रेल्वे भर्ती बोर्ड पर युवाओ का हल्ला बोल, 3 साल से लटकी NTPC और Group D परीक्षा जल्द कराने की मांग, ट्विटर पर ट्रेंड हुआ #JusticeForRailwayStudents

Advertisement

रेलवे में सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहे लाखों युवाओं का गुस्सा अब रेलवे भर्ती बोर्ड पर फूट पड़ा है वर्ष 2019 में रेलवे द्वारा NTPC तथा Group D के रिक्त पदो पर निकाले पदों पर अभी तक भर्ती नहीं की गई है इसको लेकर देश के लाखों बेरोजगार युवा 1 दिसंबर से ट्विटर पर #JusticeForRailswayStudent मुहिम चला कर डिजिटल प्रोटेस्ट कर रहे हैं टिवीटर पर इस मुहिम के तहत 45 लाख से अधिक ट्वीट किए जा चुके हैं बेरोजगार युवा ट्विटर पर रेलवे भर्ती बोर्ड से मांग कर रहा है कि जल्द से जल्द रेलवे की भर्तियों पर परीक्षा लेकर नौकरी दी जाए। बेरोजगार युवाओं द्वारा ट्विटर पर चलाए जा रहे जस्टिस फॉर रेलवे स्टूडेंट अभियान का समर्थन विभिन्न कोचिंग संस्थाओं द्वारा भी किया जा रहा है।

इन पदो पर होनी है भर्ती परीक्षाए 

दरअसल रेलवे भर्ती बोर्ड द्वारा वर्ष 2019 में एनटीपीसी के 35,208 पदों पर भर्ती के लिए 1 मार्च 2019 को आवेदन आमंत्रित किए गए थे तथा लंबे इंतजार के बाद 28 दिसंबर 2020 से 21 जुलाई 2021 तक 7 फेस में CBT-1 परीक्षा आयोजित की गई थी जिसमें लगभग 12630885 अभ्यर्थी शामिल हुए थे। रेलवे भर्ती बोर्ड  द्वारा अभी तक इसका रिजल्ट जारी नहीं किया गया है CBT1 में पास होने वाले अभ्यर्थी CBT 2 में शामिल होंगे तथा इस प्रकार अंत में मेरिट लिस्ट के आधार पर अभ्यर्थियों का चयन किया जाना है। 

इसके अलावा रेलवे ग्रुप-डी के 1,03,769 पदों पर गेटमैन, हेल्पर, खलासी, ट्रॉलीमैन, ट्रैकमैन, सहायक पॉइंटमैन जैसे पदों पर भर्ती के लिए रेलवे भर्ती बोर्ड ने 12 मार्च से 12 अप्रैल 2019 के बीच आवेदन आमंत्रित किए थे जिसमें करोड़ों की संख्या में बेरोजगार युवाओं ने आवेदन किए थे परंतु रेलवे द्वारा अभी तक परीक्षा तारीखों के संबंध में कोई नोटिफिकेशन जारी नहीं किया गया है, हाल ही मे बोर्ड ने एक अपडेट जारी किया है जिसमे रेलवे भर्ती बोर्ड (आरआरबी) ने उन अभ्यर्थियों को एक और मौका देने का फैसला किया है जिनके आवेदन अमान्य फोटो व सिग्नेचर अपलोड करने संबंधी गलती के चलते खारिज कर दिए गए थे। रेलवे ग्रुप डी भर्ती ( सीईएन आरआरसी  01/2019 लेवल-1 पद) के वह अभ्यर्थी बहुत जल्द अपने आवेदन में फोटो सिग्नेचर संबंधी गलती को सुधार सकेंगे जिनके आवेदन इस वजह से खारिज कर दिए गए थे।

Advertisement

युवाओ का करियर हो रहा है बर्बाद क्या कह रहा है रेल्वे भर्ती बोर्ड

लंबे इंतजार के बाद भी रेल्वे द्वारा परीक्षाए न लिए जाने से लाखो बेरोजगार युवाओ का करियर बर्बादी की कगार पर है 3 साल से परीक्षाओ के आयोजित न होने पर अब युवाओ का सब्र जबाब देने लगा है सालो से प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे युवा अब कह रहे है कि उनके पास अब कोई रास्ता नहीं बचा है रेल्वे परीक्षा तैयारी के चलते वे अब प्राइवेट जॉब या अन्य रोजगार पाने की दौड़ मे बहुत पिछड़ गए है। 

गौरतलब है कि रेलवे भर्ती बोर्ड द्वारा परीक्षा के विलंब होने का कारण कोरोना को बताया जा रहा है इस पर लोगों का कहना है की चुनाव की रैलीयो तथा चुनाव के समय कोरोना संक्रमण को सरकार द्वारा नजरअंदाज कर दिया जाता है जबकि परीक्षाएं आयोजित करने में सरकार कोरोना वायरस का बहाना बना रही है।

ट्विटर पर क्या कह रहे हैं बेरोजगार युवा

इस समय ट्विटर पर लाखों बेरोजगार युवा ट्वीट कर रेल्वे भर्ती बोर्ड से पेपर जल्द कराने की मांग कर रहे हैं इसके अलावा ट्विटर पर सरकार का विरोध कर रहे अभ्यर्थी अलग-अलग प्रकार के मीम बनाकर अपना विरोध जता रहे हैं आइए देखें क्या कह रहे हैं युवा…

रेल्वे भर्ती परीक्षा से जुड़े आपके विचार/ सुझाव नीचे कमेंट करे बता सकते है सभी प्रतियोगी परीक्षा की महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे Social Media Handle को फॉलो जरूर करें-

Advertisement

Leave a Comment