CTET

CTET 2022: सीटेट में अच्छे अंक दिलाएंगे, संस्कृत पेडागोजी के यह महत्वपूर्ण सवाल

Advertisement

Sanskrit Pedagogy Practice Set For CTET: सीटेट परीक्षा में आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों को अपनी तैयारियां एक रणनीति बनाकर अभी से शुरू कर देना चाहिए ताकि परीक्षा में अच्छे अंकों के साथ सफलता अर्जित की जा सके देखा जाए तो केवल 40 दिनों की बाद परीक्षा आयोजित की जानी है। दिसंबर से होने वाली सीटेट परीक्षा के लिए आवेदन की प्रक्रिया सीबीएसई के द्वारा प्रारंभ की जा चुकी है, जो कि 31 अक्टूबर से 24 नवंबर 2022 तक निर्धारित की गई है अतः इच्छुक व योग्य अभ्यर्थी निर्धारित अंतिम तिथि से पूर्व अपना आवेदन शीघ्र ही करवा ले। अगर आप भी शिक्षण के क्षेत्र में अपना करियर बनाने हेतु सीटेट परीक्षा के लिए तैयारी कर रहे हैं, तो इस लेख में दी गई जानकारी आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण है। 

आज के इस आर्टिकल में हम सिटी परीक्षा में सबसे अधिक पूछे जाने वाले संस्कृत पेडगॉजी के महत्वपूर्ण प्रश्नों का संग्रह आपके साथ साझा करने जा रहे हैं, जिनका अभ्यास आपको एक बार अवश्य करना चाहिए।

संस्कृत भाषा शिक्षण पर आधारित संभावित प्रश्नोत्तरी, यहां पढ़िए—Sanskrit pedagogy question for CTET exam 2022

1. प्रारम्भिक स्तर पर किस शिक्षण सूत्र से पढ़ाना चाहिए ? 

Advertisement

(a) अनुभव से तर्क की ओर

(b) ज्ञात से अज्ञात की ओर

(c) सरल से कठिन की ओर

(d) पूर्ण से अंश की ओर

Ans- c 

2. शिक्षणसूत्राणां प्रयोगेण शिक्षणं भवति –

(a) अरुचिकरम्

(b) अपठनीयम्

(c) शक्तिशाली

(d) प्रभावशाली

Ans- d 

3. किं शिक्षणसूत्रशुद्धम् ?

(a) ज्ञातादज्ञातं प्रति

(b) अंशात् पूर्ण प्रति

(c) सामन्याद्विशिष्टं प्रति

Advertisement

(d) तर्कादनुभवं प्रति

Ans- d 

4. शिक्षण का सामान्य सिद्धान्त नही है –

(a) लिंग भेद का सिद्धान्त

(b) रुचि का सिद्धान्त

(c) क्रियाशीलता का सिद्धान्त 

(d) अभिप्रेरणा का सिद्धान्त

Ans- d 

5. अधिगमसाधनं नास्ति –

(a) आकाशवाणी

(b) पुस्तकम्

(c) फलम्

(d) दूरदर्शनम्

Ans- c 

6. किं शिक्षणसूत्रम् अशुद्धम् ?

(a) प्रत्याक्षदप्रत्यक्षं प्रति

(b) सरलात कठिनं प्रति

(c) मूर्तादमूर्तं प्रति

Advertisement

(d) संश्लेषणात् विश्लेषणं प्रति

Ans- d 

7. शिक्षण का सिद्धान्त नही है ?

(a) लिंग भेद का सिद्धान्त

(b) रुचि का सिद्धान्त

(c) प्रेरणा का सिद्धान्त

(d) क्रियाशीलता का सिद्धान्त

Ans- a 

8. संस्कृत शिक्षणस्य प्रमुखा समस्या का ?

(a) भेदभावपूर्ण शिक्षणम्

(b) संसाधनानाम्

(c) दोषपूर्ण पद्धति

(d) अशिक्षा

Ans- c 

9. भाषाधिगमस्य अवयवाः कति ?

(a) चत्वारः

(b) द्वो 

(c) त्रय:

Advertisement

(d) एक:

Ans- a 

10. शिक्षण-अधिगमप्रक्रिया मुख्यरुपेण कस्योपरि निर्भरास्ति ?

(a) क्रीडायाम्

(b) पाठयक्रमे

(c) बालके

(d) शिक्षके

Ans- c 

11. निदानस्य अर्थमस्ति-अधिगमविषयकं काठिन्यं दोषान् च दूरीकरणम  इति परिभाषा अस्ति –

(a) सिम्पसन महोदयस्य

(b) ब्राफी महोदयस्य

(c) मरसेल महोदयस्य

(d) सी वी गुड महोदयस्य

Ans- d

12. ब्लूमः कस्य शिक्षण आव्यूहस्य विकासम् अकरोत् ?

(a) व्यक्तिगत अनुदेशस्य 

(b) ऐतिहासिकखोजविधिः

(c) टोलीशिक्षणस्य

Advertisement

(d) स्वामित्व अधिगम आव्यूहस्य

Ans- d 

13. मूल्यांकने चतुर्णां कौशलानां परीक्षार्थ का परीक्षा भवति ? 

(a) मौखिक लिखित परीक्षा च

(b) मौखिकलिखित भाषित परीक्षा च

(c) व्यायामपरीक्षा

(d) क्रीडापरीक्षा

Ans-  a 

14. अधिगमः कथ्यते –

(a) अनुभवैः एवम् प्रशिक्षणेन व्यवहारे परिवर्तनम् 

(b) परिपक्वता द्वारा व्यवहारे परिवर्तनम्

(c) व्यवहारे प्रत्येकम् परिवर्तनम्

(d) एते सर्वे

Ans- d

15. अन्वेषणप्रधानप्रश्नकौशलस्य घटकः नास्ति ?

(a) अनुबोधन क्रिया 

(b) पुनः अनुदेशन प्रविधिः

(c) अन्तर क्रिया शैली परिवर्तन 

Advertisement

(d) पुनर्केन्द्रण प्रविधिः

Ans– d 

Read More:

CTET Sanskrit Pedagogy Model MCQ: ‘संस्कृत पेडागोजी’ के इस प्रैक्टिस सेट से चेक करें अपनी तैयारी

CTET Exam 2022 Sanskrit Pedagogy MCQ: दिसम्बर मे होगी सीटेट की परीक्षा, संस्कृत पेडगॉजी के इन सवालों से करे परीक्षा की पक्की तैयारी

इस आर्टिकल में आगामी सीटेट परीक्षा के लिए संस्कृत (Sanskrit Pedagogy Practice Set For CTET) से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण सवालों को शेयर किया है इसी तरह के प्रैक्टिस सेट पेपर और सीटेट की नवीनतम अपडेट हासिल करने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल के सदस्य जरूर बने,  जॉइन लिंक नीचे दी गई है

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button