NewsRRB Group D

Railway Group D Exam 2022: परीक्षा देने नहीं पहुँच रहें अभ्यर्थी, 45 फ़ीसदी ने छोड़ी परीक्षा, कट-ऑफ हो सकता है कम

RRB Group D Exam 2022:  रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड (RRB)  द्वारा रेलवे ग्रुप डी के 1.03 लाख पदों की भर्ती हेतु परीक्षा का आयोजन 17 अगस्त से प्रारंभ किया जा चुका है। रेलवे द्वारा साल 2019 में ग्रुप ड़ी के पदों पर भर्ती के लिए आवेदन आमंत्रित किए गए थे जिसमें देश भर के एक करोड़ से अधिक युवाओं ने अपना रेजिस्ट्रेशन कराया था।लगभग 3 साल के लंबे इंतज़ार के बाद अब यह परीक्षा कई चरणों में आयोजित कराई जा रही है। परीक्षा का पहला चरण 25 अगस्त को समाप्त हो गया है तथा दूसरा चरण 26 अगस्त से 8 सितंबर तक चलेगा। तीसरे चरण का नोटिफिकेशन हाल ही में जारी किया गया है जिसके अंतर्गत परीक्षा का फेज 3 परीक्षा 8 सितंबर से 18 सितंबर तक आयोजित कराया जाएगा।  

परीक्षा का पहला चरण सफलतापूर्वक संपन्न किया जा चुका है, जिसमें लगभग 45 फ़ीसदी छात्र अनुपस्थित रहे, नवीनतम प्राप्त आंकड़ों के अनुसार परीक्षा के पहले दिन 38392 छात्रों मे से 19632 छात्रों ने ही परीक्षा के पहले दिन मे अपनी उपस्थिति दी। 

Read More: RRB Group D Exam 2022: रेलवे ग्रुप डी भर्ती बोर्ड परीक्षा के लिए विज्ञान से जुड़े इन सवालों से चेक करें अपनी तैयारी

लगभग 1 लाख पदों पर होगी अभ्यर्थियों की नियुक्ति 

आरआरबी द्वारा रेलवे ग्रुप डी भर्ती परीक्षा का आयोजन ग्रुप डी के 1.03 लाख पदों पर छात्रों की नियुक्ति की जाएगी, जिसमे लेवल 1 के ट्रैक मेंटेनर ग्रेड-IV, टेक्निकल डिपार्टमेंट्स के हेल्पर व असिस्टेंट एवं प्वाइंट्समैन जैसे पद शामिल है। बता दे कि ग्रुप डी के 1 लाख पदों मे भर्ती के लिए देशभर के करीब 1.15 करोड़ उम्मीदवारों ने आवेदन किया है। जिसके अंतर्गत अभ्यर्थियों के मध्य कड़ी प्रतिस्पर्धा रहेगी। 

परीक्षा में शामिल होने वाले छात्रों को मिलेगा यह फायदा

रेलवे ग्रुप ड़ी परीक्षा में बड़ी संख्या में अभ्यर्थी अनुपस्थित रह रहे है, मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इसका मुख्य कारण परीक्षा के आयोजन में हुई 3 साल की देरी है। 12 मार्च 2019 को इस परीक्षा के लिए आवेदन आमंत्रित किए गए थे परंतु परीक्षा के आयोजन में हुई लेटलतीफी के चलते कई बार परीक्षा तिथि को आगे बढ़ा दिया गया। इतने लंबे इंतज़ार के बीच बहुत से युवाओं ने प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी छोड़ चुके है या अन्य नौकरी/व्यवसाय में कार्यरत है।

चूँकि चरण 1 परीक्षा में लगभग 45 फ़ीसदी अभ्यर्थी अनुपस्थित रहे है, एवं आगे भी अभ्यर्थियों की अनुपस्थिति का ये सिलसिला जारी है। गौरतलब है, कि इसका सीधा लाभ परीक्षा में उपस्थित होने वाले अभ्यर्थियों को होगा।

कितना हो सकता है इस वर्ष का कट ऑफ

इसके पहले ग्रुप डी परीक्षा का आयोजन सन 2018 में हुआ था जिसमें लगभग 62 हजार पदों  की नियुक्ति की गई थी। रेलवे बोर्ड हर वर्ष  परीक्षा के लिए अलग-अलग कटऑफ जारी करता है। सन 2018 में आयोजित की गई ग्रुप डी की परीक्षा में सामान्य वर्ग के उम्मीदवारों के लिए कट ऑफ 74.57 मार्क्स, पिछड़ा वर्ग के छात्रों के लिए 69.87 का कटऑफ, एससी श्रेणी के अभ्यर्थियों के लिए 62.92 मार्क्स का कटऑफ तथा एसटी वर्ग के परीक्षार्थियों के लिए 50.12 नंबर के कटऑफ  को निर्धारित किया गया था।

इस वर्ष होने वाली ग्रुप डी की परीक्षा में काफी अधिक परीक्षार्थियों की अनुपस्थिति देखी जा रही है जिससे इस वर्ष का कटऑफ पिछली परीक्षा के कटऑफ के मुकाबले काफी कम हो सकता है। जिसका सीधा लाभ परीक्षा मे सम्मिलित हुए परीक्षार्थियों को मिलेगा।

ये भी पढ़े

RRB Group D Physics: भौतिक विज्ञान से जुड़े महत्वपूर्ण सवाल ग्रुप डी की परीक्षा पूछे जाने की सम्भावना बनी रहेगी

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button