a culture of multilingualism./बहुभाषावाद की संस्कृति सृजित करने के लिए सभी बच्चों को एक-दूसरे की मातृभाषा का सम्मान करने के लिए कहना चाहिए।

C. Teacher should ask Hetal to forget whatever she learns at home. /अध्यापकों को हेतल से कहना चाहिए कि उसने जो कुछ भी घर में सीखा है, उसे भूल जाए। 

D. Hetal should be shifted to the section where English is the medium for instruction./हेतल को उस अनुभाग में भेज देना चाहिए जिसमें निर्देश का माध्यम अंग्रेजी है।

Ans- B 

Q11. Gender’ is-/जेन्डर –

A. determined at the time of birth./जन्म के समय निर्धारित होता है।

B. predetermined genetic characteristics./आनुवंशिक विशिष्टताओं द्वारा पूर्व निर्धारित होता है।

C. ascribed by social structures./सामाजिक संरचनाओं द्वारा आरोपित होता है।

D. an innate quality./एक आन्तरिक गुण है।

Ans- C 

Q12. Assertion (A): Diverse modes of assessment and education should be used by a teacher./दावा (A) : अध्यापक के द्वारा आकलन और मूल्यांकन के विविध तरीकों का इस्तेमाल किया जाना चाहिए।

Reason (B): The purpose of evaluation is to segregate the well- performing students from the rest of the class./

तर्क (R) : मूल्यांकन का उद्देश्य अच्छा निष्पादन करने वाले विद्यार्थियों को शेष कक्षा से पृथक करना है।

Choose the correct option./सही विकल्प चुनें।

Advertisement

A. Both (A) and (R) are true and (R) is the correct explanation of (A)./(A) और (R) दोनों सही हैं और (R) सही व्याख्या करता है (A) की

B. Both (A) and (R) are true but (R) is not the correct explanation of (A)./(A) और (R) दोनों सही हैं, लेकिन (R) सही व्याख्या नहीं है (A) की ।

C. (A) is true but (R) is false. /(A) सही है, लेकिन (R) गलत है।

D. Both (A) and (R) are false./(A) और (R) दोनों गलत हैं।

Ans- C 

Q13. Which of the following is not a characteristic of a progressive classroom ? /निम्नलिखित में से क्या प्रगतिशील कक्षा की विशेषता नहीं है?

A. Children as active participates/बच्चों की सक्रिय रूप से सहभागिता

B. Flexible grouping/लचीला समूह गठन

C. Mobile teacher/गतिशील अध्यापक

D. Focus on rewards and punishment/दण्ड और पुरस्कार का प्रयोग

Ans- D

Q14. Rashi tried a new method to assess children’s understanding of concepts. She asked them to frame as many questions as possible for the given answer. Her approach to teaching-learning is-/राशि ने बच्चों की अवधारणाओं के प्रति समझ का आकलन करने के लिए एक नई विधि का प्रयोग किया। उसने बच्चों से कहा कि वे एक उत्तर के लिए जितना संभव हो अधिक से अधिक प्रश्न बनाएँ। शिक्षण- अधिगम का यह उपागम –

A. Child-centred/ बाल केन्द्रित है।

B. Textbook-centred/ पाठ्यपुस्तक केन्द्रित है।

C. Didactic/ उपदेशात्मक है।

D. Memorisation focussed/कंठस्थीकरण पर केन्द्रित है।

Ans- A 

Read More:-

Advertisement

CTET 2023: ‘पर्यावरण NCERT’ से जुड़े इस लेवल के प्रश्न पूछे जा सकते हैं अगली शिफ्ट में अभी पढ़ें!

CTET Practice Set: सीटेट परीक्षा को क्वालीफाई करने के लिए ‘हिंदी भाषा’ इन सवालों को एक बार जरूर पढ़ें!

यहाँ हमने आगामी सीटीईटी परीक्षा की तैयारी कर रहे अभ्यर्थीयो के लिए ”बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र” से जुड़े महत्वपूर्ण सवाल (CTET MCQ on Child Development and Pedagogy) विषय के महत्वपूर्ण सवालों का अध्ययन किया है CTET सहित सभी शिक्षक पात्रता परीक्षा की बेहतर तैयारी के लिए आप हारे TELEGRAM CHANNEL के सदस्य जरूर बने Join Link नीचे दी गई है। 

Advertisement

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

CTET

UP Teacher Vacancy 2023: योगी सरकार का तोहफा, 51 हजार शिक्षक भर्ती जल्द, CTET-UPTET क्वालीफाई को मिलेगी एंट्री

Published

on

By

Advertisement

UP Shikshak Bharti 2023 (UPDATED): उत्तर प्रदेश में लंबे समय से शिक्षक भर्ती परीक्षा का इंतजार कर रहे अभ्यर्थियों के लिए अच्छी खबर है. उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा परिषद (UPBEB) जल्द ही शिक्षक के 51 हजार से अधिक रिक्त पदों पर बंपर भर्ती निकालने वाला है. नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक लोकसभा चुनाव से पहले योगी सरकार प्रदेश में  माध्यमिक व राजकीय विद्यालयों में रिक्त शिक्षकों के पदों पर भर्ती करने जा रही है.

इतने पदों पर होगी भर्ती

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक बेसिक शिक्षा विभाग में टीजीटी/ पीजीटी शिक्षकों के लगभग 51 हजार से अधिक पद रिक्त हैं, इसके अलावा राजकीय विद्यालयों में शिक्षकों के 7 हजार 471 पद रिक्त हैं. तो वही बात करें प्रवक्ता तथा सहायक अध्यापकों के पदों कि तो बताया जा रहा है प्रवक्ता के 2115 जबकि सहायक अध्यापक के 5256 पद खाली हैं जिनपर भर्ती की जानी है.

इन उम्मीदवारों को मिलेगी एंट्री

Advertisement

उत्तर प्रदेश के प्राइमरी तथा अपर प्राइमरी सरकारी स्कूलों में शिक्षकों की भर्ती सुपर टेट परीक्षा (SUPER TET) के माध्यम से की जाती है, जिसका आयोजन उत्तर प्रदेश बेसिक एजुकेशन बोर्ड द्वारा किया जाता है. सुपर टेट परीक्षा में केवल वे अभ्यर्थी ही शामिल हो सकते हैं जिन्होंने यूपी टेट परीक्षा (Uttar Pradesh Teacher Eligibility TestUPTET) पास की हो.  बहुत से अभ्यर्थियों के मन में यह सवाल भी रहता है कि क्या सीटेट परीक्षा क्वालीफाई अभ्यर्थी यूपी शिक्षक भर्ती परीक्षा में शामिल हो सकते हैं? 

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश शिक्षक भर्ती परीक्षा यानी सुपर टेट में शामिल होने के लिए उम्मीदवार को किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक डिग्री तथा टीचिंग ट्रेनिंग कोर्स (D.El.Ed, BTC, B.Ed. आदि) पास किया होना चाहिए साथ ही UPBEB द्वारा आयोजित यूपी टेट परीक्षा पास होना जरूरी है. इसके अलावा पेपर -1 के लिए सीटेट पास अभ्यर्थी भी सुपर टेट परीक्षा देने के पात्र होते हैं. 

यदि बात करें आयु सीमा की तो न्यूनतम 21 वर्ष से लेकर अधिकतम 40 वर्ष की आयु वाले अभ्यर्थी सुपर टेट परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं हालांकि उत्तर प्रदेश के मूल निवासी अभ्यर्थियों को कैटेगरी वाइज अधिकतम आयु में छूट का प्रावधान है अधिक जानकारी के लिए आधिकारिक नोटिफिकेशन पढ़ें.

इच्छुक उम्मीदवार आधिकारिक वेबसाइट ctet.nic.in पर जाकर अपना आवेदन सबमिट कर सकते हैं. सीटेट परीक्षा पास करने पर उम्मीदवार सुपर टेट के साथ ही केंद्र सरकार द्वारा संचालित केंद्रीय विद्यालय, नवोदय विद्यालय तथा आर्मी पब्लिक स्कूल आदि में निकलने वाली शिक्षकों की भर्ती में भी शामिल हो सकते हैं.

कब आएगा यूपीटीईटी नोटिफ़िकेशन? (UPTET 2023 Notification Update)

उत्तर प्रदेश में शिक्षक बनने की चाह रखने वाले लाखों अभ्यर्थी उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी यूपीटीईटी के नोटिफिकेशन का इंतजार कर रहे हैं नवीनतम मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यूपीटीईटी परीक्षा का नोटिफिकेशन फ़रवरी 2023 के अंतिम सप्ताह या मार्च के पहले सप्ताह तक जारी किया जा सकता है। नोटिफिकेशन जारी होने के बाद अभ्यर्थी आधिकारिक वेबसाइट updeled.gov.in पर जाकर आवेदन कर पाएंगे.

अधिक जानकारी के लिए अभ्यर्थी लगातार शिक्षा विभाग की वेबसाइट पर विजिट करते रहें बता दें कि यूपीटीईटी परीक्षा में शामिल होने के लिए अभ्यर्थी की उम्र 18 साल या उससे अधिक होनी चाहिए इसके साथ ही बैचलर डिग्री या समकक्ष डिप्लोमा होना जरूरी है।

Read More:

CTET Exam 2023: ‘अल्बर्ट बंडूरा के सिद्धांत’ से जुड़े कुछ ऐसे सवाल ही पूछे जा रहे हैं सीटेट परीक्षा की सभी शिफ्टों में

Advertisement

Continue Reading

CTET

CTET 2023: ‘पक्षियों’ से जुड़े बेहद रोचक सवाल, जो सीटेट की सभी शिफ्ट में पूछे जा रहे हैं!

Published

on

By

EVS MCQ on Birds For CTET
Advertisement

EVS MCQ on Birds For CTET: शिक्षक के रूप में कैरियर बनाने की चाहत लिए लाखों अभ्यर्थी प्रतिवर्ष सीबीएसई के द्वारा संचालित सिटी परीक्षा में शामिल होते हैं। इस वर्ष किस परीक्षा का आयोजन 28 दिसंबर से किया जा रहा है। अगर आप भी इस परीक्षा में शामिल होने जा रहे हैं, तो यहां पर हम आपके लिए पर्यावरण अध्ययन के अंतर्गत पक्षियों पर आधारित परीक्षा में पूछे जाने वाले संभावित प्रश्न लेकर आए हैं। इस टॉपिक से पेपर में एक से दो प्रश्न पूछे जा रहे हैं अभ्यर्थियों को इन प्रश्नों का अध्ययन एक बार अवश्य कर लेना चाहिए।

Read More:- UP Teacher Vacancy 2023: योगी सरकार का तोहफा, 51 हजार शिक्षक भर्ती जल्द, CTET-UPTET क्वालीफाई को मिलेगी एंट्री

CTET Environment MCQ on Birds—पर्यावरण अध्ययन के अंतर्गत पक्षियों पर आधारित परीक्षा में पूछे जाने वाले संभावित प्रश्न

1) किस प्रकार के पक्षी की चोंच मीट को काटने और खाने के काम आती है?

Advertisement

1. तिकोने आकार की चोंच

2. सीधी और पतली चोंच

3. हुक जैसी चोंच

4. लम्बी पतली सुई जैसी चोंच

Ans- 3

2) पक्षियों की एक स्पीशीज (प्रजाति) ऐसी है, जिसका नर पक्षी सुन्दर सुन्दर घोंसले बुनता है। मादा पक्षी उन सभी पोसलों को देखती है। उनमें से वह उसे चुनती है जो उसे सबसे अच्छा लगता है और उसी में अंडे देती है। पक्षियों की इस स्पीशीज का नाम है.

1. कोयल

2. वीवर पक्षी

3. शक्कर खोरा

4. वसंत गौरी

Ans- 2

3) अपनी गर्दन को पीछे तक घुमा सकने वाला पक्षी है.

1. कबूतर 

2. तोता

3. उल्लू 

Advertisement

4. मैना

Ans- 3

4) अपनी गर्दन को झटके से आगे पीछे कर सकने वाला पक्षी है.

1. कबूतर (कपोत)

2. तोता

3. उल्लू

4. मैना

Ans- 4

5) तीन पक्षियों का वह समूह जिसका प्रत्येक सदस्य वस्तुओं को हमारी तुलना में, चार गुना अधिक दूरी स्पष्ट देख सकता है, जो वस्तु हमें दो मीटर की दूरी से दिखाई देती है उसे ही ये पक्षी आठ मीटर दूरी से देख लेते हैं) कौन सा है

1 बाज़, कौआ, कबूतर

2 बाज़, चील, गिद्ध

3 कबूतर, तोता, चील 

4 कोआ, चील, बुलबुल

Ans- 2

6) पक्षियों की उस प्रजाति का नाम क्या है जिसमें नर पक्षी अनेक सुन्दर घोंसले बनाते हैं और मादा पक्षी उनमें से केवल एक घोंसला चुनते हैं और उसमें अण्डे देते हैं? 

1. कलचिड़ी

2. शकरखोरा

3. दर्जिन चिड़िया 

Advertisement

4. बया (वीवर)

Ans- 4

7. उस पक्षी का नाम जिसकी आंखें मानवों की तरह सामने की तरफ होती हैं:

1. चील

2. बाज

3. गिद्ध

4. उल्लू

Ans- 4

8) तीन पक्षियों का वह समूह जिसका प्रत्येक सदस्य वस्तुओं को हमारी तुलना में, चार गुना अधिक दूरी स्पष्ट देख सकता है, जो वस्तु हमें दो मीटर की दूरी से दिखाई देती है उसे ही ये पक्षी आठ मीटर दूरी से देख लेते हैं) कौन सा है

1 बाज़, कौआ, कबूतर

2 बाज़, चील, गिद्ध 

3 कबूतर, तोता, चील 

4 कोआ, चील, बुलबुल

Ans- 2

9) निम्नलिखित में से कौन सा सबसे छोटा प्रवासी पक्षी है जो उत्तरध्रुवीय क्षेत्र से भारत आता है:

1. सीखपर बत्तख (पिनटेल डक)

2. छोटी मतस्यकुररी (ऑस्प्रे) 

3. हंसावर (फ्लेमिंगो) 

Advertisement

4. छोटी जलरंक (स्टिंट)

Ans- 4

10) एक छोटे से पेड़ या झाड़ी की शाखा से लटकने वाला घोंसला बनाने वाला पक्षी है। 

1. सूर्यपक्षी / शक्कर खोरा

2. कौवा 

3. बारबेट / बसंतगौरी

4. भारतीय रॉबिन / कलचिड

Ans- 1

Read More:-

CTET 2023: ‘बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र’ के इस लेवल के सवाल पूछे जा सकते हैं आने वाली शिफ्ट में अभी पढ़ें!

CTET Exam: परीक्षा हॉल में बहुत काम आने वाले हैं ‘हिंदी पेडागॉजी’ के यह प्रश्न!

यहाँ हमने आगामी सीटीईटी परीक्षा की तैयारी कर रहे अभ्यर्थीयो के लिए ”पक्षियों” से जुड़े महत्वपूर्ण सवाल (EVS MCQ on Birds For CTET) विषय के महत्वपूर्ण सवालों का अध्ययन किया है CTET सहित सभी शिक्षक पात्रता परीक्षा की बेहतर तैयारी के लिए आप हारे TELEGRAM CHANNEL के सदस्य जरूर बने Join Link नीचे दी गई है?

Advertisement

Continue Reading

CTET

CTET Exam 2023: ‘अल्बर्ट बंडूरा के सिद्धांत’ से जुड़े कुछ ऐसे सवाल ही पूछे जा रहे हैं सीटेट परीक्षा की सभी शिफ्टों में

Published

on

By

Albert Bandura's Social Learning Theory for CTET AND TET Exams
Advertisement

Albert Bandura Theory Based Questions CTET: केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा का आयोजन सीबीएसई बोर्ड के द्वारा 28 दिसंबर 2022 से किया जा रहा है। परीक्षा वर्तमान समय में जारी है, जो कि 7 फरवरी 2023 तक जारी रहेगी। अगर आप भी इस परीक्षा में शामिल होने वाले हैं, तो यहां पर हम आपके लिए अल्बर्ट बंडूरा के द्वारा दिए गए सिद्धांत पर आधारित परीक्षा में पूछे जाने वाले संभावित प्रश्न लेकर आए हैं। जो कि आपको परीक्षा में बेहद काम आने वाले हैं। विगत शिफ्ट में इस टॉपिक से प्रश्न पूछे जा रहे हैं। ऐसे में आगामी चरण में भी यहां से प्रश्न पूछे जाने की प्रबल संभावना है।

केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा के लिए अल्बर्ट बंडूरा के सिद्धांत से जुड़े महत्वपूर्ण प्रश्न—MCQ on Albert Bandura Social Learning Theory For CTET Exam

1. अल्बर्ट बंडूरा ने प्रयोग किया?

A- कुत्ते पर

Advertisement

B-गुड़िया पर

C-जोकर पर

D-B और C दोनों पर

Ans- D 

2. सामाजिक अधिगम का सिद्धांत किसने दिया?

A- वाइगोत्सकी

B-जीन पियाजे

C- अल्बर्ट बंडूरा

D-कोहलबर्ग

Ans- C 

3. बंडूरा के अनुसार अनुकरण की प्रक्रिया के कितने चरण हैं?

A- पांच

B- सात

C- चार

D-दस

Advertisement

Ans- C 

4. अल्बर्ट बंडूरा ने अपना सिद्धान्त कब दिया?

A-1994

B-1977

C-1897

D-1920

Ans- B 

5. जिस माध्यम से बच्चा अनुकरण के द्वारा सीखता है उसे अल्बर्ट बंडूरा ने क्या कहा?

A-उत्पाद

B-मॉडल

C-स्की मा

D- पुनर्बलन

Ans- B

6. Social Foundations of Thought and Action पुस्तक किसकी है

A- जीन पियाजे

B-अरस्तू

C- अल्बर्ट बंडूरा

D-कोहलबर्ग

Advertisement

Ans- C 

7. …………… के अनुसार, बच्चों के चिंतन के बारे में सामाजिक प्रक्रियाओं तथा सांस्कृतिक संदर्भ के प्रभाव को समझना आवश्यक है।

A-लॉरेंस कोलबर्ग

B-जीन पियाजे

C-लेब वायगोट्स्की

D-अलबर्ट बैन्डुरा

Ans- C 

8. – बच्चों को संकेत देना तथा आवश्यकता पड़ने पर सहयोग प्रदान करना निम्नलिखित में से किसका उदाहरण है?

A-प्रबलन

B-अनुबंधन

C-मॉडलिंग

D-पाड़ (ढाँचा)

Ans- D

9. अल्बर्ट बैन्ड्यूरा के सामाजिक अधिगम सिद्धांत के अनुसार निम्न में से कौन-सा सही है?

A-बच्चों के सीखने के लिए प्रतिरूपण (मॉडलिंग) एक मुख्य तरीका है

B-अनसुलझा संकट बच्चे को नुकसान पहुंचा सकता है

C-संज्ञानात्मक विकास सामाजिक विकास से स्वतंत्र है

D-खेल अनिवार्य है और उसे विद्यालय में प्राथमिकता दी जानी चाहिए

Advertisement

Ans- A 

10. कोहलबर्ग के अनुसार, शिक्षक बच्चों में नैतिक मूल्य का विकास कर सकता है-

A-” कैसे व्यवहार किया जाना चाहिए ” इस पर कठोर निर्देश देकर

B-धार्मिक शिक्षा को महत्त्व देकर

C- व्यवहार के स्पष्ट नियम बनाकर

D-नैतिक मुद्दों पर आधारित चर्चाओं में उन्हें शामिल करके

Ans- D

11. लारिंस कोहलबर्ग विकास के क्षेत्र में शोध के लिए जाने जाते हैं।

A-संज्ञानात्मक

B-शारीरिक

C-नैतिक

D- गामक

Ans- C 

12. कोहलबर्ग के अनुसार सही और गलत प्रश्नों के बारे में निर्णय लेने में शामिल चिंतन प्रक्रिया को कहा जाता है

A-सहयोग की नैतिकता

B-नैतिक तर्कणा

C-नैतिक यथार्थवाद

D-नैतिक दुविधा

Advertisement

Ans- B

13. लॉरेंस कोहलबर्ग के द्वारा प्रस्तावित निम्नलिखित चरणों में से प्राथमिक विद्यालयों के बच्चे किन चरणों का अनुसरण करते हैं?

(1) आज्ञापालन और दंड – – उन्मुखीकरण

(2) वैयक्तिकता और विनिमय

(3) अच्छे अंत : वैयक्तिक संबंध

(4) सामाजिक अनुबंध और व्यक्तिगत अधिकार

A-2 और 1

B-2 और 4

C-1 और 4

D-1 और 3

Ans- A 

14. करनैल सिंह कानूनी कार्यवाही तथा खर्चों के बावजूद आय कर नहीं देते। वे सोचते हैं कि वे एक भ्रष्ट सरकार को समर्थन नहीं दे सकते, जो अनावश्यक बाँधों के निर्माण पर लाखों रुपये खर्च करती हैं । वे संभवतः कोहलबर्ग के नैतिक विकास की किस अवस्था में हैं?

A-परंपरागत

B-पश्च परंपरागत

C-पूर्व परंपरातगत

D-परा-परंपरागत

Ans- B

15. एक शिक्षिका अपनी कक्षा से कहती है, ‘सभी प्रकार के प्रदत्त’ कार्यों का निर्माण इस प्रकार किया गया है कि प्रत्येक विद्यार्थी अधिक प्रभावशाली ढंग से सीख सके, अतः सभी विद्यार्थी बिना किसी अन्य की सहायता से अपना कार्य पूर्ण करें। वह कोहलबर्ग के किस नैतिक विकास के चरण की ओर संकेत दे रही है?

Advertisement

A-पूर्व औपचारिक चरण 2 वैयक्तिकता और विनिमय

B-औपचारिक चरण 4 कानून और व्यवस्था

C-पर – औपचारिक चरण 5 सामाजिक संविदा

D- पूर्व – औपचारिक चरण 1 दंड परिवर्जन

Ans- B

Read More:-

CTET 2023: ‘बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र’ के इस लेवल के सवाल पूछे जा सकते हैं आने वाली शिफ्ट में अभी पढ़ें!

CTET Exam 2023: ‘पर्यावरण’ के इन सवालों को परीक्षा हॉल में जाने से पहले एक बार जरूर पढ़ें!

Advertisement

Continue Reading

Trending