Connect with us

CTET

CTET SST Expected MCQ: सीटेट परीक्षा में बेहतर परिणाम प्राप्त करने के लिए ‘सामाजिक विज्ञान’ के इन सवालों पर डालें एक नजर

Published

on

CTET SST Practice MCQ
Advertisement

CTET SST Most Expected Questions: केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा का आयोजन सीबीएसई के द्वारा देशभर के विभिन्न परीक्षा केंद्रों पर ऑनलाइन मोड में किया जा रहा है। यदि आप भी शिक्षक बनने की चाह लिए इस परीक्षा में सम्मिलित होने जा रहे हैं, तो आपके लिए यहां पर दी गई जानकारी बेहद महत्वपूर्ण होने वाली है। यहां पर हम सामाजिक विज्ञान के कुछ ऐसे महत्वपूर्ण प्रश्न लेकर आए हैं, जो कि सीटेट परीक्षा की आगामी शिफ्ट में पूछे जा सकते हैं।

सामाजिक विज्ञान के महत्वपूर्ण बहुविकल्पीय प्रश्न एक बार जरूर पढ़ें—SST Important Questions For CTET Exam 2022-23

1. सत्य कथन चुनें -/Choose the correct statement –

1. केरल में चीनाचट्टी नामक बर्तन का इस्तेमाल मछली तलने के लिए किया जाता है।/In Kerala, a vessel called China-Chatti is used for frying fish.. 

Advertisement

2. केरल के मुख्य त्यौहार ओणम में नाव प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है।/ Boat competition is organized at Onam, the main festival of Kerala.

a) Only 1

b) Only 2

c) 1 & 2

d) Neither 1 nor 2

Ans- c 

2. ‘आमार जीबोन’ पुस्तक (आत्मकथा) की लेखिका कौन है?/Who is the writer of the book (Autobiography) ‘Amar Jeebon’?

a) रुकैया सखावत/Rokata Sakhawat

b) रमाबाई/Ramabait

c) रास सन्दरी/ Ras Sundri

d) इनमें से कोई नहीं/ None of these.

Ans- c 

3. निम्न में से कौन सा कथन नागरिक अधिकार आंदोलन के विषय में सत्य है 

Which of the following statements is true about the Civil Rights Movement –

1. इस आंदोलन का आरम्भ अफ्रीकी-अमेरिकी मूल के लोगों के विरुद्ध नस्लीय भेदभाव के कारण हुआ / This movement started because of racial discrimination against people of African-American race.

Advertisement

2. इस आंदोलन का आरम्भ रोसा पार्क्स नामक एक अफ्रीकी अमेरिकी महिला द्वारा किया गया / This movement was started by an African American woman named Rosa Parks.

a) Only 1

b) Only 2

c) 1 & 2

d) Neither 1 nor 2

Ans- c 

4. निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिये -/Consider the following statements- 

1. मौलिक अधिकारों वाले खंड को संविधान की अंतरात्मा भी कहा जाता है।/The section on Fundamental Rights has often been referred to as the ‘conscience’ of the Indian Constitution. 

2. मूल संविधान में 6 मौलिक अधिकार प्रदान किये गए थे।/The original constitution provided 6 fundamental rights.

a) Only statement 1 is true.

b) Only statement 2 is true.

c) Both statements are true.

d) Both statements are false.

Ans- a 

5. सुप्रीम कोर्ट ऑफ़ इण्डिया का पूर्ववर्ती न्यायालय किसे जाता है?/Which of the following was predecessor of Supreme Court of India? 

a) महारानी की अदालत /Queen’s court

b) वायसरॉय की अदालत/ Viceroy’s court

c) फ़ेडरल कोर्ट ऑफ़ इण्डिया/ Federal court of India

Advertisement

d) कोर्ट ऑफ़ फेडरेशन/ Court of federation

Ans- c

6. किस मुकदमें में यह निर्णय दिया गया की “सरकार प्राथमिक स्वास्थ्य की रूपरेखा तैयार करे और आपात स्थितियों में रोगियों के इलाज पे विशेष ध्यान दिया जाए” ?/In which case it was decided that “Government should prepare the primary health framework and special care should be given to the treatment of patients in emergency situations”? 

a) ओल्गा टेलिस बनाम बंबई नगर निगम /Olga Telis vs BMC

b) सुभाष कुमार बनाम बिहार राज्य/Subhash Kumar vs State of Bihar

c) पश्चिम बंग मजदूर समिति बनाम पश्चिम बंगाल राज्य/Paschim Bengal  Mazdoor Samity vs State of West Bengal 

d) केशवानंद भारती बनाम केरल राज्य/ Kesavananda Bharati vs State of Kerala

Ans- c 

7. निम्नलिखित कथनों में से सत्य कथन/कथनों का चयन करें- /Which of the following statement is/are correct?

1. भारत के प्रत्येक राज्य के पास स्वयं का स्वतंत्र उच्च न्यायालय है। /Each state of India have its own Independent High Court. 

2. भारत में सबसे पहले 1862 में कलकता, बॉम्बे और मद्रास में उच्च न्यायालय की स्थापना की गयी। /In India, High Courts were first established at Calcutta, Bombay and Madras in 1862.

a) Only 1.

b) 1 and 2 both 

c) Only 2

d) None of the above

Ans- c 

8. निम्नलिखित कथनों में से सत्य कथन / कथनों का चयन करें- /Consider the following statement-

1. संविधान के अनुच्छेद-22 के अनुसार प्रत्येक व्यक्ति को एक वकील के जरिए अपना बचाव करने का मौलिक अधिकार प्राप्त है।/According to Article 22 of the Constitution, every person has a fundamental Right to be defended by a lawyer.  

Advertisement

2. संविधान के अनुच्छेद- 395 में ऐसे नागरिकों को वकील मुहैया कराने की जिम्मेदारी राज्य को सौंपी गई जो गरीबी या किसी और वजह से वकील नहीं रख सकते।/Article 39A of the Constitution, places a duty up on the state to provide a lawyer to any citizen who is unable to engage one due to poverty or other disability.

a) Only 1

b) Only 2

c) Both 1 and 2

d) Neither 1 nor 2

Ans- c 

9. निम्नलिखित कार्यों में से पटवारी/लेखपाल का उत्तरदायित्व कौन सा है?/Which of the following work is the responsibility of a ‘Patwari’?

a) भूमि मापन और आलेखों को सुरक्षा रखना। /Measuring land and keeping records.

b) सामूहिक संपत्ति का निर्माण और रख-रखाव ।/Construction and maintenance of common property.

c) भूमि विकास के लिए रोजगार योजनाओं को लागू करना। /Executing employment schemes for land development.

d) शिकायतों की जाँच-पड़ताल के द्वारा भूमि संबंधी विवादों को रोकना।/Preventing land disputes by investigating complaints.

Ans- a 

10. निम्न में से सत्य कथन हैं -/Which of the following statements are true?

1. जेम्स मिल स्कॉटलैंड का अर्थशास्त्री और राजनितिक दार्शनिक था। /James Mill was an economist and political philosopher of Scotland.

2. उसने ए हिस्ट्री ऑफ़ ब्रिटिश इंडिया नामक पुस्तक लिखी।/He wrote a book called A History of British India.

3. इस पुस्तक में भारतीय इतिहास को तीन खण्डों में विभाजित किया गया है। /In this book, Indian history is divided into 3 Parts.

a) Only 2

b) 1 & 2 

Advertisement

c) 2 & 3

d) 1,2,3

Ans- d 

11.”लीला तिलकम” का विषय क्या है?/What is the subject of “Lilatilakam”?

a) राजाओं की कहानियाँ/Stories of kings 

b) संस्कृत व्याकरण और काव्यशास्त्र/Sanskrit grammar and poetry

c) नाट्य विधाएँ/Theatrical Genres

d) चिकित्सा/Medicine

Ans- b 

12. अशोक के धम्म का स्वरूप था?/The Nature of Ashoka’s Dhamma was- 

a) एक राजनीतिक फरमान/A Political Declaration 

b) एक तानाशाही सहिंता/A Dictator’s code

c) सामाजिक और नैतिक अवधारणा /Social and Moral concept

d) रक्त और लौह की नीति/Blood and Iron

Ans- c 

13. निम्नलिखित कथनों पर विचार करें-/Consider the following statements.

1. ग्रामभोजक आमतौर पे गाँव का सबसे बड़ा भूस्वामी होता था और इसका पद प्रायः आनुवंशिक होता था/Grambhojaka was usually the largest landowner of the village and its designation was often hereditary. 

2. यह राजा की ओर से कर वसूलने का कार्य करता था।/It served to collect tax on behalf of the king.

Advertisement

a) Only statement 1 is true.

b) Only statement 2 is true.

c) Both statements are true.

d) Both statements are wrong.

Ans-  c 

14. सत्य कथन चुनें-/Choose the correct statement- 

1. खबर लहरिया एक स्थानीय समाचार पत्र है।/Khabar Lahariya is a local newspaper.

2. बुंदेली भाषा का यह समाचार पत्र उत्तर प्रदेश के चित्रकूट नामक जिले से प्रकाशित होता है।/This Bundeli language newspaper is published from a district called Chitrakoot in Uttar Pradesh.

a) Only 1

b) Only 2 

c) 1 & 2

d) Neither 1 nor 2

Ans- c 

15. ‘मुवेन्दार’ है- / ‘Muvendar’ is –

a) एक संगम ग्रंथ/A Sangam Book

b) भूमि मालिक/Honour of land

c) एक व्यापारी संघ/Association of traders

d) तीन राजवंशों का समूह/A group of three Dynasties

Advertisement

Ans- d 

Read More:-

CTET Progressive Education: सीटेट परीक्षा में पूछे जा रहे हैं ‘प्रगतिशील शिक्षा’ से जुड़े एक से दो प्रश्न 

CTET 2023: केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा में पूछे जाने वाले ‘शिक्षक सहायक सामग्री’ पर आधारित 15 महत्वपूर्ण प्रश्न

यहाँ हमने आगामी सीटीईटी परीक्षा की तैयारी कर रहे अभ्यर्थीयो के लिए ”सामाजिक विज्ञान” से जुड़े महत्वपूर्ण सवाल (CTET SST Most Expected Questions) विषय के महत्वपूर्ण सवालों का अध्ययन किया है CTET सहित सभी शिक्षक पात्रता परीक्षा की बेहतर तैयारी के लिए आप हारे TELEGRAM CHANNEL के सदस्य जरूर बने Join Link नीचे दी गई है?

Advertisement

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

CTET

UP Teacher Vacancy 2023: योगी सरकार का तोहफा, 51 हजार शिक्षक भर्ती जल्द, CTET-UPTET क्वालीफाई को मिलेगी एंट्री

Published

on

By

Advertisement

UP Shikshak Bharti 2023 (UPDATED): उत्तर प्रदेश में लंबे समय से शिक्षक भर्ती परीक्षा का इंतजार कर रहे अभ्यर्थियों के लिए अच्छी खबर है. उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा परिषद (UPBEB) जल्द ही शिक्षक के 51 हजार से अधिक रिक्त पदों पर बंपर भर्ती निकालने वाला है. नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक लोकसभा चुनाव से पहले योगी सरकार प्रदेश में  माध्यमिक व राजकीय विद्यालयों में रिक्त शिक्षकों के पदों पर भर्ती करने जा रही है.

इतने पदों पर होगी भर्ती

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक बेसिक शिक्षा विभाग में टीजीटी/ पीजीटी शिक्षकों के लगभग 51 हजार से अधिक पद रिक्त हैं, इसके अलावा राजकीय विद्यालयों में शिक्षकों के 7 हजार 471 पद रिक्त हैं. तो वही बात करें प्रवक्ता तथा सहायक अध्यापकों के पदों कि तो बताया जा रहा है प्रवक्ता के 2115 जबकि सहायक अध्यापक के 5256 पद खाली हैं जिनपर भर्ती की जानी है.

CTET-UPTET पास कर सकेंगें आवेदन

Advertisement

उत्तर प्रदेश के प्राइमरी तथा अपर प्राइमरी सरकारी स्कूलों में शिक्षकों की भर्ती सुपर टेट परीक्षा (SUPER TET) के माध्यम से की जाती है, जिसका आयोजन उत्तर प्रदेश बेसिक एजुकेशन बोर्ड द्वारा किया जाता है. सुपर टेट परीक्षा में केवल वे अभ्यर्थी ही शामिल हो सकते हैं जिन्होंने यूपी टेट परीक्षा (Uttar Pradesh Teacher Eligibility TestUPTET) पास की हो.  बहुत से अभ्यर्थियों के मन में यह सवाल भी रहता है कि क्या सीटेट परीक्षा क्वालीफाई अभ्यर्थी यूपी शिक्षक भर्ती परीक्षा में शामिल हो सकते हैं? 

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश शिक्षक भर्ती परीक्षा यानी सुपर टेट में शामिल होने के लिए उम्मीदवार को किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक डिग्री तथा टीचिंग ट्रेनिंग कोर्स (D.El.Ed, BTC, B.Ed. आदि) पास किया होना चाहिए साथ ही UPBEB द्वारा आयोजित यूपी टेट परीक्षा पास होना जरूरी है. इसके अलावा पेपर -1 के लिए सीटेट पास अभ्यर्थी भी सुपर टेट परीक्षा देने के पात्र होते हैं. 

यदि बात करें आयु सीमा की तो न्यूनतम 21 वर्ष से लेकर अधिकतम 40 वर्ष की आयु वाले अभ्यर्थी सुपर टेट परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं हालांकि उत्तर प्रदेश के मूल निवासी अभ्यर्थियों को कैटेगरी वाइज अधिकतम आयु में छूट का प्रावधान है अधिक जानकारी के लिए आधिकारिक नोटिफिकेशन पढ़ें.

इच्छुक उम्मीदवार आधिकारिक वेबसाइट ctet.nic.in पर जाकर अपना आवेदन सबमिट कर सकते हैं. सीटेट परीक्षा पास करने पर उम्मीदवार सुपर टेट के साथ ही केंद्र सरकार द्वारा संचालित केंद्रीय विद्यालय, नवोदय विद्यालय तथा आर्मी पब्लिक स्कूल आदि में निकलने वाली शिक्षकों की भर्ती में भी शामिल हो सकते हैं.

कब आएगा यूपीटीईटी नोटिफ़िकेशन? (UPTET 2023 Notification Update)

उत्तर प्रदेश में शिक्षक बनने की चाह रखने वाले लाखों अभ्यर्थी उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी यूपीटीईटी के नोटिफिकेशन का इंतजार कर रहे हैं नवीनतम मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यूपीटीईटी परीक्षा का नोटिफिकेशन फ़रवरी 2023 के अंतिम सप्ताह या मार्च के पहले सप्ताह तक जारी किया जा सकता है। नोटिफिकेशन जारी होने के बाद अभ्यर्थी आधिकारिक वेबसाइट updeled.gov.in पर जाकर आवेदन कर पाएंगे. जिसके बाद अप्रैल महीने में ऑनलाइन मोड में UPTET परीक्षा आयोजित की जाएगी.

अधिक जानकारी के लिए अभ्यर्थी लगातार शिक्षा विभाग की वेबसाइट पर विजिट करते रहें बता दें कि यूपीटीईटी परीक्षा में शामिल होने के लिए अभ्यर्थी की उम्र 18 साल या उससे अधिक होनी चाहिए इसके साथ ही बैचलर डिग्री या समकक्ष डिप्लोमा होना जरूरी है।

Read More:

CTET Exam 2023: ‘अल्बर्ट बंडूरा के सिद्धांत’ से जुड़े कुछ ऐसे सवाल ही पूछे जा रहे हैं सीटेट परीक्षा की सभी शिफ्टों में

Advertisement

Continue Reading

CTET

CTET Answer Key 2023: शिक्षक पात्रता परीक्षा की आंसर की करें डाउनलोड, जानें कब तक आयेगा परीक्षा परिणाम 

Published

on

By

Advertisement

CTET Answer Key 2023: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड याने CBSE द्वारा आयोजित की जाने वाली CTET परीक्षा आज 7 फ़रवरी को पूरी हो चुकी है, यह परीक्षा 28 दिसंबर अग़ल-अलग दिन दो शिफ्ट में आयोजित की जा रही है जिसमें शिक्षक बनने की चाह रखने वाले लाखों अभ्यर्थी शामिल हुए है। अब परीक्षा की समाप्ति के बाद अभ्यर्थी अपनी आंसर की जारी होने का इंतज़ार कर रहे है, बता दें कि परीक्षा समाप्ति के कुछ दिन के भीतर ही CBSE द्वारा आंसर की जारी कर दी जाती है।

इस दिन जारी होगी आंसर की 

CTET परीक्षा में शामिल हुए अभ्यर्थियों का इंतज़ार जल्द ही ख़त्म होने वाला है मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक़ CBSE द्वारा 11 फ़रवरी 2023 को आधिकारिक वेबसाइट ctet.nic.in पर CTET पेपर 1 तथा पेपर 2 की आंसर की जारी कर दी जाएगी। इसके बाद मार्च माह में फाइनल आंसर-की तथा परीक्षा परिणाम जारी किया जा सकता है।

बता दें आंसर की लिंक ऐक्टिव होने के बाद उम्मीदवार अपने रजिस्ट्रेशन नंबर तथा जन्म तारीख़ की सहायता से आधिकारिक वेबसाइट पर लॉगिन कर अपनी उत्तर कुंजी डाउनलोड कर पाएँगें।

Advertisement

परीक्षा में लागू होगा नॉर्मलिज़ेशन

सीबीएसई द्वारा दिसंबर 2021 में पहली बार CTET परीक्षा ऑनलाइन आयोजित की गई थी, तथा इस बार भी यह परीक्षा ऑनलाइन ही आयोजित हुई है। चुकी परीक्षा का आयोजन अलग- अगल दिन कई शिफ़्टों में किया गया है लिहाज़ा परीक्षार्थियों के मध्य समान प्रतिस्पर्द्धा क़ायम रखने के लिए नॉर्मलिज़ेशन व्यवस्था को लागू किया गया है। बता दें कि परीक्षा में नॉर्मलिज़ेशन होने की जानकारी CBSE द्वारा नोटिफिकेशन जारी कर पहले ही दे दी गई थी। 

CTET Exam Cut Off 2023

सीटीएटी परीक्षा में कैटेगरी वाइज कटऑफ़ निर्धारित किया गया है। पेपर 1 तथा पेपर 2 के लिए कट ऑफ अंक समान है। सामान्य वर्ग के अभ्यर्थी को इस परीक्षा में पास होने के लिए 60 प्रतिशत अंक याने 150 नंबर के पेपर में 90 अंक लाना होगा, जबकि आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों को 55 प्रतिशत अंक यानें 150 अंक के पेपर में 82 अंक लाना होगा।

CategoryMinimum qualifying percentageMinimum qualifying Marks
Schedule Caste (SC)55%82 out of 150
Schedule Tribe (ST)55%82 out of 150

CTET Exam 2023 Important FAQs

क्या सीटीईटी परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग होती है?

नहीं, CBSE द्वारा आयोजित सीटीईटी परीक्षा में किसी भी प्रकार की नकारात्मक मार्किंग नहीं की जाती है।

सीटीईटी सर्टिफिकेट की वैद्यता कितने वर्ष होती है?

आजीवन, CTET परीक्षा पास करने वालों अभ्यर्थियों को मिलने वाले सर्टिफिकेट की वैद्यता लाइफ टाइम कर दी गई है जो पहले 7 वर्ष थी।

सीटीईटी परीक्षा में शामिल होने के लिए आयु सीमा क्या है?

इस परीक्षा में शामिल होने के लिए अधिकतम उम्र सीमा निर्धारत नहीं है, हालाकि न्यूनतम आयु 18 वर्ष होना चाहिए।

सीटीईटी परीक्षा कितने बार दे सकते है?

उम्मीदवार जीतने बार चाहे उतने बार सीटीईटी परीक्षा में शामिल हो सकते है, जो अभ्यर्थी इस परीक्षा में पास हो चुके है वे अपने स्कोर को सुधार के लिए दुबारा परीक्षा दे सकते है।

Advertisement

Continue Reading

CTET

CTET 2022-23: लेव वाइगोत्सकी के सिद्धांत से परीक्षा में पूछे जा रहे है ये सवाल, अभी पढ़ें

Published

on

Lev Vygotsky's Theories Based MCQ For CTET
Advertisement

Lev Vygotsky’s Theories Based MCQ For CTET: शिक्षक बनने के लिए जरूरी सीटेट यानी केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा का आयोजन 7 फरवरी 2023 तक ऑनलाइन सीबीटी मोड में किया  जा रहा है.  यह परीक्षा 29 दिसंबर 2023 से शुरू हुई थी तथा अब 3, 4, 6  तथा 7 फरवरी को परीक्षा का आयोजन होना बाकी है.  यदि आप भी आगामी सीटेट परीक्षा में शामिल होने जा रहे हैं तो इस आर्टिकल में दी गई जानकारी आपके लिए बेहद महत्वपूर्ण हैं.

यहां पर हम नियमित रूप से सीटेट परीक्षा के लिए प्रैक्टिस सेट शेयर करते रहे हैं। इसी श्रृंखला में आज हम लेव वाइगोत्सकी के सिद्धांत पर आधारित कुछ ऐसे सवाल लेकर आए हैं, जो की परीक्षा में पूछे जा सकते हैं। तो लिए जाने इन महत्वपूर्ण सवालों को जो की इस प्रकार हैं।

Read More: CTET 2023: हर शिफ्ट में पूछे जा रहे है ‘जीन पियाजे’ के सिध्दांत से ये सवाल, इन्हें पढ़ कर पक्के करे नंबर

Advertisement

 लेव वाइगोत्सकी के सिद्धांत से जुड़े संभावित प्रश्न—CTET Exam Lev Vygotsky’s Theories Related Questions

1. लेव वाइगोत्स्की के अनुसार, निम्न में से किसके लिए “समीपस्थ विकास क्षेत्र” का इस्तेमाल करना चाहिए?

1. अध्यापन और मूल्याँकन

2. केवल अध्यापन

3. केवल मूल्यांकन

4. प्रवाही बौद्धिकता की पहचान

Ans- 1 

2. एक विशिष्ट संप्रत्यय को पढ़ाने हेतु एक अध्यापिका बच्चे को आधा हल किया हुआ उदाहरण देती है। लेव वायगोत्सकी के अनुसार अध्यापिका किस रणनीति का इस्तेमाल कर रही है?

1. अवलोकन अधिगम

2. पाड़

3. द्वंद्वात्मक अधिगम

4. अनुकूलन

Ans- 2 

3. ‘समीपस्थ विकास के क्षेत्र का संप्रत्यय किसने प्रतिपादित किया है?

1. जेरोम ब्रूनर

2. डेविड ऑसबेल

Advertisement

3. रोबर्ट एम. गायने

4 लेव व्यागोत्सकी

Ans- 4

4. रश्मि अपनी कक्षा में विद्यार्थियों के सीखने की क्षमता को ध्यान में रखकर विभिन्न प्रकार के कार्यकलापों का उपयोग करती है और सहपाठियों द्वारा अधिगम को बढ़ावा देने के लिए समूह भी बनाती है। निम्नलिखित में से कौन-सा इसका समर्थन करता है?

1. सिग्मंड फ्रॉयड का मनो यौनिक सिद्धांत

2. लेव वायगोत्सकी का सामाजिक सांस्कृतिक सिद्धांत

3. लॉरेंस कोहलबर्ग का नैतिक विकास का सिद्धांत

4. बी. एफ. स्किनर का व्यवहारवादी सिद्धांत

Ans- 2 

5. वायोगात्सकी के सिद्धांत के अनुसार ‘निजी संवाद’ 

1. बच्चों के आत्मकेंद्रीयता का घोतक है।

2. बच्चों के क्रियाकलापों और व्यवहार का अवरोधक है।

3. जटिल कार्य करते समय बच्चे को उसके व्यवहार संचालन में सहायता देता है।

4. यह संकेत देता है कि संज्ञान कभी भी आंतरिक नहीं होता।

Ans- 3 

6. कौन सा कथन लेव व्यागोत्सकी के मूल सिद्धांत को सही मायने में दर्शाता है?

1. अधिगम एक अन्तमन प्रक्रिया है।

2. अधिगम एक सामाजिक क्रिया है।

Advertisement

3. अधिगम उत्पतिमूलक क्रमादेश है। 

4. अधिगम एक अक्रमबद्ध प्रक्रिया है जिसके चार चरण है।

Ans- 2 

7. इनमें से कौन-सा अध्यापक द्वारा पाड़ का उदाहरण नहीं है?

1. अनुकरण के लिए कौशलों का प्रदर्शन करना

2. रटना

3. इशारे एवं संकेत

4. सहपाठियों संग साझा शिक्षण

Ans- 2 

8. लेव वायगोत्सकी के संज्ञानात्मक विकास के सिद्धांत को ……….. कहा जाता है क्योंकि वे तर्क देते हैं कि बच्चों का सीखना संदर्भ में होता है।

1. मनोगतिशील

2. मनोलैंगिक

3. सामाजिक सांस्कृतिक

4. व्यवहारात्मक

Ans- 3 

9. जब कोई अध्यापिका किसी विद्यार्थी को उसके विकास के निकटस्थ क्षेत्र पर पहुंचाने के लिए सहायता को उसके निष्पादन के वर्तमान स्तर के अनुरूप है, तो अध्यापिका किस नीति का प्रयोग कर रही है। कर रही है।

1. सहयोगात्मक अधिगम का प्रयोग

2. अंतर पक्षता का प्रदर्शन

Advertisement

3. पाड़

4. विद्यार्थी में संज्ञानात्मक द्वंद पैदा करना

Ans- 3

10. लेव वायगोत्सकी द्वारा दिए बच्चों के विकास का सिद्धांत किस पर आधारित है ?

1. भाषा और संस्कृति

2. भाषा और परिपक्वता

3. भाषा और भौतिक जगत

4. परिपक्वता और संस्कृति

Ans- 1

11.समीपस्थ विकास के क्षेत्र’ की संरचना किसने प्रतिपादित की थी?

1. लॉरेंस कोहल

2. लेव वायगोत्स्की

3. ज़ोरोंन ब्रूनर

4. जीन पियाजे

Ans- 2 

12. निम्न में से कौन-सा कथन बच्चों के संज्ञानात्मक विकास के विषय में जीन पियाजे और लेव वायगोत्सकी के विचारों के बीच मुख्य अंतर दर्शाता है?

1. पियाजे बच्चों के स्वतंत्र प्रयासों द्वारा जगत को अनुभव करने पर जोर देते हैं, जबकि वायगोत्स्की संज्ञानात्मक विकास को सामाजिक मध्यस्थ प्रक्रिया के रूप में देखते हैं। 

2. पियाजे बच्चों को सक्रिय स्वतंत्र जीव के रूप में देखते हैं, जबकि वायगोत्स्की उन्हें मुख्यतः वातावरण द्वारा नियंत्रित जीव के रूप में देखते हैं।

Advertisement

3. पियाजे भाषा को बच्चों के संज्ञानात्मक विकास के लिए महत्वपूर्ण मानते हैं, जबकि विकास पर बल देते हैं।

4. पियाजे के अनुसार बच्चे अपने मार्गदर्शन के लिए स्वयं से बात कर सकते हैं, जबकि वायगोत्सकी के लिए बच्चों की बात आत्मकेन्द्रीयता का द्योतक है।

Ans- 1 

13. एक अध्यापिका शिक्षण-अधिगम प्रक्रिया में विद्यार्थियों को सहपाठियों से अंतः क्रिया कराकर एवं सहारा देकर अध्यापन करती है। यह शिक्षण अधिगम की प्रक्रिया किस पर आधारित है ?

1. लॉरेंस कोहलबर्ग के नैतिक विकास सिद्धांत पर 

2. जीन पियाजे के संज्ञानात्मक विकास सिद्धांत पर

3. लेव वायगोत्स्की के सामाजिक-सांस्कृतिक सिद्धांत पर

4. हावर्ड गार्डनर के बहुआयामी बुद्धि सिद्धांत पर

Ans- 3 

14. वायगोत्स्की के सिद्धान्त के अनुसार ‘सहायक खोज’ किस में सहायक है।

1. संज्ञानात्मक द्वंद्व

2. उत्प्रेरक-प्रतिक्रिया सहचर्य

3. पुनर्बलन

4. सहपाठी- सहयोग

Ans- 4 

15. कक्षा में विद्यार्थियों को त्यौहारों को मनाने के अपने अनुभवों को साझा करने के देना और उसके आधार पर सूचना निर्मित करने को बढ़ावा देना किसका उदाहरण है। ?

1. व्यवहारवाद

2. पाठ्यपुस्तक आधारित अध्यापन

Advertisement

3. सामाजिक संरचनावाद

4. प्रत्यक्ष निर्देशन

Ans- 3

ये भी पढे:-

CTET 2022: सीटेट परीक्षा के लिए बुद्धि परीक्षण पर आधारित इन सवालों से करे अपनी अंतिम तैयारी!

CTET 2022: हिन्दी भाषा शिक्षण के इन सवालों से करे अपनी बेहतर तैयारी

Advertisement

Continue Reading

Trending