CTET

CTET EXAM 2022: ‘पर्यावरण अध्ययन’ के इन सवालों से करे सीटेट परीक्षा की अपनी पक्की तैयारी!

Advertisement

CTET Quiz On EVS Pedagogy: केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के द्वारा सीटेट परीक्षा इस बार दिसंबर से आयोजित की जाएगी, यह परीक्षा पिछले बार की ही तरह सीबीटी द्वारा ऑनलाइन माध्यम से कई चरणों मे आयोजित की जाएगी। देखा जाए तो परीक्षा के लिए अभ्यर्थियों के पास बेहद ही कम समय शेष बचा हुआ है तथा संभावना है कि पिछली बार की तुलना में इस बार हिस्सा लेने वाले अभ्यर्थियों की संख्या कई अधिक रहने वाली है। ऐसे में अभ्यर्थियों के मध्य कड़ी प्रतिस्पर्धा रहेगी।

अतः अभ्यर्थियों को अपनी तैयारी एक कठोर रणनीति के साथ करनी चाहिए। इस लेख मे पर्यावरण अध्ययन और शिक्षा शास्त्र विषय महत्वपूर्ण सवाल शेयर किए है, अतः इस टॉपिक से हमेशा प्रश्न पूछे जाते हैं, जिन्हें आप अपनी तैयारी के लिए परीक्षा में जाने से पूर्व एक एक नजर अवश्य पढ़ ले।

पर्यावरण अध्ययन टॉपिक से सीटेट परीक्षा मे हमेशा प्रश्न पूछे जाते है, अभी पढे- Environmental Study And Pedagogy MCQ For CTET 

1- राष्ट्रीय पाठ्यचर्या रूपरेखा (NCF), 2005 ने कक्षा I और II के लिए पर्यावरण अध्ययन के किसी पाठ्यक्रम या पाठ्य पुस्तकों की संस्तुति नहीं की है। इसके लिए सबसे उपयुक्त कारण है

Advertisement

(1) पाठ्यक्रम का भार कम करने के लिए

(2) पर्यावरण अध्ययन केवल कक्षा III से आगे की कक्षाओं के लिए है

(3) कक्षा I और II के शिक्षार्थी पढ़ना लिखना नहीं जानते

(4) सन्दर्भयुक्त अधिगम परिवेश प्रदान करना

Ans- 4 

2- पर्यावरण अध्ययन कक्षाओ III से V के लिए एक विषय क्षेत्र है जो संकलित है करता है-

(1) विज्ञान की अवधारणाओं और मुद्दों को

(2) पर्यावरण शिक्षा, सामाजिक अध्ययन और विज्ञान की अवधारणाओं और मुद्दों को 

(3) विज्ञान और सामाजिक विज्ञान की अवधारणाओं और मुद्दों को

(4) पर्यावरण शिक्षा और विज्ञान की अवधारणा और मुद्दों को

Ans- 2 

3 – किस राष्ट्रीय पाठ्यचर्या फ्रेमवर्क (एन.सी.एफ.) ने प्राथमिक स्तर पर एक एकीकृत पाठ्यचर्या क्षेत्र के रूप में पढ़ाए जाने के लिए पर्यावरण अध्ययन की सिफारिश की?

(1) एन.सी.एफ. 2005

(2) एन.सी.एफ. 1988

(3) एन.सी.एफ. 2000

Advertisement

(4) एन.सी.एफ. 1975

Ans- 4 

4- निम्नलिखित में से एक कक्षा 1 और 2 के लिए पर्यावरण अध्ययन विषय के संदर्भ में सत्य है।

(1) कक्षा 1 और 2 पर्यावरण अध्ययन को एक नए विषय के रूप में प्रस्तुत किया गया है।

(2) कक्षा 1 और 2 में एक विषय के रूप में पर्यावरण अध्ययन समझने के लिए आसान नहीं है।

(3) पर्यावरण अध्ययन से संबंधित मुद्दों और संबंधों का संपादन भाषा के द्वारा होता है।

(4) पर्यावरण अध्ययन से संबंधित मुद्दों और संबंधों का संपादन भाषा और गणित के माध्यम से होता है

Ans- 4

5. निम्न में से कौन – सा पर्यावरण की कक्षा में रूपात्मक आकलन का समुचित कार्य नहीं है –

(1) पाठ में दी गई महत्त्वपूर्ण शब्दावली की परिभाषा को व्याख्या करना

(2) दिए गए प्रयोगात्मक क्रियाकलापों को पूरा करना और अपने अवलोकन को दर्ज करना

(3) दिए गए प्रयोगात्मक प्रारूप के चिह्नांकन वाले आरेख बनाना

(4) जल प्रदूषण की हानियों के विषय में चर्चा करना

Ans- 1 

6-पर्यावरण अध्ययन के पाठ्यक्रम में विषयों के स्थान पर थीम को प्रस्तावित किया गया क्यूं ?

(1) बच्चों के स्थानीय परिवेश के मुद्दों से जुड़े हुए और अन्तः संबंधित समझ के विकास के लिए

(2) उपविषयों की तुलना में थीम आधारित पर्यावरण अध्ययन का संपादन आसान है।

(3) पर्यावरण अध्ययन में पाठकों कम करने के लिए

Advertisement

(4) बच्चों के परिवेशीय बोध में वृद्धि करने के लिए।

Ans- a 

7 – राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा, 2005 के अनुसार, निम्नलिखित में से कौन-सी एक पर्यावरण अध्ययन की विषय-वस्तु (थीम) है?

(1) सौरमंडल

(2) ऊर्जा

(3) मौसम 

(4) भोजन

Ans- 4 

8- निम्नलिखित में से कौन सा प्राथमिक स्तर पर पर्यावरण अध्ययन के शिक्षण का उद्देश्य नहीं है –

(1) कक्षा कक्ष में होने वाले अधिगम को विद्यालय के बाहर दुनिया के साथ जोड़ना

(2) शिक्षक कक्षा कक्ष में कड़े अनुशासन को सुनिश्चित करें

(3) बच्चों को प्रश्न पूछने के लिए अवश्य अभिप्रेरित करना

(4) बच्चों को अपने निकटतम परिवेश से परिचय प्राप्त करने के लिए अवश्य अभिप्रेरित करना चाहिए।

Ans- 2

9- कक्षा V की पर्यावरण अध्ययन की पाठ्य पुस्तक के एक पाठ में सर्वेक्षण और लेखन’ पर एक भाग का मुख्य उद्देश्य है

(1) शिक्षार्थियों की सामान्य जानकारी का आकलन करना

(2) शिक्षार्थियों को अवसर उपलब्ध कराना कि वे चीजों को खोजे और सीखें

(3) विषय की आधारभूत अवधारणाओं को सीखने में शिक्षार्थियों की मदद करना

Advertisement

(4) शिक्षार्थियों के व्यावहारिक कौशलों में सुधार करना

Ans- 2 

10-सरिता की शिक्षिका उसे विभिन्न सामूहिक गतिविधियों में शामिल करती है। जैसे समूह चर्चा समूह परियोजना, आदि। उसकी शिक्षिका सीखने के किस आयाम का अनुगमन कर रही है?

(1) प्रतियोगिता आधारित सीखना

(2) सामाजिक गतिविधि के रूप में सीखना

(3) मनोरंजन द्वारा सीखना

(4) भाषा- निर्देशित सीखना

Ans- 2 

11. एक शिक्षक हमेशा क्रियाकलापों को कराने के बाद प्रश्नों और चर्चाओं का संचालन करता है। क्रियाकलापों प्रश्नों और चर्चाओं के संचालन करने का उद्देश्य…… है।

(A) बच्चों की प्रक्रिया कौशल का आकलना 

(B) बच्चों को खोजने का अवसर देना।

(C) बच्चों को अपनी अभिव्यक्ति का अवसर देना।

(D) बच्चों में उनके सीखने की गति के आधार पर विभेद करना।

(1) B, C और D

(2) A, B और C 

(3) केवल D

(4) केवल C 

Ans- 2 

Advertisement

12. सुसमा चाहती है कि उसके छात्रों को ‘पेड़ों’ के संरक्षण’ के लिए संवेदनशील बनाया जाए। निम्नलिखित में से कौन-सी ऐसा करने की सबसे उपयुक्त रणनीति है? 

(1) कक्षा में बहस आयोजित करना

(2) समूह चर्चा

(3) पोस्टर बनाना

(4) बच्चों को एक पौधे को अपनाने और पोषित करने में मदद करना

Ans- 4 

13-निम्नलिखित सीखने के लिए कौन से सिद्धान्त का पर्यावरण अध्ययन में अनुसरण होता है

(1) वैश्विक से स्थानीय

(2) अमूर्त से मूर्त

(3) अज्ञात से ज्ञात

(4) ज्ञात से अज्ञात

Ans- 4 

14- पर्यावरण अध्ययन की पाठ्य पुस्तकों में अभ्यास एवं गतिविधियों को ———- उपलब्ध कराना चाहिए।

(1) प्रकरणों में अन्तः निर्मित

(2) पुस्तक में अलग – अलग स्थानों पर

(3) इकाई के अन्त में

(4) पाठ के अन्त में

Ans- 1 

Advertisement

15- EVS में किसी अच्छे गृहकार्य को मुख्यतः किस पर केन्द्रित होना चाहिए

(1) पुनरावृनि और प्रबलीकरण

(2) मास्टरी लर्निंग

(3) विस्तारित अधिगम के लिए चुनौतियां और उत्तेजना

(4) समय का सदुपयोग

Ans- 3

आपके लिए अन्य महत्वपूर्ण पोस्ट

CTET Exam: वर्ष 2021 के Online Exam मे पूछे गए ‘संस्कृत शिक्षण शास्त्र’ के प्रश्न

CTET 2022: ‘बाल केंद्रित एवं प्रगतिशील शिक्षा’ के यह सवाल सीटेट परीक्षा 2022 मे अवश्य पूछे जा सकते है, अवश्य पढे

हर वर्ष पूछे जाते हैं ‘NCF 2005’ से जुड़े सवाल यहां पढ़े संभावित प्रश्न!

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button