Connect with us

CTET

CTET Exam 2022: ‘हिंदी पेडागोजी’ के इन सवालों को परीक्षा में शामिल होने से पहले एक बार जरूर पढ़ें!

Published

on

Advertisement

Hindi Pedagogy MCQ For CTET: सीटेट परीक्षा 2022 अब कुछ दिनों बाद आयोजित होने वाली है। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के द्वारा आयोजित की जाने वाली देश की सबसे बड़ी शिक्षक पात्रता परीक्षा में से एक इस परीक्षा का आयोजन दिसंबर से जनवरी माह के बीच देशभर के विभिन्न परीक्षा केंद्रों पर ऑनलाइन मोड में किया जाएगा। अगर आप भी इस परीक्षा को देने वाले हैं, तो आपके लिए अब कुछ ही दिनों का समय शेष रह गया है। ऐसे में अधिक से अधिक प्रैक्टिस सेट का अभ्यास परीक्षा में बेहतर परिणाम दिला सकता है। यहां पर हम आपके लिए हिंदी पेडगॉजी से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण प्रश्न आपके साथ साझा कर रहे हैं। जिसका अध्ययन आपको परीक्षा में शामिल होने से पूर्व अवश्य कर लेना चाहिए।

सीटेट परीक्षा में पूछे जाने वाले हिंदी शिक्षण शास्त्र के प्रश्न—Hindi Pedagogy Top MCQ For CTET Exam 2022

Q.1 भाषा सीखने का उद्देश्य है –

(1) प्रत्येक स्थिति में भाषा का प्रयोग कर पाना

Advertisement

(2) आदेश – निर्देश दे पाना और सुन पाना

(3) दूसरों की बातों को समझ पाना

(4) अपने मन की बात कह पाना

Ans- 1  

Q. 2 ” बच्चों के भाषायी विकास ” में समाज की महत्वपूर्ण भूमिका होती है ।” यह विचार किसका है ?

(1) पियाजे

(2) स्किनर

(3) चॉम्सकी

(4) वाइगोत्स्की

Ans- 4 

Q.3 विद्यार्थियों का भाषायी विकास समग्रता से हो सके, इसके लिए सबसे उपयुक्त अनुशंसा होगी

(1) शब्दकोष एवं विश्वकोष के प्रयोग की

(2) भाषा प्रयोग के विविध अवसरों की

(3) सतत एवं व्यापक आकलन की

(4) सर्वोत्कृष्ट पाठ्य पुस्तकों की

Advertisement

Ans- 2 

Q.4 लिखित भाषा का प्रयोग –

(1) केवल प्रतिवेदन लेखन के लिए किया जाता है।

(2) कार्यालयी कार्यों के लिए ही किया जाता है

(3) अपनी अभिव्यक्ति के लिए किया जाता है

(4) केवल साहित्य सृजन के लिए किया जाता है

Ans- 3 

Q.5 भाषा की कक्षा में भाषायी खेलों का आयोजन मुख्यत –

(1) भाषा सीखने की प्रक्रिया में स्वाभाविकता लाता है।

(2) आकलन का काम करता है

(3) रोचकता और जोश लाता है।

(4) अध्यापक के काम को सरल बनाता है

Ans- 1 

Q.6 कविता कहानियों पर चर्चा करने एवं प्रश्न पूछने का उद्देश्य

(1) भाषा की विभिन छटाओं का अनुभव कराना है

(2) कल्पनाशीलता का पोषण करना मात्र  है

(3) भाषा सीखने का आकलन करना मात्र है

(4) साहित्य के प्रति बच्चों की रुचि जाग्रत करना है।

Advertisement

Ans- 1 

Q.7 भाषा का अस्तित्व एवं विकास ……….. के बाहर नहीं हो सकता –

(1) परिवार

(2) साहित्य

(3) समाज

(4) विद्यालय

Ans- 3 

Q.8 किसी समावेशी कक्षा में कौन-सा कथन भाषा शिक्षण के सिद्धान्तों के अनुकूल है ?

(1) प्रिन्ट – समृद्ध माहौल भाषा सीखने में मदद करता है। –

(2) बच्चे अपने अनुभवों के आधार पर भाषा के नियम नहीं बना पाते

(3) भाषा विद्यालय में रहकर अर्जित की जाती है।

(4) व्याकरण के नियमों का ज्ञान भाषा – विकास की गति त्वरित करता है।

Ans- 1 

Q.9 प्राथमिक स्तर पर विद्यार्थियों के भाषा – शिक्षण के सन्दर्भ में कौन – सा कथन सही है ? 

(1) सतत रूप से की जाने वाली टिप्पणियाँ एवं अनवरत अभ्यास भाषा सीखने में रुचि उत्पन्न करते है

(2) बच्चे समृद्ध भाषिक परिवेश में सहज रूप से स्वतः भाषा में सुधार कर सकते है

(3) बच्चों की भाषाई संकल्पनाओं और विद्यालय के भाषाई परिवेश में विरोधाभासी भाषा सीखने में मदद करता है।

(4) बच्चे भाषा की जटिल और समृद्ध संरचनाओं का ज्ञान विद्यालय में ही अर्जित करते हैं

Advertisement

Ans- 2 

Q.10 प्राथमिक स्तर की कक्षा में भिन्न – भिन्न प्रान्तों के अलग – अलग भाषा बोलने वाले बच्चों का नामांकन हुआ है। ऐसी स्थिति में भाषा की कक्षा बच्चों के भाषायी विकास के सन्दर्भ मे – 

(1) जटिल चुनौती के रूप में सामने आती है

(2) अवरोध ही प्रस्तुत करती है।

(3) बहुत बड़ी समस्या बन जाती है।

(4) अनमोल संसाधन के रूप में कार्य करती है

Ans- 4 

Q.11 पहली कक्षा की भाषा अध्यापिका अपने एक विद्यार्थी के भाषायी विकास के सम्बन्ध में चिन्तित है, क्योंकि

(1) विद्यार्थी पठन-पाठन में रुचि प्रदर्शित नहीं करता है

(2) विद्यार्थी को घर पर बात करने के बहुत कम अवसर मिलते हैं

(3) विद्यार्थी के माता और पिता की मातृभाषा अलग-अलग है

(4) विद्यार्थी अपने साथियो से बहुत झगड़ता है

Ans- 1 

Q.12 बच्चों के बोलना सीखने के सन्दर्भ में कौन – सा कथन सही है?

(1) सभी बच्चों की ‘बोलना ‘सीखने की गति एक समान होती है। 

(2) बड़े परिवार में बच्चों की ‘ बोलना सीखने की गति तेज होती है। 

(3) निर्धन परिवारों से आए बच्चों की ‘ बोलने ‘सीखने की गति धीमी होती है 

(4) कहने सुनने के अधिक से अधिक अवसर मिलने पर बच्चे बोलना – सरलता से सीखते हैं

Advertisement

Ans- 4 

Q.13 विद्यालय / कक्षा में समृद्ध भाषायी परिवेश से तात्पर्य है परिवेश से तात्पर्य है –

(1) मुख्य धारा की भाषा सुनने के अधिक से अधिक अवसर 

(2) बोलने सुनने, पढ़ने लिखने के अधिक से अधिक अवसर 

(3) एक से अधिक भाषाओं के शब्दकोष की उपलब्धता 

(4) अध्यापक को एक से अधिक भाषाओं की जानकारी

Ans- 2 

Q.14 अपने विद्यार्थियों के भाषा सम्बन्धी क्रमिक विकास का आकलन करने के लिए आपकी निर्भरता मुख्य रूप से किस पर है ?

(1) पोर्टफोलियो के अवलोकन पर

(2) मौखिक कार्य करवाने पर

(3) गृहकार्य की उत्तर पुस्तिकाओं के अवलोकन पर –

(4) कक्षाकार्य के अवलोकन पर

Ans- 1 

Q.15 आपके विद्यार्थी पाठ में आए नवीन / अपरिचित शब्दों के अर्थ जान सकें, इसके लिए आप

(1) पाठ के अन्त में दिए गए ‘ शब्दार्थ ‘देखने के लिए कहेगी

(2) शब्दकोष देखना सिखाएंगी।

(3) शब्द का अर्थ लिखकर बताएँगी

(4) पाठ के सन्दर्भ में अर्थ समझने की स्थिति पैदा करेंगी

Advertisement

Ans- 4 

Read More:-

CTET 2022: लाखों अभ्यर्थियों के मध्य होगी कड़ी प्रतिस्पर्धा पूछे जाएंगे ‘कोहलबर्ग के सिद्धांत’ से जुड़े कुछ ऐसे प्रश्न!

CTET Exam 2022: केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा में बहुत काम आने वाले हैं ‘पर्यावरण’ के यह 15 सवाल अभी पढ़ें!

Advertisement

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *