Connect with us

CTET

CTET 2023: CDP से जुड़े कुछ ऐसे सवाल देखने को मिल रहे हैं सीटेट परीक्षा की सभी Shift में, डालें एक नजर! 

Published

on

CTET Child Development and Pedagogy MCQ
Advertisement

CTET Child Development and Pedagogy MCQ: दिसंबर माह की 28 तारीख से शुरू हुई केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा के आयोजन का क्रम वर्तमान में जारी है, जो कि 7 फरवरी 2023 तक जारी रहेगा इस परीक्षा के लिए देशभर से लाखों की संख्या में अभ्यर्थियों ने अपना रजिस्ट्रेशन करवाया है। यदि आप भी इस परीक्षा को देने जा रहे हैं, तो यहां पर हम आपके लिए परीक्षा में पूछे जा रहे हैं नवीनतम परीक्षा परिणाम के आधार पर बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र से जुड़े ऐसे 15 महत्वपूर्ण प्रश्न लेकर आए हैं, जो कि आपको परीक्षा में बेहद काम आने वाले हैं। अभ्यर्थियों को चाहिए कि वह परीक्षा वालों ने जाने से पूर्व इन प्रश्नों को एक बार अवश्य पढ़ ले ताकि अच्छे अंकों के साथ सफलता हासिल की जा सके।

परीक्षा हॉल में जाने से पहले CDP के इन सवालों को पढ़ें—Top 15 Child Development and Pedagogy MCQ For CTET

1. आंगनवाडी को नए पाठ्यक्रमी ढांचे में किस अवस्था में जोड़ गया है/At what stage has Anganwadi been added to the new curriculum framework?

(a) फाउडेशन स्टेज/Foundation stage

Advertisement

(b) प्रेपरेटरी स्टेज/Preparatory Stage

(c) मिडिल स्टेज/Middle stage

(d) सैकण्डरी स्टेज/secondary stage

Ans- a 

2. NEP 2020 में किन बदलाओं को महत्वपूर्ण माना गया है -/What changes have been considered important in NEP 2020

(a) प्री-स्कूल शिक्षा को औपचारिक शिक्षा के अंतर्गत लाया गया है /Pre-school education has been brought under formal education

(b) सैंकण्डरी स्टेज पर बहुअनुशासिक प्रणाली को लाया गया है /Multidisciplinary system has been introduced at the secondary stage

(c) त्रि-भाषा सूत्र को कक्षा-5 तक प्रस्तावित किया गया है/Three-language formula has been proposed up to class-5

(a) a and b

(b) b and c

(c) a and c

(d) All 

Ans- a 

3. SAFAL को विस्तृत रूप में कैसे लिखा जाएगा

How will SAFAL be written in expanded form?

Advertisement

(a) Structured assessment for analyzing learning

(b) structured analysis for assessment as learning

(c) semi assessment for analysis of learning

(d) summative assessment formative assessment in learning

Ans- a

4. NEP 2020 के अनुसार आनुभाविक ज्ञान को बढावा देने की अनुशंसा की गई है जिसके लिए शिक्षक को क्या नहीं करना चाहिए/ According to NEP 2020 it is recommended to promote experiential learning for which teacher should not do

(a) पार्श्व चिंतन को बढ़ावा मिलना चाहिए/ Lateral thinking should be encouraged

(b) वैकल्पिक अवधारणाओं को सम्मान करते हैं उन्हें उसी रूप में स्वीकृत किया जाए /respect alternative concepts and accept them as such

(c) ज्ञान की संरचना में छात्र की सक्रियता को महत्व/the importance of student activity in the construction of knowledge

(d) ज्ञान के निर्माण को बच्चे की विकासात्मक अवस्थाओं के अनुरूप रखा जाए/the construction of knowledge should be tailored to the developmental stages of the child

Ans- b 

5. SAFAL किस पर बल देता है/What SAFAL Emphasizes 

(a) विषय आधारित निष्पादन /Subject related

(b) कोर-कंपीटेन्सींस/core competencies

(c) एम. एल. एल/MLL

(d) अधिगम की प्रक्रिया/ Process of learning

Ans- b 

6. NEP 2020 का उद्देश्य है/NEP 2020 aims at

Advertisement

(a) सार्वभौमिक, समता आधारित, समावेशी शिक्षा/Universal, equity based, inclusive education

(b) गुणवत्ता, मात्रात्मक तथा समानता युक्त शिक्षा/Quality, quantitative and equitable education

(c) समानता, समता आधारित, एकीकृत शिक्षा /Equality, equity based, integrated education

(d) सार्वभौमिक, सुगम्य तकनीकी शिक्षा/universal, accessible technical education

Ans- a 

7. किस राज्य में सबसे पहले ‘बाल वाटिका’ को शुरू किया गया/In which state was the first ‘Bal Vatika’ started?

(a) असम/Assam

(b) उत्तराखंड/Uttarakhand

(c) झारखंड/Jharkhand

(d) कोई नहीं/none

Ans- b 

8. NEP 2020 किस पर बल देती है?/ NEP 2020 calls for

(a) मिश्रित शिक्षा/Blended learning

(b) कंप्यूटर असिस्टेड लर्निंग/ Computer assisted learning

(c) रटना सीखना/ Rote learning 

(d) पेपरलेस/Paperless

Ans- a 

9. किशोरावस्था के संदर्भ में सर्वोच्च जोड़ा कौन सा है -/Which is the topmost pair in terms of adolescence

Advertisement

(a) जीवन दर्शन – समाज सेवा की भवना, सू-समायोजन /Jeevan Darshan- Social service spirit, self-adjustment

(b) समूह का महत्व, दोहराने की प्रवृति, विद्रोह की भावना /Importance of group, tendency to repeat, spirit of rebellion

(c) तार्किक चिंतन, अमूर्त चिंतन, निण्रय शक्ति /Logical thinking, abstract thinking, decision making power

(d) आदर्शवादी, स्व-सम्मान, नकल द्वारा सीखना/Idealistic, self-respecting, learning by imitation

Ans- c 

10. चॉम्स्की ने भाषा के विकास के बारे में क्या तर्क नहीं दिया/What did Chomsky not argue about language development

(a) सार्वभौमिक व्याकरण है।/there is universal grammar

(b) यह आनुवंशिक रूप से वायर्ड है/It is genetically wired

(c) एक सहज मॉड्यूलर भाषा है।/There is an innate modular language

(d) यह प्रबलित सीखने पर आधारित है/It is based on reinforced learning

Ans- d

11. विकास के संदर्भ में कौन सा कथन सही है /Which statement is correct in the context of development

(a) विकास एकल आयामी है/Development is one dimensional

(b) इसे सामान्यतः कद, काठी एवं वजन के संदर्भ में लिया जाता है। /It is generally taken in terms of height, saddle and weight

(c) विकास जन्म के साथ प्रारंभ होता है और समाप्त होता है।/Development begins and ends with birth

(d) विकास ऐतिहासिक दशाओ से प्रभावित होता है/Development is influenced by historical conditions 

Ans- d

12. शुरू में बच्चा अपनी खिलौने वाली गाड़ी को हाथों से धक्का देकर फर्श पर दौड़ता है परंतु धीरे-धीरे वृद्धि और विकास के रूप में बच्चा, चाबी भरकर कार को दौड़ाता है। इस प्रकार की प्रगति है।/In the beginning the child pushes his toy car with his hands and runs on the floor but gradually as the child grows and develops, the child starts the car by filling the keys. this is the kind of progress

Advertisement

(a) सिफेलोकौडाल प्रगति/Cephalocandal

(b) प्रॉविसमोडिस्टेल प्रगति/Proximodistal

(c) अनियमित प्रगति/Irregular development

(d) एकीकरण प्रगति/Integration

Ans-  b

13. राष्ट्रीय शिक्षा नीति (2020) यह प्रस्ताव रखती है कि-/The National Education Policy ( 2020 ) proposes that-

(a) शिक्षकों को द्विभाषिक उपागम को प्रयोग करने के लिए हतोत्साहित किया जाना चाहिए।/Teachers should be discouraged to use bilingual approach.

(b) बहुभाषावाद को बिल्कुल भी बढ़ावा नहीं देना चाहिए।/Multilingualism should not be encouraged at all.

(c) प्राथमिक कक्षाओं के बच्चों को उनके घर की या स्थानीय भाषाओं में पढ़ाया जाना चाहिए।/Children in primary classes should be taught in their home or local languages.

(d) प्राथमिक कक्षाओं में शिक्षा का माध्यम एक तरह की भाषा में ही उपयोग होना चाहिए ।/The medium of instruction in the primary classes should be in one language only 

Ans- c 

14. निम्नलिखित में से कौन-सा पियाजे के सिद्धांत की आलोचना प्रस्तुत करता है?/Which of the following presents a criticism of Piaget’s theory?

(a) पियाजे को यह विश्वास नहीं था कि बच्चे बुद्धिमान होते हैं ।/Piaget did not believe that children are intelligent. 

(b) पियाजे ने पूर्व-संक्रियात्मक अवस्था में बच्चों की क्षमताओं को कमकर आंका था।/Piaget underestimated the abilities of children in the pre- operational stage.

(c) पियाजे ने बच्चों को ज्ञान की सक्रिय संरचना करने वाला नहीं माना था/Piaget did not consider children to be active constructers of knowledge.

(d) पियाजे ने विकास की प्रक्रिया को सतत माना था/Piaget considered the process of development to be continuous

Ans- b

15. लॉरेन्स कोहलबर्ग के अनुसार बच्चों का नैतिक चिंतन बाह्य पुरस्कार और दंड द्वारा किस स्तर में नियंत्रित होता है?/According to Lawrence Kohlberg, to what extent is children’s moral thinking regulated by external rewards and punishments?

Advertisement

(a) पूर्व – पारंपरिक/Pre-Traditional

(b) पारंपरिक/Traditional Post

(c) उत्तर पारंपरिक/Post Traditional

(d) नैतिक संबंधवाद/Moral Relativism

Ans- a 

Read More:-

CTET 2022-2023 NCERT EVS: पर्यावरण अध्ययन के बदलते पैटर्न पर आधारित सीटेट में पूछे जाने वाले सवाल, यहां पढ़िए!

CTET 2023: ‘पर्यावरण अध्ययन’ से जुड़े ऐसे ही सवाल पूछे जाएंगे सीटेट परीक्षा की आने वाली शिफ्ट में अभी पढ़े!

यहाँ हमने आगामी सीटीईटी परीक्षा की तैयारी कर रहे अभ्यर्थीयो के लिए ”बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र” से जुड़े महत्वपूर्ण सवाल (CTET Child Development and Pedagogy MCQ) विषय के महत्वपूर्ण सवालों का अध्ययन किया है CTET सहित सभी शिक्षक पात्रता परीक्षा की बेहतर तैयारी के लिए आप हारे TELEGRAM CHANNEL के सदस्य जरूर बने Join Link नीचे दी गई है?

Advertisement

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

CTET

UP Teacher Vacancy 2023: योगी सरकार का तोहफा, 51 हजार शिक्षक भर्ती जल्द, CTET-UPTET क्वालीफाई को मिलेगी एंट्री

Published

on

By

Advertisement

UP Shikshak Bharti 2023 (UPDATED): उत्तर प्रदेश में लंबे समय से शिक्षक भर्ती परीक्षा का इंतजार कर रहे अभ्यर्थियों के लिए अच्छी खबर है. उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा परिषद (UPBEB) जल्द ही शिक्षक के 51 हजार से अधिक रिक्त पदों पर बंपर भर्ती निकालने वाला है. नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक लोकसभा चुनाव से पहले योगी सरकार प्रदेश में  माध्यमिक व राजकीय विद्यालयों में रिक्त शिक्षकों के पदों पर भर्ती करने जा रही है.

इतने पदों पर होगी भर्ती

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक बेसिक शिक्षा विभाग में टीजीटी/ पीजीटी शिक्षकों के लगभग 51 हजार से अधिक पद रिक्त हैं, इसके अलावा राजकीय विद्यालयों में शिक्षकों के 7 हजार 471 पद रिक्त हैं. तो वही बात करें प्रवक्ता तथा सहायक अध्यापकों के पदों कि तो बताया जा रहा है प्रवक्ता के 2115 जबकि सहायक अध्यापक के 5256 पद खाली हैं जिनपर भर्ती की जानी है.

इन उम्मीदवारों को मिलेगी एंट्री

Advertisement

उत्तर प्रदेश के प्राइमरी तथा अपर प्राइमरी सरकारी स्कूलों में शिक्षकों की भर्ती सुपर टेट परीक्षा (SUPER TET) के माध्यम से की जाती है, जिसका आयोजन उत्तर प्रदेश बेसिक एजुकेशन बोर्ड द्वारा किया जाता है. सुपर टेट परीक्षा में केवल वे अभ्यर्थी ही शामिल हो सकते हैं जिन्होंने यूपी टेट परीक्षा (Uttar Pradesh Teacher Eligibility TestUPTET) पास की हो.  बहुत से अभ्यर्थियों के मन में यह सवाल भी रहता है कि क्या सीटेट परीक्षा क्वालीफाई अभ्यर्थी यूपी शिक्षक भर्ती परीक्षा में शामिल हो सकते हैं? 

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश शिक्षक भर्ती परीक्षा यानी सुपर टेट में शामिल होने के लिए उम्मीदवार को किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक डिग्री तथा टीचिंग ट्रेनिंग कोर्स (D.El.Ed, BTC, B.Ed. आदि) पास किया होना चाहिए साथ ही UPBEB द्वारा आयोजित यूपी टेट परीक्षा पास होना जरूरी है. इसके अलावा पेपर -1 के लिए सीटेट पास अभ्यर्थी भी सुपर टेट परीक्षा देने के पात्र होते हैं. 

यदि बात करें आयु सीमा की तो न्यूनतम 21 वर्ष से लेकर अधिकतम 40 वर्ष की आयु वाले अभ्यर्थी सुपर टेट परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं हालांकि उत्तर प्रदेश के मूल निवासी अभ्यर्थियों को कैटेगरी वाइज अधिकतम आयु में छूट का प्रावधान है अधिक जानकारी के लिए आधिकारिक नोटिफिकेशन पढ़ें.

इच्छुक उम्मीदवार आधिकारिक वेबसाइट ctet.nic.in पर जाकर अपना आवेदन सबमिट कर सकते हैं. सीटेट परीक्षा पास करने पर उम्मीदवार सुपर टेट के साथ ही केंद्र सरकार द्वारा संचालित केंद्रीय विद्यालय, नवोदय विद्यालय तथा आर्मी पब्लिक स्कूल आदि में निकलने वाली शिक्षकों की भर्ती में भी शामिल हो सकते हैं.

कब आएगा यूपीटीईटी नोटिफ़िकेशन? (UPTET 2023 Notification Update)

उत्तर प्रदेश में शिक्षक बनने की चाह रखने वाले लाखों अभ्यर्थी उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी यूपीटीईटी के नोटिफिकेशन का इंतजार कर रहे हैं नवीनतम मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यूपीटीईटी परीक्षा का नोटिफिकेशन फ़रवरी 2023 के अंतिम सप्ताह या मार्च के पहले सप्ताह तक जारी किया जा सकता है। नोटिफिकेशन जारी होने के बाद अभ्यर्थी आधिकारिक वेबसाइट updeled.gov.in पर जाकर आवेदन कर पाएंगे.

अधिक जानकारी के लिए अभ्यर्थी लगातार शिक्षा विभाग की वेबसाइट पर विजिट करते रहें बता दें कि यूपीटीईटी परीक्षा में शामिल होने के लिए अभ्यर्थी की उम्र 18 साल या उससे अधिक होनी चाहिए इसके साथ ही बैचलर डिग्री या समकक्ष डिप्लोमा होना जरूरी है।

Read More:

CTET Exam 2023: ‘अल्बर्ट बंडूरा के सिद्धांत’ से जुड़े कुछ ऐसे सवाल ही पूछे जा रहे हैं सीटेट परीक्षा की सभी शिफ्टों में

Advertisement

Continue Reading

CTET

CTET 2023: ‘पक्षियों’ से जुड़े बेहद रोचक सवाल, जो सीटेट की सभी शिफ्ट में पूछे जा रहे हैं!

Published

on

By

EVS MCQ on Birds For CTET
Advertisement

EVS MCQ on Birds For CTET: शिक्षक के रूप में कैरियर बनाने की चाहत लिए लाखों अभ्यर्थी प्रतिवर्ष सीबीएसई के द्वारा संचालित सिटी परीक्षा में शामिल होते हैं। इस वर्ष किस परीक्षा का आयोजन 28 दिसंबर से किया जा रहा है। अगर आप भी इस परीक्षा में शामिल होने जा रहे हैं, तो यहां पर हम आपके लिए पर्यावरण अध्ययन के अंतर्गत पक्षियों पर आधारित परीक्षा में पूछे जाने वाले संभावित प्रश्न लेकर आए हैं। इस टॉपिक से पेपर में एक से दो प्रश्न पूछे जा रहे हैं अभ्यर्थियों को इन प्रश्नों का अध्ययन एक बार अवश्य कर लेना चाहिए।

Read More:- UP Teacher Vacancy 2023: योगी सरकार का तोहफा, 51 हजार शिक्षक भर्ती जल्द, CTET-UPTET क्वालीफाई को मिलेगी एंट्री

CTET Environment MCQ on Birds—पर्यावरण अध्ययन के अंतर्गत पक्षियों पर आधारित परीक्षा में पूछे जाने वाले संभावित प्रश्न

1) किस प्रकार के पक्षी की चोंच मीट को काटने और खाने के काम आती है?

Advertisement

1. तिकोने आकार की चोंच

2. सीधी और पतली चोंच

3. हुक जैसी चोंच

4. लम्बी पतली सुई जैसी चोंच

Ans- 3

2) पक्षियों की एक स्पीशीज (प्रजाति) ऐसी है, जिसका नर पक्षी सुन्दर सुन्दर घोंसले बुनता है। मादा पक्षी उन सभी पोसलों को देखती है। उनमें से वह उसे चुनती है जो उसे सबसे अच्छा लगता है और उसी में अंडे देती है। पक्षियों की इस स्पीशीज का नाम है.

1. कोयल

2. वीवर पक्षी

3. शक्कर खोरा

4. वसंत गौरी

Ans- 2

3) अपनी गर्दन को पीछे तक घुमा सकने वाला पक्षी है.

1. कबूतर 

2. तोता

3. उल्लू 

Advertisement

4. मैना

Ans- 3

4) अपनी गर्दन को झटके से आगे पीछे कर सकने वाला पक्षी है.

1. कबूतर (कपोत)

2. तोता

3. उल्लू

4. मैना

Ans- 4

5) तीन पक्षियों का वह समूह जिसका प्रत्येक सदस्य वस्तुओं को हमारी तुलना में, चार गुना अधिक दूरी स्पष्ट देख सकता है, जो वस्तु हमें दो मीटर की दूरी से दिखाई देती है उसे ही ये पक्षी आठ मीटर दूरी से देख लेते हैं) कौन सा है

1 बाज़, कौआ, कबूतर

2 बाज़, चील, गिद्ध

3 कबूतर, तोता, चील 

4 कोआ, चील, बुलबुल

Ans- 2

6) पक्षियों की उस प्रजाति का नाम क्या है जिसमें नर पक्षी अनेक सुन्दर घोंसले बनाते हैं और मादा पक्षी उनमें से केवल एक घोंसला चुनते हैं और उसमें अण्डे देते हैं? 

1. कलचिड़ी

2. शकरखोरा

3. दर्जिन चिड़िया 

Advertisement

4. बया (वीवर)

Ans- 4

7. उस पक्षी का नाम जिसकी आंखें मानवों की तरह सामने की तरफ होती हैं:

1. चील

2. बाज

3. गिद्ध

4. उल्लू

Ans- 4

8) तीन पक्षियों का वह समूह जिसका प्रत्येक सदस्य वस्तुओं को हमारी तुलना में, चार गुना अधिक दूरी स्पष्ट देख सकता है, जो वस्तु हमें दो मीटर की दूरी से दिखाई देती है उसे ही ये पक्षी आठ मीटर दूरी से देख लेते हैं) कौन सा है

1 बाज़, कौआ, कबूतर

2 बाज़, चील, गिद्ध 

3 कबूतर, तोता, चील 

4 कोआ, चील, बुलबुल

Ans- 2

9) निम्नलिखित में से कौन सा सबसे छोटा प्रवासी पक्षी है जो उत्तरध्रुवीय क्षेत्र से भारत आता है:

1. सीखपर बत्तख (पिनटेल डक)

2. छोटी मतस्यकुररी (ऑस्प्रे) 

3. हंसावर (फ्लेमिंगो) 

Advertisement

4. छोटी जलरंक (स्टिंट)

Ans- 4

10) एक छोटे से पेड़ या झाड़ी की शाखा से लटकने वाला घोंसला बनाने वाला पक्षी है। 

1. सूर्यपक्षी / शक्कर खोरा

2. कौवा 

3. बारबेट / बसंतगौरी

4. भारतीय रॉबिन / कलचिड

Ans- 1

Read More:-

CTET 2023: ‘बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र’ के इस लेवल के सवाल पूछे जा सकते हैं आने वाली शिफ्ट में अभी पढ़ें!

CTET Exam: परीक्षा हॉल में बहुत काम आने वाले हैं ‘हिंदी पेडागॉजी’ के यह प्रश्न!

यहाँ हमने आगामी सीटीईटी परीक्षा की तैयारी कर रहे अभ्यर्थीयो के लिए ”पक्षियों” से जुड़े महत्वपूर्ण सवाल (EVS MCQ on Birds For CTET) विषय के महत्वपूर्ण सवालों का अध्ययन किया है CTET सहित सभी शिक्षक पात्रता परीक्षा की बेहतर तैयारी के लिए आप हारे TELEGRAM CHANNEL के सदस्य जरूर बने Join Link नीचे दी गई है?

Advertisement

Continue Reading

CTET

CTET Exam 2023: ‘अल्बर्ट बंडूरा के सिद्धांत’ से जुड़े कुछ ऐसे सवाल ही पूछे जा रहे हैं सीटेट परीक्षा की सभी शिफ्टों में

Published

on

By

Albert Bandura's Social Learning Theory for CTET AND TET Exams
Advertisement

Albert Bandura Theory Based Questions CTET: केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा का आयोजन सीबीएसई बोर्ड के द्वारा 28 दिसंबर 2022 से किया जा रहा है। परीक्षा वर्तमान समय में जारी है, जो कि 7 फरवरी 2023 तक जारी रहेगी। अगर आप भी इस परीक्षा में शामिल होने वाले हैं, तो यहां पर हम आपके लिए अल्बर्ट बंडूरा के द्वारा दिए गए सिद्धांत पर आधारित परीक्षा में पूछे जाने वाले संभावित प्रश्न लेकर आए हैं। जो कि आपको परीक्षा में बेहद काम आने वाले हैं। विगत शिफ्ट में इस टॉपिक से प्रश्न पूछे जा रहे हैं। ऐसे में आगामी चरण में भी यहां से प्रश्न पूछे जाने की प्रबल संभावना है।

केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा के लिए अल्बर्ट बंडूरा के सिद्धांत से जुड़े महत्वपूर्ण प्रश्न—MCQ on Albert Bandura Social Learning Theory For CTET Exam

1. अल्बर्ट बंडूरा ने प्रयोग किया?

A- कुत्ते पर

Advertisement

B-गुड़िया पर

C-जोकर पर

D-B और C दोनों पर

Ans- D 

2. सामाजिक अधिगम का सिद्धांत किसने दिया?

A- वाइगोत्सकी

B-जीन पियाजे

C- अल्बर्ट बंडूरा

D-कोहलबर्ग

Ans- C 

3. बंडूरा के अनुसार अनुकरण की प्रक्रिया के कितने चरण हैं?

A- पांच

B- सात

C- चार

D-दस

Advertisement

Ans- C 

4. अल्बर्ट बंडूरा ने अपना सिद्धान्त कब दिया?

A-1994

B-1977

C-1897

D-1920

Ans- B 

5. जिस माध्यम से बच्चा अनुकरण के द्वारा सीखता है उसे अल्बर्ट बंडूरा ने क्या कहा?

A-उत्पाद

B-मॉडल

C-स्की मा

D- पुनर्बलन

Ans- B

6. Social Foundations of Thought and Action पुस्तक किसकी है

A- जीन पियाजे

B-अरस्तू

C- अल्बर्ट बंडूरा

D-कोहलबर्ग

Advertisement

Ans- C 

7. …………… के अनुसार, बच्चों के चिंतन के बारे में सामाजिक प्रक्रियाओं तथा सांस्कृतिक संदर्भ के प्रभाव को समझना आवश्यक है।

A-लॉरेंस कोलबर्ग

B-जीन पियाजे

C-लेब वायगोट्स्की

D-अलबर्ट बैन्डुरा

Ans- C 

8. – बच्चों को संकेत देना तथा आवश्यकता पड़ने पर सहयोग प्रदान करना निम्नलिखित में से किसका उदाहरण है?

A-प्रबलन

B-अनुबंधन

C-मॉडलिंग

D-पाड़ (ढाँचा)

Ans- D

9. अल्बर्ट बैन्ड्यूरा के सामाजिक अधिगम सिद्धांत के अनुसार निम्न में से कौन-सा सही है?

A-बच्चों के सीखने के लिए प्रतिरूपण (मॉडलिंग) एक मुख्य तरीका है

B-अनसुलझा संकट बच्चे को नुकसान पहुंचा सकता है

C-संज्ञानात्मक विकास सामाजिक विकास से स्वतंत्र है

D-खेल अनिवार्य है और उसे विद्यालय में प्राथमिकता दी जानी चाहिए

Advertisement

Ans- A 

10. कोहलबर्ग के अनुसार, शिक्षक बच्चों में नैतिक मूल्य का विकास कर सकता है-

A-” कैसे व्यवहार किया जाना चाहिए ” इस पर कठोर निर्देश देकर

B-धार्मिक शिक्षा को महत्त्व देकर

C- व्यवहार के स्पष्ट नियम बनाकर

D-नैतिक मुद्दों पर आधारित चर्चाओं में उन्हें शामिल करके

Ans- D

11. लारिंस कोहलबर्ग विकास के क्षेत्र में शोध के लिए जाने जाते हैं।

A-संज्ञानात्मक

B-शारीरिक

C-नैतिक

D- गामक

Ans- C 

12. कोहलबर्ग के अनुसार सही और गलत प्रश्नों के बारे में निर्णय लेने में शामिल चिंतन प्रक्रिया को कहा जाता है

A-सहयोग की नैतिकता

B-नैतिक तर्कणा

C-नैतिक यथार्थवाद

D-नैतिक दुविधा

Advertisement

Ans- B

13. लॉरेंस कोहलबर्ग के द्वारा प्रस्तावित निम्नलिखित चरणों में से प्राथमिक विद्यालयों के बच्चे किन चरणों का अनुसरण करते हैं?

(1) आज्ञापालन और दंड – – उन्मुखीकरण

(2) वैयक्तिकता और विनिमय

(3) अच्छे अंत : वैयक्तिक संबंध

(4) सामाजिक अनुबंध और व्यक्तिगत अधिकार

A-2 और 1

B-2 और 4

C-1 और 4

D-1 और 3

Ans- A 

14. करनैल सिंह कानूनी कार्यवाही तथा खर्चों के बावजूद आय कर नहीं देते। वे सोचते हैं कि वे एक भ्रष्ट सरकार को समर्थन नहीं दे सकते, जो अनावश्यक बाँधों के निर्माण पर लाखों रुपये खर्च करती हैं । वे संभवतः कोहलबर्ग के नैतिक विकास की किस अवस्था में हैं?

A-परंपरागत

B-पश्च परंपरागत

C-पूर्व परंपरातगत

D-परा-परंपरागत

Ans- B

15. एक शिक्षिका अपनी कक्षा से कहती है, ‘सभी प्रकार के प्रदत्त’ कार्यों का निर्माण इस प्रकार किया गया है कि प्रत्येक विद्यार्थी अधिक प्रभावशाली ढंग से सीख सके, अतः सभी विद्यार्थी बिना किसी अन्य की सहायता से अपना कार्य पूर्ण करें। वह कोहलबर्ग के किस नैतिक विकास के चरण की ओर संकेत दे रही है?

Advertisement

A-पूर्व औपचारिक चरण 2 वैयक्तिकता और विनिमय

B-औपचारिक चरण 4 कानून और व्यवस्था

C-पर – औपचारिक चरण 5 सामाजिक संविदा

D- पूर्व – औपचारिक चरण 1 दंड परिवर्जन

Ans- B

Read More:-

CTET 2023: ‘बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र’ के इस लेवल के सवाल पूछे जा सकते हैं आने वाली शिफ्ट में अभी पढ़ें!

CTET Exam 2023: ‘पर्यावरण’ के इन सवालों को परीक्षा हॉल में जाने से पहले एक बार जरूर पढ़ें!

Advertisement

Continue Reading

Trending