Connect with us

CTET

CTET SST Pedagogy: ‘SST पेडागॉजी’ पर आधारित ऐसे प्रश्न जो सीटेट परीक्षा में पूछे जा सकते है!

Published

on

Advertisement

SST Pedagogy Practice MCQ CTET: शिक्षक के रूप में कैरियर बनाने के लिए लाखों अभ्यर्थी हर वर्ष सीटेट परीक्षा में शामिल होते है । इस परीक्षा का आयोजन साल में दो बार सीबीएसई के द्वारा किया जाता है। वर्तमान समय में परीक्षा का आयोजन 28 दिसंबर 2022 से किया जा रहा है, जो कि 7 फरवरी 2023 तक जारी रहेगा। यदि आप की भी परीक्षा आने वाली इन दिनों में होने वाली है तो इस आर्टिकल में हम आपके लिए सामाजिक विज्ञान पेडागॉजी पर आधारित प्रैक्टिस सेट शेयर कर रहे है। जिसका अभ्यास आपको परीक्षा में बेहतर परिणाम दिलाने में मदद करेगा।

परीक्षा में शामिल होने से पहले सामाजिक विज्ञान शिक्षण शास्त्र के इन प्रश्नों को जरूर पढ़ें—CTET Exam SST Pedagogy objective Type Questions

1. Maps, coins and time-lines are most suitable for teaching ————— .

मानचित्र, सिक्के एवं समयरेखा ————– शिक्षण के लिए सबसे अधिक उपयुक्त हैं।

Advertisement

(a) Economics / अर्थशास्त्र

(b) Political and Social life राजनीतिक एवं सामाजिक विज्ञान

(c) History / इतिहास

(d) Socilogy / समाजशास्त्र 

Ans- c 

2. At the secondary stage, social sciences mainly comprises of माध्यमिक स्तर पर, सामाजिक विज्ञान में मुख्यतः शामिल तत्व हैं-

(a) history, geography political science and economics. इतिहास, भूगोल, राजनीति विज्ञान और अर्थशास्त्र (b) political science, statistics, history and civics. राजनीति विज्ञान, सांख्यिकी, इतिहास और नागरिक शास्त्र । 

(c) history, civics, public administration and international relations. इतिहास, नागरिक शास्त्र, लोक और अंतर्राष्ट्रीय संबंध।

(d) ancient history, geography, political science and civics प्राचीन इतिहास, भूगोल, राजनीति विज्ञान और नागरिक शास्त्र

Ans- a 

3.  Which of the following approaches has been used P extensively to familiarize students with ideas in the textbook Social and Political Life published by the NCERT?

निम्नलिखित में से किस उपागम को एनसीईआरटी द्वारा प्राकाशित पाठ्यपुस्तक सामाजिक और राजनीतिक जीवन में निहित विचारों से विद्यार्थियों को अवगत करवाने के लिए अधिक प्रयोग किया गया है?

(a) Timeline घटनाक्रम

(b) Graph ग्राफ

(c) Chart चार्ट

Advertisement

(d) Storyboard कहानी- बोर्ड

Ans- d 

4. ‘The Social and Political life’ textbooks at elementary level use storyboards because 

प्रारम्भिक स्तर पर सामाजिक और राजनीतिक जीवन की पाठ्य पुस्तकों में चित्रकथा-पट्टों (स्टोरी बोईस) का प्रयोग किया गया है, क्योंकिः 

(A) they engance the aesthetic value of the book./ ये किताब का सौन्दर्य बोध बढ़ाते हैं।

(B) they draw learners attention into. The narrative through use of visuals / ये चित्रों की जीवंत प्रस्तुति के सहारे विषय-वस्तु की ओर बच्चों का ध्यानाकर्षण करते हैं। 

(C) they are added in book for student’s Entertainment/ ये बच्चों के मनोरंजन हेतु जोड़े गए हैं।

(D) stories are easily available for these books and related topics. / इस पुस्तक और इसके विषयों से संबंधित कहानियाँ आसानी से मिल जाती हैं।

(a) Only A is true. / केवल A सही है।

(b) Only B is true. / केवल B सही है।

(c) Only A, B and Care true. / केवल A, B और C सही है।

(d) Only A, B and Dare true. / केवल A, B और D सही है।

Ans- b 

5. The change in nomenclature form civics to political science has been done with the  objective नागरिकशास्त्र से राजनीति विज्ञान शब्दावली में बदलाव किस उद्देश्य से किया गया?

(A) to develop obedient citizens. आज्ञाकारी नागरिक विकसित करने के लिए 

(B) to develop deliberative citizens. विमर्शी नागरिक विकसित करने के लिए

Choose the correct option

सही विकल्प का चयन करें-

Advertisement

(a) Only A / केवल A 

(b) Only B/ केवल B

(c) Both A and BA और B दोनों

(d) Neither  A or B/न तो A न ही B

Ans- b 

6. In upper primary social and political life classes, narratives are best used towards encouraging

 उच्च प्राथमिक कक्षाओं में, सामाजिक और राजनैतिक जीवन की कक्षा में, वर्णात्मकता / आख्यान द्वारा  ————– प्रोत्साहित होता है।

A. introspection/ आत्म निरीक्षण

B. discussion / चर्चा करना

C. reasoning / तर्क-शक्ति 

D. interpretation / व्याख्या करना

Choose the correct option. 

सही विकल्प का चुनाव कीजिए।

(a) A and B/A और  B

(b) B and C/B और  C

(c) C and D/C और D 

(d) A and D/A और  D

 Ans- a 

Advertisement

7. Statement (A): Children should be taught’ social and political life’ in the form of fictional narratives or case studies or exercises that draw on child’s experiences.

 कथन (A): बच्चों को ‘सामाजिक एवं राजनीतिक जीवन’ काल्पनिक वृतांतों अथवा ‘केस स्टडी’ या उन अभ्यासों के आधार पर पढ़ाया जाए जो बच्चों के अपने अनुभवों से जुड़े हों।

 Statement (B): Children learn through concept experiences. 

कथन (B); बच्चे ठोस अनुभवों के माध्यम से सीखते हैं।

(a) (A) is true but (B) is false / (A) सही है किन्तु (B) गलत है।

(b) (A) is false but (B) is true / (A) गलत है किन्तु (B) सही है।

(c) Both (A) and (B) are true and (B) is the correct explanation of (A)/(A) एवं (B) दोनों सही हैं। तथा (A) का सही व्याख्यान (B) है।

(d) Both (A) and (B) are true but (B) is not the correct explanation of (A) / (A) एवं (B) दोनों सही है किन्तु (A) का सही व्याख्यान नहीं (B) है।

Ans- c 

8. The Social and Political Life textbooks have been written with the following objectives: ‘सामाजिक और राजनैतिक जीवन’ पुस्तकें निम्नलिखित उद्देश्य से लिखी गई हैं-

(a) They help in the retention of facts by giving precise information वे तथ्यों को याद रखने में सहायक हैं, क्योंकि वे निश्चित सूचना प्रदान करती हैं। 

(b) They balance the ideal with the real in the discussion of topics. वे पाठ्य वस्तु की चर्चा में आदर्श और वास्तविकता में संतुलन रखती हैं।

(a) Only A/A केवल 

(b) Only B/B केवल

(c) Both A and B / A और B

(d) Neither A nor B/ A या कोई नहीं

Ans- b 

9. Why do social science pedagogues no longer use the word civics’ while teaching at the upper primary level?

Advertisement

सामाजिक विज्ञान के शिक्षणशास्त्री अब उच्च प्राथमिक स्तर पर पढ़ाते वक्त ‘नागरिक शास्त्र’ शब्द का प्रयोग क्यों नहीं करतें?

(A) civics grew out of a certain colonial past and hence required to be changed / नागरिक शास्त्र एक ख़ास औपनिवेशिक अतीत से पनपा हुआ है और इसलिए इसे बदलने की जरूरत है।

(B) It developed a critical outlook. इसने एक आलोचनात्मक दृष्टिकोण समाहित किया। 

(C) It only described government यह केवल सहकारी संस्थाओं और कार्यक्रमों का विवरण देने पर ही केन्द्रित था। 

(D) It limited the scope of this subject. इसने इस विषय के दायरे का संकुचित रखा था।

(a) A and B only / केवल A तथा B

(b) A and C only / केवल A तथा C

(c) A, C and D only / केवल A. C तथा D

(d) B, C and D only / केवल B, C तथा D

Ans- c 

10. History will help you to:/इतिहास आपके लिए सहायक होगा :

A. understand how the present evolved/वर्तमान का कैसे विकास हुआ यह समझने में 

B. understand the working of our physical and social world/हमारे भौतिक और सामाजिक विश्व की गतिविधि को समझने में

C. compare the past with the present/अतीत की वर्तमान से तुलना करने में उपर्युक्त में से कौन-से सही है?

Which of the above are correct?

(a) A and B 

(b) A, B and C

(c) B and C

Advertisement

(d) A and C

Ans- d 

11. The most important challenge before a social teachers is to ———————. 

 सामाजिक विज्ञान के शिक्षक के समक्ष अति महत्वपूर्ण चुनौती होती है ————- । 

(a) Maintain discipline in the classroom कक्षा में अनुशासन बनाए रखने की। 

(b) Use interdisciplinary approach अंतः विषयक उपागम को प्रयोग करने की।

(c) Help students do their homework छात्रों को उनके गृह कार्य में सहयोग करने की। 

(d) Prepare students for exams छात्रों को परीक्षाओं के लिए तैयार करने की।

Ans- b 

12. Social science curricular material developed on the basis of which of the following may help the social science teacher see interconnections between various aspects of society? 

निम्न में से किस उपागम के आधार पर विकसित सामाजिक विज्ञान की पाठ्यचर्या सामग्री सामाजिक विज्ञान के शिक्षक को समाज के विभिन्न पहलुओं के अंतः संबंधों को देख पाने में सहायक होती है?

A. Disciplinary approach / अनुशासनिक उपागम 

B. Multidisciplinary approach / बहुविषयक उपागम

C. Interdisciplinary approach अंतः अनुशासनिक उपागम

D. Thematic approach विषयक (थीमेटिक) उपागम

विकल्प का चयन कीजिए।

(a) Only A and B are true / केवल A और B सही हैं। 

(b) Only B and Care true / केवल B और C सही हैं

Advertisement

(c) Only C and Dare true केवल C और D सही हैं

(d) A and D are true / केवल A और D सही हैं

Ans- c 

13. Read the following statements and choose the correct option. 

निम्नलिखित कथनों को पढ़िए तथा सही विकल्प का चयन कीजिए।

Assertion (A): Teaching social sciences from interdisciplinary manner is challenging for teachers

अभिकथन(A) : सामाजिक विज्ञान को अन्तर्विषयक तरीके से पढ़ाना शिक्षकों के लिए चुनौतीपूर्ण है। 

Reason (R): Textbooks and chapters in social science textbooks are mostly written from the disciplinary perspective  as history or geography.

कारण (R) : सामाजिक विज्ञान की पाठ्य- -पुस्तकों में अधिकतर पाठ विषयगत दृष्टिगत जैसे इतिहास या भूगोल से ही लिखे गए हैं।

(a) Both (A) and (R) and true and (R) is the correct explanation of (A) / दोनों (A) तथा (R) सही हैं तथा (R) सही व्याख्या करता है (A) की ।

(b) Boath (A) and (R) are true but (R) is not the correct explanation of (A) (A) तथा (R) सही हैं किन्तु (R) सही व्याख्या नहीं करता है (A) की । 

(c) (A) is true but (R) is false/ (A) तथा (R) गलत है।

(d) Both (A) and (R) are false if (A) तथा (R) गलत हैं।

Ans- a 

14. The teaching of Social Science is aimed at 

सामाजिक विज्ञान का शिक्षण लक्षित है:

A. Helping learners develop great awareness of themselves. शिक्षार्थियों को आत्मबोध विकसित करने में सहयोग देने पर।

B. Providing learners the skills to carry out independent investigation of problems. समस्याओं की स्वतंत्र छानबीन करने के कौशल को शिक्षार्थियों को प्रदान करने पर।

Advertisement

C. Training learners to carry out their civic dutics. विद्यार्थियों को अपने नागरिक कर्तव्यों को निर्वाह करने में प्रशिक्षित करने पर। 

D. The transaction of stage specific knowledge. स्तर विशेष ज्ञान के हस्तांतरण पर।

Choose the appropriate option given below. 

निम्नलिखित में से उपयुक्त विकल्प का चयन कीजिए-

(a) D and C / D और C 

(b) D and A / D और A 

(c) A and B / A और B

(d) A and C / A और  C

Ans- c 

15. A social science teacher should aim towards: 

एक सामाजिक विज्ञान शिक्षक/शिक्षिका का निम्नलिखित में से कौन-सा लक्ष्य होना चाहिए? 

(a) Building perspective on our pasts. हमारे अतीत पर दृष्टिकोण (पर्सपेक्टिव) का निर्माण करना।

(b) memorisation of dates correctly तिथियों को सटीक रूप से कंठस्थ करना ।

(c) glorifying our fast. हमारे अतीत को गौरवशाली बनाना।

(d) pointing out only conflicts between communities/समुदायों के बीच केवल विरोधों / द्वंद्वों को इंगित करना।

Ans- a

Read More:-

CTET 2023: लगभग हर शिफ्ट में पूछे जा रहे हैं ‘RTE Act 2009’ से जुड़े सवाल यहां पढ़े संभावित प्रश्न!

Advertisement

CTET 2023: सीटेट परीक्षा में पूछे जाने लगे हैं ‘EVS’ के कुछ ऐसे प्रश्न अभी पढ़ें!

यहाँ हमने आगामी सीटीईटी परीक्षा की तैयारी कर रहे अभ्यर्थीयो के लिए ‘सामाजिक विज्ञान शिक्षण शास्त्रसे जुड़े महत्वपूर्ण सवाल (SST Pedagogy Practice MCQ CTET) विषय के महत्वपूर्ण सवालों का अध्ययन किया है CTET सहित सभी शिक्षक पात्रता परीक्षा की बेहतर तैयारी के लिए आप हारे TELEGRAM CHANNEL के सदस्य जरूर बने Join Link नीचे दी गई है?

Advertisement

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

CTET

UP Teacher Vacancy 2023: योगी सरकार का तोहफा, 51 हजार शिक्षक भर्ती जल्द, CTET-UPTET क्वालीफाई को मिलेगी एंट्री

Published

on

By

Advertisement

UP Shikshak Bharti 2023 (UPDATED): उत्तर प्रदेश में लंबे समय से शिक्षक भर्ती परीक्षा का इंतजार कर रहे अभ्यर्थियों के लिए अच्छी खबर है. उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा परिषद (UPBEB) जल्द ही शिक्षक के 51 हजार से अधिक रिक्त पदों पर बंपर भर्ती निकालने वाला है. नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक लोकसभा चुनाव से पहले योगी सरकार प्रदेश में  माध्यमिक व राजकीय विद्यालयों में रिक्त शिक्षकों के पदों पर भर्ती करने जा रही है.

इतने पदों पर होगी भर्ती

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक बेसिक शिक्षा विभाग में टीजीटी/ पीजीटी शिक्षकों के लगभग 51 हजार से अधिक पद रिक्त हैं, इसके अलावा राजकीय विद्यालयों में शिक्षकों के 7 हजार 471 पद रिक्त हैं. तो वही बात करें प्रवक्ता तथा सहायक अध्यापकों के पदों कि तो बताया जा रहा है प्रवक्ता के 2115 जबकि सहायक अध्यापक के 5256 पद खाली हैं जिनपर भर्ती की जानी है.

इन उम्मीदवारों को मिलेगी एंट्री

Advertisement

उत्तर प्रदेश के प्राइमरी तथा अपर प्राइमरी सरकारी स्कूलों में शिक्षकों की भर्ती सुपर टेट परीक्षा (SUPER TET) के माध्यम से की जाती है, जिसका आयोजन उत्तर प्रदेश बेसिक एजुकेशन बोर्ड द्वारा किया जाता है. सुपर टेट परीक्षा में केवल वे अभ्यर्थी ही शामिल हो सकते हैं जिन्होंने यूपी टेट परीक्षा (Uttar Pradesh Teacher Eligibility TestUPTET) पास की हो.  बहुत से अभ्यर्थियों के मन में यह सवाल भी रहता है कि क्या सीटेट परीक्षा क्वालीफाई अभ्यर्थी यूपी शिक्षक भर्ती परीक्षा में शामिल हो सकते हैं? 

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश शिक्षक भर्ती परीक्षा यानी सुपर टेट में शामिल होने के लिए उम्मीदवार को किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक डिग्री तथा टीचिंग ट्रेनिंग कोर्स (D.El.Ed, BTC, B.Ed. आदि) पास किया होना चाहिए साथ ही UPBEB द्वारा आयोजित यूपी टेट परीक्षा पास होना जरूरी है. इसके अलावा पेपर -1 के लिए सीटेट पास अभ्यर्थी भी सुपर टेट परीक्षा देने के पात्र होते हैं. 

यदि बात करें आयु सीमा की तो न्यूनतम 21 वर्ष से लेकर अधिकतम 40 वर्ष की आयु वाले अभ्यर्थी सुपर टेट परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं हालांकि उत्तर प्रदेश के मूल निवासी अभ्यर्थियों को कैटेगरी वाइज अधिकतम आयु में छूट का प्रावधान है अधिक जानकारी के लिए आधिकारिक नोटिफिकेशन पढ़ें.

इच्छुक उम्मीदवार आधिकारिक वेबसाइट ctet.nic.in पर जाकर अपना आवेदन सबमिट कर सकते हैं. सीटेट परीक्षा पास करने पर उम्मीदवार सुपर टेट के साथ ही केंद्र सरकार द्वारा संचालित केंद्रीय विद्यालय, नवोदय विद्यालय तथा आर्मी पब्लिक स्कूल आदि में निकलने वाली शिक्षकों की भर्ती में भी शामिल हो सकते हैं.

कब आएगा यूपीटीईटी नोटिफ़िकेशन? (UPTET 2023 Notification Update)

उत्तर प्रदेश में शिक्षक बनने की चाह रखने वाले लाखों अभ्यर्थी उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी यूपीटीईटी के नोटिफिकेशन का इंतजार कर रहे हैं नवीनतम मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यूपीटीईटी परीक्षा का नोटिफिकेशन फ़रवरी 2023 के अंतिम सप्ताह या मार्च के पहले सप्ताह तक जारी किया जा सकता है। नोटिफिकेशन जारी होने के बाद अभ्यर्थी आधिकारिक वेबसाइट updeled.gov.in पर जाकर आवेदन कर पाएंगे.

अधिक जानकारी के लिए अभ्यर्थी लगातार शिक्षा विभाग की वेबसाइट पर विजिट करते रहें बता दें कि यूपीटीईटी परीक्षा में शामिल होने के लिए अभ्यर्थी की उम्र 18 साल या उससे अधिक होनी चाहिए इसके साथ ही बैचलर डिग्री या समकक्ष डिप्लोमा होना जरूरी है।

Read More:

CTET Exam 2023: ‘अल्बर्ट बंडूरा के सिद्धांत’ से जुड़े कुछ ऐसे सवाल ही पूछे जा रहे हैं सीटेट परीक्षा की सभी शिफ्टों में

Advertisement

Continue Reading

CTET

CTET 2023: ‘पक्षियों’ से जुड़े बेहद रोचक सवाल, जो सीटेट की सभी शिफ्ट में पूछे जा रहे हैं!

Published

on

By

EVS MCQ on Birds For CTET
Advertisement

EVS MCQ on Birds For CTET: शिक्षक के रूप में कैरियर बनाने की चाहत लिए लाखों अभ्यर्थी प्रतिवर्ष सीबीएसई के द्वारा संचालित सिटी परीक्षा में शामिल होते हैं। इस वर्ष किस परीक्षा का आयोजन 28 दिसंबर से किया जा रहा है। अगर आप भी इस परीक्षा में शामिल होने जा रहे हैं, तो यहां पर हम आपके लिए पर्यावरण अध्ययन के अंतर्गत पक्षियों पर आधारित परीक्षा में पूछे जाने वाले संभावित प्रश्न लेकर आए हैं। इस टॉपिक से पेपर में एक से दो प्रश्न पूछे जा रहे हैं अभ्यर्थियों को इन प्रश्नों का अध्ययन एक बार अवश्य कर लेना चाहिए।

Read More:- UP Teacher Vacancy 2023: योगी सरकार का तोहफा, 51 हजार शिक्षक भर्ती जल्द, CTET-UPTET क्वालीफाई को मिलेगी एंट्री

CTET Environment MCQ on Birds—पर्यावरण अध्ययन के अंतर्गत पक्षियों पर आधारित परीक्षा में पूछे जाने वाले संभावित प्रश्न

1) किस प्रकार के पक्षी की चोंच मीट को काटने और खाने के काम आती है?

Advertisement

1. तिकोने आकार की चोंच

2. सीधी और पतली चोंच

3. हुक जैसी चोंच

4. लम्बी पतली सुई जैसी चोंच

Ans- 3

2) पक्षियों की एक स्पीशीज (प्रजाति) ऐसी है, जिसका नर पक्षी सुन्दर सुन्दर घोंसले बुनता है। मादा पक्षी उन सभी पोसलों को देखती है। उनमें से वह उसे चुनती है जो उसे सबसे अच्छा लगता है और उसी में अंडे देती है। पक्षियों की इस स्पीशीज का नाम है.

1. कोयल

2. वीवर पक्षी

3. शक्कर खोरा

4. वसंत गौरी

Ans- 2

3) अपनी गर्दन को पीछे तक घुमा सकने वाला पक्षी है.

1. कबूतर 

2. तोता

3. उल्लू 

Advertisement

4. मैना

Ans- 3

4) अपनी गर्दन को झटके से आगे पीछे कर सकने वाला पक्षी है.

1. कबूतर (कपोत)

2. तोता

3. उल्लू

4. मैना

Ans- 4

5) तीन पक्षियों का वह समूह जिसका प्रत्येक सदस्य वस्तुओं को हमारी तुलना में, चार गुना अधिक दूरी स्पष्ट देख सकता है, जो वस्तु हमें दो मीटर की दूरी से दिखाई देती है उसे ही ये पक्षी आठ मीटर दूरी से देख लेते हैं) कौन सा है

1 बाज़, कौआ, कबूतर

2 बाज़, चील, गिद्ध

3 कबूतर, तोता, चील 

4 कोआ, चील, बुलबुल

Ans- 2

6) पक्षियों की उस प्रजाति का नाम क्या है जिसमें नर पक्षी अनेक सुन्दर घोंसले बनाते हैं और मादा पक्षी उनमें से केवल एक घोंसला चुनते हैं और उसमें अण्डे देते हैं? 

1. कलचिड़ी

2. शकरखोरा

3. दर्जिन चिड़िया 

Advertisement

4. बया (वीवर)

Ans- 4

7. उस पक्षी का नाम जिसकी आंखें मानवों की तरह सामने की तरफ होती हैं:

1. चील

2. बाज

3. गिद्ध

4. उल्लू

Ans- 4

8) तीन पक्षियों का वह समूह जिसका प्रत्येक सदस्य वस्तुओं को हमारी तुलना में, चार गुना अधिक दूरी स्पष्ट देख सकता है, जो वस्तु हमें दो मीटर की दूरी से दिखाई देती है उसे ही ये पक्षी आठ मीटर दूरी से देख लेते हैं) कौन सा है

1 बाज़, कौआ, कबूतर

2 बाज़, चील, गिद्ध 

3 कबूतर, तोता, चील 

4 कोआ, चील, बुलबुल

Ans- 2

9) निम्नलिखित में से कौन सा सबसे छोटा प्रवासी पक्षी है जो उत्तरध्रुवीय क्षेत्र से भारत आता है:

1. सीखपर बत्तख (पिनटेल डक)

2. छोटी मतस्यकुररी (ऑस्प्रे) 

3. हंसावर (फ्लेमिंगो) 

Advertisement

4. छोटी जलरंक (स्टिंट)

Ans- 4

10) एक छोटे से पेड़ या झाड़ी की शाखा से लटकने वाला घोंसला बनाने वाला पक्षी है। 

1. सूर्यपक्षी / शक्कर खोरा

2. कौवा 

3. बारबेट / बसंतगौरी

4. भारतीय रॉबिन / कलचिड

Ans- 1

Read More:-

CTET 2023: ‘बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र’ के इस लेवल के सवाल पूछे जा सकते हैं आने वाली शिफ्ट में अभी पढ़ें!

CTET Exam: परीक्षा हॉल में बहुत काम आने वाले हैं ‘हिंदी पेडागॉजी’ के यह प्रश्न!

यहाँ हमने आगामी सीटीईटी परीक्षा की तैयारी कर रहे अभ्यर्थीयो के लिए ”पक्षियों” से जुड़े महत्वपूर्ण सवाल (EVS MCQ on Birds For CTET) विषय के महत्वपूर्ण सवालों का अध्ययन किया है CTET सहित सभी शिक्षक पात्रता परीक्षा की बेहतर तैयारी के लिए आप हारे TELEGRAM CHANNEL के सदस्य जरूर बने Join Link नीचे दी गई है?

Advertisement

Continue Reading

CTET

CTET Exam 2023: ‘अल्बर्ट बंडूरा के सिद्धांत’ से जुड़े कुछ ऐसे सवाल ही पूछे जा रहे हैं सीटेट परीक्षा की सभी शिफ्टों में

Published

on

By

Albert Bandura's Social Learning Theory for CTET AND TET Exams
Advertisement

Albert Bandura Theory Based Questions CTET: केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा का आयोजन सीबीएसई बोर्ड के द्वारा 28 दिसंबर 2022 से किया जा रहा है। परीक्षा वर्तमान समय में जारी है, जो कि 7 फरवरी 2023 तक जारी रहेगी। अगर आप भी इस परीक्षा में शामिल होने वाले हैं, तो यहां पर हम आपके लिए अल्बर्ट बंडूरा के द्वारा दिए गए सिद्धांत पर आधारित परीक्षा में पूछे जाने वाले संभावित प्रश्न लेकर आए हैं। जो कि आपको परीक्षा में बेहद काम आने वाले हैं। विगत शिफ्ट में इस टॉपिक से प्रश्न पूछे जा रहे हैं। ऐसे में आगामी चरण में भी यहां से प्रश्न पूछे जाने की प्रबल संभावना है।

केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा के लिए अल्बर्ट बंडूरा के सिद्धांत से जुड़े महत्वपूर्ण प्रश्न—MCQ on Albert Bandura Social Learning Theory For CTET Exam

1. अल्बर्ट बंडूरा ने प्रयोग किया?

A- कुत्ते पर

Advertisement

B-गुड़िया पर

C-जोकर पर

D-B और C दोनों पर

Ans- D 

2. सामाजिक अधिगम का सिद्धांत किसने दिया?

A- वाइगोत्सकी

B-जीन पियाजे

C- अल्बर्ट बंडूरा

D-कोहलबर्ग

Ans- C 

3. बंडूरा के अनुसार अनुकरण की प्रक्रिया के कितने चरण हैं?

A- पांच

B- सात

C- चार

D-दस

Advertisement

Ans- C 

4. अल्बर्ट बंडूरा ने अपना सिद्धान्त कब दिया?

A-1994

B-1977

C-1897

D-1920

Ans- B 

5. जिस माध्यम से बच्चा अनुकरण के द्वारा सीखता है उसे अल्बर्ट बंडूरा ने क्या कहा?

A-उत्पाद

B-मॉडल

C-स्की मा

D- पुनर्बलन

Ans- B

6. Social Foundations of Thought and Action पुस्तक किसकी है

A- जीन पियाजे

B-अरस्तू

C- अल्बर्ट बंडूरा

D-कोहलबर्ग

Advertisement

Ans- C 

7. …………… के अनुसार, बच्चों के चिंतन के बारे में सामाजिक प्रक्रियाओं तथा सांस्कृतिक संदर्भ के प्रभाव को समझना आवश्यक है।

A-लॉरेंस कोलबर्ग

B-जीन पियाजे

C-लेब वायगोट्स्की

D-अलबर्ट बैन्डुरा

Ans- C 

8. – बच्चों को संकेत देना तथा आवश्यकता पड़ने पर सहयोग प्रदान करना निम्नलिखित में से किसका उदाहरण है?

A-प्रबलन

B-अनुबंधन

C-मॉडलिंग

D-पाड़ (ढाँचा)

Ans- D

9. अल्बर्ट बैन्ड्यूरा के सामाजिक अधिगम सिद्धांत के अनुसार निम्न में से कौन-सा सही है?

A-बच्चों के सीखने के लिए प्रतिरूपण (मॉडलिंग) एक मुख्य तरीका है

B-अनसुलझा संकट बच्चे को नुकसान पहुंचा सकता है

C-संज्ञानात्मक विकास सामाजिक विकास से स्वतंत्र है

D-खेल अनिवार्य है और उसे विद्यालय में प्राथमिकता दी जानी चाहिए

Advertisement

Ans- A 

10. कोहलबर्ग के अनुसार, शिक्षक बच्चों में नैतिक मूल्य का विकास कर सकता है-

A-” कैसे व्यवहार किया जाना चाहिए ” इस पर कठोर निर्देश देकर

B-धार्मिक शिक्षा को महत्त्व देकर

C- व्यवहार के स्पष्ट नियम बनाकर

D-नैतिक मुद्दों पर आधारित चर्चाओं में उन्हें शामिल करके

Ans- D

11. लारिंस कोहलबर्ग विकास के क्षेत्र में शोध के लिए जाने जाते हैं।

A-संज्ञानात्मक

B-शारीरिक

C-नैतिक

D- गामक

Ans- C 

12. कोहलबर्ग के अनुसार सही और गलत प्रश्नों के बारे में निर्णय लेने में शामिल चिंतन प्रक्रिया को कहा जाता है

A-सहयोग की नैतिकता

B-नैतिक तर्कणा

C-नैतिक यथार्थवाद

D-नैतिक दुविधा

Advertisement

Ans- B

13. लॉरेंस कोहलबर्ग के द्वारा प्रस्तावित निम्नलिखित चरणों में से प्राथमिक विद्यालयों के बच्चे किन चरणों का अनुसरण करते हैं?

(1) आज्ञापालन और दंड – – उन्मुखीकरण

(2) वैयक्तिकता और विनिमय

(3) अच्छे अंत : वैयक्तिक संबंध

(4) सामाजिक अनुबंध और व्यक्तिगत अधिकार

A-2 और 1

B-2 और 4

C-1 और 4

D-1 और 3

Ans- A 

14. करनैल सिंह कानूनी कार्यवाही तथा खर्चों के बावजूद आय कर नहीं देते। वे सोचते हैं कि वे एक भ्रष्ट सरकार को समर्थन नहीं दे सकते, जो अनावश्यक बाँधों के निर्माण पर लाखों रुपये खर्च करती हैं । वे संभवतः कोहलबर्ग के नैतिक विकास की किस अवस्था में हैं?

A-परंपरागत

B-पश्च परंपरागत

C-पूर्व परंपरातगत

D-परा-परंपरागत

Ans- B

15. एक शिक्षिका अपनी कक्षा से कहती है, ‘सभी प्रकार के प्रदत्त’ कार्यों का निर्माण इस प्रकार किया गया है कि प्रत्येक विद्यार्थी अधिक प्रभावशाली ढंग से सीख सके, अतः सभी विद्यार्थी बिना किसी अन्य की सहायता से अपना कार्य पूर्ण करें। वह कोहलबर्ग के किस नैतिक विकास के चरण की ओर संकेत दे रही है?

Advertisement

A-पूर्व औपचारिक चरण 2 वैयक्तिकता और विनिमय

B-औपचारिक चरण 4 कानून और व्यवस्था

C-पर – औपचारिक चरण 5 सामाजिक संविदा

D- पूर्व – औपचारिक चरण 1 दंड परिवर्जन

Ans- B

Read More:-

CTET 2023: ‘बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र’ के इस लेवल के सवाल पूछे जा सकते हैं आने वाली शिफ्ट में अभी पढ़ें!

CTET Exam 2023: ‘पर्यावरण’ के इन सवालों को परीक्षा हॉल में जाने से पहले एक बार जरूर पढ़ें!

Advertisement

Continue Reading

Trending