CTET

CTET 2022: पिछले वर्षों में केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा में वाइगोत्सकी और जीन पियाजे सिद्धांत से पूछे गए सवाल, यहां पढ़िए done

CTET Exam 2022 Principles Of Jean Piaget MCQ: माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ( CBSE) के द्वारा हाल ही में जारी अधिसूचना के अनुसार केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (CTET) का आयोजन दिसंबर में किया जाएगा। यह परीक्षा शिक्षक बनने के इच्छुक अभ्यर्थियों के लिए सीबीएसई द्वारा आयोजित की जाती है, इस परीक्षा का उद्देश्य प्राइमरी शिक्षक बनने वाले अभ्यर्थियों की योग्यता की जाँचना होता है।

अगर आप भी शिक्षक बनने का सपना देख रहे हो और होने वाली CTET परीक्षा शामिल होने वाले हो तो इस आर्टिकल मे जीन पियाजे सिद्धांत से जुड़े पिछले कई वर्षों से पूछे जा चुके शेयर किए जा रहे है, यह सवाल CTET परीक्षा के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है। अतः इसे आप परीक्षा मे शामिल होने से पूर्व अवश्य पढ ले। 

आपको बता दे कि परीक्षा के आवेदन की प्रक्रिया जल्द ही प्रारंभ की जाएगी। परीक्षार्थी परीक्षा मे आवेदन हेतु  www.ctet.nic.in  पर जाकर आवेदन कर सकेंगे।

परीक्षा मे अच्छे अंक प्राप्त करने के लिए पढ़े ये सवाल – Principles Of Jean Piaget MCQ for CTET Exam 2022

1. जीन पियाजे के संज्ञानात्मक विकास की किस अवस्था मे बच्चे आँख कान एवं नाक से सोचते है ?

CTET-2011 ––

(a) संवेदी प्रेरक अवस्था

(b) पूर्व संक्रियात्मक अवस्था

(c) मूर्त संक्रियात्मक अवस्था

(d) अमूर्त संक्रियात्मक अवस्था

Ans.a

2. निम्नलिखित कथनों में से कौन-सा एक कथन गलत है ?

CTET-19

(a) जिन बालकों के औपचारिक संक्रियात्मक चिन्तन ऊँचा होता है, उनका शिक्षण स्तर भी ऊँचा होता है

(b) बालक अपने पर्यावरण के साथ अनुकूलन करने के लिए अनेक नियमों को सीख लेता

(c) संज्ञानात्मक विकास का तात्पर्य बच्चों के सीखने से 

(d) पियाजे ने संज्ञानात्मक विकास को पाँच भागो में विभाजित किया

Ans.d

3. परायत नैतिकता की अवस्था होती है

Advertisement

TET-2013

(a) 3 से 6 वर्ष

(b) 4 से 8 वर्ष

(c) 4 से 7 वर्ष

(d) 5 से 9 वर्ष

Ans.c

4- नैतिक दुविधा एवं नैतिक तर्कणा को किस मनोवैज्ञानिक ने प्रतिपादित किया है ?

(a) जीन पियाजे

(b) लॉरेन्स कोहलबर्ग

(c) लेव वाइगोत्सकी 

(d) एरिक एरिक्सन

Ans.b

5. लेव वाइगोत्सकी के सामाजिक सांस्कृतिक सिद्धान्त के सन्दर्भ में कौन-सा सही नही है ?

(a) वाइगोत्सकी का सामाजिक, सांस्कृतिक सिद्धान्त बालक के संज्ञानात्मक विकास पर आधारित है 

(b) वाइगोत्सकी एक फ्रांसीसी मनो वैज्ञानिक थे 

(c) इन्होंने बालकों के संज्ञानात्मक विकास में भाषा एवं चिन्तन को महत्वपूर्ण अंग माना है 

(d) इनके अनुसार खेल बालकों में

Ans.b

Advertisement

6. सम्भाव्य / निकट विकास का क्षेत्र (ZPD) निम्नलिखित में से किस मनोवैज्ञानिक की देन है ?

MPTET EXAM

(a) जीन पियाजे

(b) लॉरेन्स कोहलबर्ग

(c) लेव वाइगोत्सकी

(d) उपरोक्त में से कोई नही

Ans.c

7- किस मनोवैज्ञानिक के अनुसार, “सीखने का मतलब ज्ञान निर्माण करना है” ? (CGTET July 2011)

(a) स्किनर

(b) पियाजे

(c) थॉर्नडाइक

(d) लेव वाइगोत्स्की

Ans.b

8. एक माध्यमिक स्कूल का शिक्षक विद्यालय में पढ़ाने के दौरान एक विद्यार्थी का विश्लेषण करने के बाद यह सोचता है कि उस विद्यार्थी में अमूर्त चिंतन करने की क्षमता, भाषा संबंधित योग्यता तथा संप्रेषणशीलता का बेहतर विकास हो रहा है। विद्यार्थी के बारे में शिक्षक की यह सोच पिया जे संज्ञानात्मक विकास के किस अवस्था का सूचक है ?

REET EXAM

(a) संवेदी प्रेरक अवस्था

(b) पूर्व संक्रियात्मक अवस्था

(c) मूर्त संक्रियात्मक अवस्था

Advertisement

(d) औपचारकि संक्रियात्मक अवस्था

Ans.c

9. “बच्चे दुनिया के बारे में अपनी समझ का सृजन करते है ।” इसका श्रेय …………. को जाता है ।

(CTET June 2011)

(a) पियाजे

(b) पावलॉव

(c) कोह्लबर्ग

(d) स्किनर

Ans.a

10 वह अवस्था जब बच्चा / बच्चे तार्किक रूप से वस्तुओं व घटनाओं के विषय में चिन्तन प्रारम्भ करता है ?

(CTET June 2011)

(a) संवेदी प्रेरक अवस्था

(b) औपचारिक संक्रियात्मक अवस्था

(c) पूर्व संक्रियात्मक अवस्था

(d) मूर्त संक्रियात्मक अवस्था

Ans.d

11. बच्चों के बौद्धिक विकास की चार विशिष्ट अवस्थाओं की पहचान की गई(CTET June 2011)

(a) कोह्लबर्ग द्वारा

Advertisement

(b) एरिक्सन द्वारा

(c) स्किनर द्वारा

(d) पियाजे द्वारा

Ans.d

12. पियाजे के अनुसार, निम्नलिखित में से कौन-सी अवस्था में बच्चा अमूर्त संकल्पनाओं के विषय में तार्किक चिन्तन करना आरम्भ करता है ?

(CTET June 2011)

a) मूर्त-संक्रियात्मक अवस्था (7 से 11 वर्ष)

(b) औपचारिक-संक्रियात्मक अवस्था ( 11 वर्ष एवं इससे (ऊपर)

(c) संवेदी प्रेरक अवस्था (जन्म से 2 वर्ष)

(d) पूर्व-संक्रियात्मक अवस्था (2 से 7 वर्ष)

Ans.b

13. पियाजे के अनुसार विकास की पहली अवस्था (जन्म

से लगभग 2 वर्ष आयु) के दौरान . सबसे बेहतर सीखता है । (CTET June 2011)

(a) निष्क्रिय शब्दों को समझने के द्वारा

(b) अमूर्त तरीके से चिन्तन द्वारा

(c) भाषा के नए अर्जित ज्ञान के अनुप्रयोग द्वारा

(d) इन्द्रियों के प्रयोग द्वारा

Ans.d

Advertisement

14- फ्रायड, पियाजे एवं अन्य मनोवैज्ञानिक ने व्यक्तित्व विकास की विभिन्न अवस्थाओं के सन्दर्भ में व्याख्या की है, परन्तु पियाजे ने (RTET July 2011)

(a) कहा है कि विकास की अवस्थाएँ वातावरण से निर्धारित होती है।

(b) कहा की शैशवावस्था के अनुभव ही अधिक प्रभवित करते है बाकि अवस्थाओं के सीमित प्रभाव होते 

c) विभिन्न अवस्थाओं को समझाने के लिए संज्ञानात्मक बदलाव के बारे में कहा

Ans.c

15- पियाजे के अनुसार मूर्त संक्रियाओं का स्तर किस अवधि में घटित होता है ? (BTET April 2011)

(a) जन्म से 2 वर्ष

(b) 2 से 7 वर्ष

(c) 7 से 11 वर्ष 

(d) 11 से 15 वर्ष

Ans.c

इस आर्टिकल आगामी  होने वाली CTET परीक्षा की तैयारी कर रहे परीक्षार्थियों के लिए परीक्षा में पूछे जाने वाले सबसे महत्वपूर्ण टॉपिक जीन पियाजे सिद्धांत से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण सवाल शेयर किए जा रहे हैं। सीटेट परीक्षा से जुडी नवीनतम अपडेट और रोजाना प्रैक्टिस सेट हासिल करें के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल के सदस्य अवश्य बने जॉइन लिंक नीचे दी  हुई है।   

ये भी पढ़े

Child Development Pedagogy: CTET सहित सभी TET परीक्षाओं में पूछे जाते है CDP से प्रश्न, यहाँ पढ़ें 15 सवाल

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button