Connect with us

CTET

CTET Exam 2022: परीक्षा मे बार-बार पूछे जाते हैं ‘गणित’ के ये प्रश्न अभी पढ़े!

Published

on

CTET Math Questions
Advertisement

CTET Math Questions: दिसंबर माह में आयोजित होने वाली सीटेट परीक्षा के लिए आवेदन की प्रक्रिया वर्तमान में जारी है, वे उम्मीदवार जो इस परीक्षा में सम्मिलित होना चाहते हैं। 24 नवंबर से पहले बोर्ड की ऑफिशल वेबसाइट पर जाकर अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं। यहां पर हम नियमित रूप से परीक्षा पैटर्न पर आधारित शेयर करते आ रहे है। इसी कड़ी में आज हम गणित की कुछ ऐसे सवाल आपके लिए लेकर आए हैं, जो की परीक्षा में बार-बार पूछे जाते हैं। परीक्षा में शामिल होने से पहले एक बार इन प्रश्नो का अध्ययन अवश्य कर लेना चाहिए।

ये भी पढे:-CTET 2022: सीटेट परीक्षा मे उच्चतम अंक दिलाएंगे गणित पेडागोजी के ये सवाल, डाले एक नजर!

परीक्षा मे शामिल होने से पहले जरूर पढ़े गणित के ये सवाल—Math Important Questions For CTET Exam 2022

Q. रोमन अंकों का उपयोग आमतौर पर हिन्दू- अरबी अंकों जैसी संख्याओं के लेखन में क्यों नहीं किया जाता ?/Why are Roman numerals not commonly used in writing numbers like the Hindu-Arabic numerals? 

Advertisement

(1) बच्चे अंग्रेजी वर्णमाला और रोमन अंकों में भ्रमित हो जाते हैं/Children get confused with the English alphabet and Roman numerals.

(2) रोमन अंक स्थानीय मान का नियोजन नहीं करते हैं, इसलिए इन अंकों का उपयोग करके गणना करना मुश्किल होता है /The Roman numerals do not employ place value, so calculations are difficult to perform using these numerals 

(3) रोमन अंकों को याद करना मुश्किल है।/Roman numerals are difficult to remember

(4) रोमन अंकों का उपयोग करके संख्याओं को बनाना एक जटिल कार्य है/The formation of numbers using Roman numerals is a complicated task

Ans- 2 

Q. पाइथागोरस प्रमेय को सिखाने के लिए एक शिक्षक ने एक शीट वितरित की है जिस पर समकोण वाले चार त्रिभुजों को खींचा गया था और बच्चे को त्रिभुज की भुजाओं के बीच सम्बन्ध खोजने के लिए कहा जाता है। उपरोक्त परिस्थिति में शिक्षक ने प्रयोग की/To teach the Pythagoras theorem, a teacher has distributed a sheet on which four right-angled triangles were drawn and asks the child to find the relationship between the sides of a triangle. In the above situation, the teacher used

(1) प्रयोगशाला विधि/laboratory method 

(2) आगमन विधि/inductive method 

(3) निगमन विधि/deductive method

(4) व्याख्यान विधि/lecture method

Ans- 2 

Q. दो दशमलव संख्याओं के योग की संकल्पना को पढ़ाने के लिए निम्नलिखित में से शिक्षण- अधिगम का कौन-सा साधन सर्वाधिक उपयुक्त है?/Which of the following teaching-learning resources would be the most appropriate to teach the concept of addition of two decimal numbers?

(1) जियोबोर्ड/Geoboard

(2) मोती और माला/Beads and string

(3) ग्राफ पेपर/Graph paper 

Advertisement

(4) गिनतारा/Abacus

Ans- 3 

Q. किसी छात्र को नीचे दी गई संख्याओं को पढ़ने के लिए कहा गया

306, 408, 4008, 4010

उसने इन्हें इस प्रकार पढ़ा तीस छः, चालीस आठ, चार सौ आठ, चालीस दस पढ़ने में त्रुटि का कारण है कि/ A student was asked to read the following numbers 306, 408, 4008, 4010. He read as follows Thirty six, forty eight, four hundred eight, forty ten The reason for error in reading is that  

(1) छात्र को गणित की कक्षा अच्छी नहीं लगती और कक्षा उबाऊ (कष्टदायक) लगती है/the student does not like Maths class and finds the class boring

(2) छात्र ने स्थानीय मान की संकल्पना तो समझ ली है परन्तु उसका उपयोग नहीं जानता /the student has understood the concept of place value but does not know how to use it

(3) छात्र गणित का अध्ययन करने के लिए उपयुक्त नहीं है/the student is not fit for study of Maths 

(4) छात्र स्थानीय मान की संकल्पना को नहीं समझता है और उसे केवल दो अंकीय संख्याओं को पढ़ना आसान लगता है।/the student is not able to understand the concept of place value and feels comfortable using two digit numbers only

Ans- 4 

Q. राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा (एन.सी.एफ.) 2005 की अनुशंसा के अनुसार प्राथमिक विद्यालयों का गणित पाठ्यक्रम /As per the recommendation of NCF 2005, primary school mathematics curriculum should

(1) छात्रों को प्रगामी गणित के लिए तैयार करने वाला होना चाहिए /prepare children for advanced Mathematics.

(2) छात्रों के प्रतिदिन के अनुभवों से सम्बन्धित होना चाहिए/relate to children’s everyday experiences.

(3) कार्यविधिक ज्ञान पर केन्द्रित होना चाहिए/focus on procedural knowledge.  

(4) गणितीय संकल्पनाओं में कठोरता देने वाला होना चाहिए/provide rigour in mathematical concepts.

Ans- 2 

Q. यदि एक शिक्षार्थी को संख्याओं और परिकलन में समस्या हो रही है, तो उसमें असमर्थता हो सकती है, जिसका नाम है/If a learner is having problem with numbers porn and calculations she/he may be having disability known as

(1) लेखन-अक्षमता (डिस्याफिया)/dysgraphia

Advertisement

(2) गणितीय-अक्षमता (डिस्कैल्कुलिया)/dyscalculia 

(3) दृश्य-स्थानिक संगठन में असमर्थता/visual-spatial organization disability

(4) पठन-अक्षमता (डिस्लेक्सिया)/dyslexia

Ans- 2 

Q. निम्नलिखित में से कौन-सा कथन “सकंल्पना मानचित्र के बारे में सत्य नहीं है?/Which one of the following statements is not true about ‘concept maps’? 

(1) संकल्पना मानचित्र नए शिक्षण को पूर्व ज्ञान से जोड़ने में सहायक हैं /Concept maps help in linking prior knowledge to new instruction.

(2) संकल्पना मानचित्र अन्तःसम्बन्धित अवधारणाओं और उन्हें जोड़ने वाले लिंक का संग्रह प्रस्तुत करते हैं।/Concept maps represent a collection of interconnected concepts and links connecting them

(3) संकल्पना मानचित्र केवल शिक्षकों द्वारा बनाया जाना चाहिए/Concept maps should be constructed by teacher only  

(4) संकल्पना मानचित्र प्रकृति में पदानुक्रमित हैं।/Concept maps are hierarchical in nature

Ans- 3 

Q. गणित सीखने के सम्बन्ध में निम्नलिखित में से कौन-सा कथन सत्य है?/Which one of the following statements is true with respect to mathematics learning?

(1) गणित केवल कठोर अभ्यास से सीखा जा सकता है/Mathematics can only be learnt by rigorous practice

(2) गणित सीखने के लिए एक कठिन विषय है /Mathematics is a difficult subject to learn

(3) आमतौर पर लड़कियाँ गणित में कमजोर होती हैं/Generally girls are weaker in mathematics

(4) हर कोई गणित सीख सकता है।/Everybody can learn mathematics

Ans- 4

Q. राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा (एन सी एफ), 2005 के अनुसार प्राथमिक स्तर पर गणित शिक्षण का उद्देश्य निम्नलिखित में से कौन-सा नहीं है?/Which of the following is not an objective of teaching Mathematics at primary level according to NCF, 2005? 

(1) गणित में उच्चतर और अमूर्त पढ़ाई की तैयारी कराना /Preparing for learning higher and abstract Mathematics

Advertisement

(2) गणित को बच्चे की जिन्दगी के अनुभवों का भाग बनाना/Making Mathematics part of child’s life experiences 

(3) समस्या समाधान और समस्या प्रस्तुत करने के कौशल को प्रोत्साहित करना/Promoting problem-solving and problem-posing skills 

(4) तर्कसंगत विचारों को प्रोत्साहित करना/Promoting logical thinking

Ans- 1 

इन्हे भी पढे:-

CTET 2022-23: RET Act 2009 से जुड़े ये सवाल दिलाएंगे आपको परीक्षा में उत्तम परिणाम अभी पढ़े!

CTET Exam 2022: परीक्षा मे अधिकतर पूछे जाने वाले ‘समावेशी शिक्षा’ से जुड़े जरूरी सवाल, यहां पढ़ें

उपरोक्त आर्टिकल में हमने ‘गणित’ (CTET Math Questions) से जुड़े महत्वपूर्ण सवालों का अध्ययन किया। केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (CTET) से जुड़ी नवीनतम अपडेट और प्रैक्टिस सेट प्राप्त करने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल के सदस्य बने, जॉइन लिंक नीचे दी गई है

Advertisement

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

CTET

CTET Result 2023: सीटेट Answer Key तथा Result जारी होने की डेट निश्चित, नॉर्मलाइजेशन को लेकर बड़ा अपडेट

Published

on

By

CTET Result 2023
Advertisement

CBSE द्वारा केंद्र सरकार के माध्यम से संचालित स्कूलों में शिक्षकों की भर्ती के लिए आयोजित की जाने वाली केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा 7 फरवरी को समाप्त हो चुकी है. अब इस परीक्षा में शामिल हुए परीक्षार्थी अपनी Answer Key तथा Result जारी होने का इंतजार कर रहे हैं. 

ज़ी मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक सीटेट परीक्षा की प्रोविजनल Answer Key तथा CTET Result 2023 जारी होने की तिथि निश्चित की जा चुकी है तथा जल्द ही अभ्यर्थियों का इंतजार खत्म होने वाला है.

 पहले जारी होगी प्रोविजनल Answer Key

सीबीएसई द्वारा पहले प्रोविजनल Answer Key जारी की जाएगी, जिस पर परीक्षार्थियों को ऑब्जेक्शन दर्ज करने का मौका दिया जाएगा, हालांकि अभ्यर्थियों को आपत्ति दर्ज करने के लिए प्रति प्रश्न ₹1000 शुल्क देना होगा. यदि अभ्यर्थी की आपत्ति सही पाई जाती है तो ऑब्जेक्शन शुल्क अभ्यर्थी को लौटा दिया जाएगा. प्रोविजनल Answer Key पर प्राप्त हुई सभी आपत्तियों का निराकरण सीबीएसई द्वारा गठित एक्सपर्ट टीम द्वारा किया जाएगा, जिसके पश्चात Final Answer Key तथा Result जारी होगा.

Advertisement

6 सप्ताह में आएगा रिजल्ट

केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा का परीक्षा परिणाम जारी होने में अमूमन 6 सप्ताह का समय  लगता है, सीबीएसई की इस बार कोशिश है कि वे तय समय के भीतर परीक्षा परिणाम जारी कर दें. सूत्रों के मुताबिक सीटेट प्रोविजनल Answer Key अगले सप्ताह तक जारी हो जाएगी तो वही सीटेट परीक्षा का Result 21 मार्च 2023 तक अधिकारी वेबसाइट ctet.nic.in पर जारी कर दिया जाएगा.

नॉर्मलाइजेशन को लेकर असमंजस में अभ्यर्थी

केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (CTET) में शामिल हुए अभ्यर्थी नॉर्मलाइजेशन को लेकर असमंजस में है. आपको बता दें कि सीबीएसई द्वारा साल 2021 में पहली बार सीटेट परीक्षा ऑनलाइन सीबीटी मोड में आयोजित की थी. चूकी परीक्षा अलग-अलग दिन शिफ्ट में आयोजित की गई थी लिहाजा परीक्षा में नॉर्मलाइजेशन प्रक्रिया अपनाई गई थी इस बार भी परीक्षा ऑनलाइन ही आयोजित हुई है ऐसे में नॉर्मलाइजेशन प्रक्रिया इस बार भी लागू होगी.

Read More: CTET परीक्षा क्वालीफाई होने के बाद इन स्कूलों में बन सकते हैं सरकारी शिक्षक!

Advertisement

Continue Reading

CTET

CTET परीक्षा क्वालीफाई होने के बाद इन स्कूलों में बन सकते हैं सरकारी शिक्षक!

Published

on

By

After Qualifying CTET Exam Career Options
Advertisement

After Qualifying CTET Exam Career Options: CTET शिक्षण क्षेत्र में करियर बनाने के लिए भारत में एक प्रतिष्ठित परीक्षा है। यह उन उम्मीदवारों के बीच सबसे लोकप्रिय परीक्षा है, जो शिक्षण क्षेत्रों में अपना करियर विकसित करना चाहते हैं। तो उनके लिए यहां पर हम सीटेट परीक्षा में उत्तीर्ण होने के पश्चात अगले चरण की रणनीति पर चर्चा कर रहे हैं। 

केंद्रीय शिक्षक पात्रता (CTET) सरकारी स्कूलों या सरकारी निकायों / संस्थानों द्वारा चलाए जा रहे स्कूलों में शिक्षक भर्ती के लिए पात्रता परीक्षाओं में से एक है। इस परीक्षा का आयोजन साल में दो बार सीबीएसई बोर्ड के द्वारा किया जाता है । इस वर्ष यह परीक्षा 28 दिसंबर 2022 से 7 फरवरी 2023 तक आयोजित की गई थी। जिसमें देशभर से लाखों की संख्या में अभ्यर्थी शामिल हुए।

एक बार जब आप CTET परीक्षा उत्तीर्ण कर लेते हैं, तो आप केंद्र सरकार के स्कूलों जैसे केंद्रीय विद्यालय, DSSSB और नवोदय समिति स्कूलों में प्राथमिक शिक्षकों, TGT और PGT पदों के लिए आवेदन करने के पात्र हो जाते हैं।

Advertisement

केंद्रीय विद्यालय (KVS School Teacher)

केंद्रीय विद्यालय में सरकारी शिक्षक बनने का सपना हर किसी का होता है। वर्तमान समय में केंद्र सरकार के द्वारा 1248 केंद्रीय विद्यालय संचालित किए जा रहे हैं। जिसमें शिक्षकों की भर्ती के लिए सीटेट परीक्षा क्वालीफाई होना अनिवार्य होता है।

जवाहर नवोदय विद्यालय (NVS School Teacher)

मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा संचालित जवाहर नवोदय विद्यालय जो कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति 1986 के तहत शुरू किए गए थे। इन स्कूलों में शिक्षकों की भर्ती हेतु लगभग हर वर्ष टीचिंग एवं नॉन टीचिंग भर्तियां निकाली जाती है। जिसमें टीजीटी पदों पर होने वाली भर्ती के लिए सीटेट परीक्षा क्वालिफाई होना अनिवार्य होता है। हालांकि पीजीटी तथा अन्य पदों के लिए नॉन सीटेट उम्मीदवार भी आवेदन कर सकते हैं।

यूपी सुपर टेट (Super TET Vacancy)

उत्तर प्रदेश में शिक्षकों की भर्ती हेतु सुपर टेट परीक्षा आयोजित की जाती है जिसमें सी टेट सर्टिफिकेट प्राप्त उम्मीदवारों को प्राथमिकता दी जाती है।

आर्मी पब्लिक स्कूल (Army Public School Teacher)

देश में 137 आर्मी पब्लिक स्कूल संचालित किए जा रहे हैं। जोकि आर्मी वेलफेयर एजुकेशन सोसाइटी के द्वारा संचालित किए जा रहे हैं जिसमें लगभग हर वर्ष बड़ी संख्या में पीजीटी तथा टीजीटी एवं पीआरटी शिक्षकों की भर्ती की जाती है। जिसमें सीटेट परीक्षा में सफल अभ्यर्थियों को आवेदन करने का मौका मिलता है ।

DSSSB vacancy

दिल्ली के शासकीय विद्यालयों में शिक्षकों की भर्ती हेतु दिल्ली अधीनस्थ सेवा चयन बोर्ड द्वारा शिक्षकों की भर्ती की जाती है। जिसमें टीजीटी तथा पीआरटी पदों पर भर्ती के लिए सीटेट परीक्षा पास अभ्यर्थियों को आवेदन करने का मौका प्राप्त होता है।

Read More:

CTET Answer Key 2023: शिक्षक पात्रता परीक्षा की आंसर की करें डाउनलोड, जानें कब तक आयेगा परीक्षा परिणाम 

Advertisement

Continue Reading

CTET

UP Teacher Vacancy 2023: योगी सरकार का तोहफा, 51 हजार शिक्षक भर्ती जल्द, CTET-UPTET क्वालीफाई को मिलेगी एंट्री

Published

on

By

Advertisement

UP Shikshak Bharti 2023 (UPDATED): उत्तर प्रदेश में लंबे समय से शिक्षक भर्ती परीक्षा का इंतजार कर रहे अभ्यर्थियों के लिए अच्छी खबर है. उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा परिषद (UPBEB) जल्द ही शिक्षक के 51 हजार से अधिक रिक्त पदों पर बंपर भर्ती निकालने वाला है. नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक लोकसभा चुनाव से पहले योगी सरकार प्रदेश में  माध्यमिक व राजकीय विद्यालयों में रिक्त शिक्षकों के पदों पर भर्ती करने जा रही है.

इतने पदों पर होगी भर्ती

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक बेसिक शिक्षा विभाग में टीजीटी/ पीजीटी शिक्षकों के लगभग 51 हजार से अधिक पद रिक्त हैं, इसके अलावा राजकीय विद्यालयों में शिक्षकों के 7 हजार 471 पद रिक्त हैं. तो वही बात करें प्रवक्ता तथा सहायक अध्यापकों के पदों कि तो बताया जा रहा है प्रवक्ता के 2115 जबकि सहायक अध्यापक के 5256 पद खाली हैं जिनपर भर्ती की जानी है.

CTET-UPTET पास कर सकेंगें आवेदन

Advertisement

उत्तर प्रदेश के प्राइमरी तथा अपर प्राइमरी सरकारी स्कूलों में शिक्षकों की भर्ती सुपर टेट परीक्षा (SUPER TET) के माध्यम से की जाती है, जिसका आयोजन उत्तर प्रदेश बेसिक एजुकेशन बोर्ड द्वारा किया जाता है. सुपर टेट परीक्षा में केवल वे अभ्यर्थी ही शामिल हो सकते हैं जिन्होंने यूपी टेट परीक्षा (Uttar Pradesh Teacher Eligibility TestUPTET) पास की हो.  बहुत से अभ्यर्थियों के मन में यह सवाल भी रहता है कि क्या सीटेट परीक्षा क्वालीफाई अभ्यर्थी यूपी शिक्षक भर्ती परीक्षा में शामिल हो सकते हैं? 

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश शिक्षक भर्ती परीक्षा यानी सुपर टेट में शामिल होने के लिए उम्मीदवार को किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक डिग्री तथा टीचिंग ट्रेनिंग कोर्स (D.El.Ed, BTC, B.Ed. आदि) पास किया होना चाहिए साथ ही UPBEB द्वारा आयोजित यूपी टेट परीक्षा पास होना जरूरी है. इसके अलावा पेपर -1 के लिए सीटेट पास अभ्यर्थी भी सुपर टेट परीक्षा देने के पात्र होते हैं. 

यदि बात करें आयु सीमा की तो न्यूनतम 21 वर्ष से लेकर अधिकतम 40 वर्ष की आयु वाले अभ्यर्थी सुपर टेट परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं हालांकि उत्तर प्रदेश के मूल निवासी अभ्यर्थियों को कैटेगरी वाइज अधिकतम आयु में छूट का प्रावधान है अधिक जानकारी के लिए आधिकारिक नोटिफिकेशन पढ़ें.

इच्छुक उम्मीदवार आधिकारिक वेबसाइट ctet.nic.in पर जाकर अपना आवेदन सबमिट कर सकते हैं. सीटेट परीक्षा पास करने पर उम्मीदवार सुपर टेट के साथ ही केंद्र सरकार द्वारा संचालित केंद्रीय विद्यालय, नवोदय विद्यालय तथा आर्मी पब्लिक स्कूल आदि में निकलने वाली शिक्षकों की भर्ती में भी शामिल हो सकते हैं.

कब आएगा यूपीटीईटी नोटिफ़िकेशन? (UPTET 2023 Notification Update)

उत्तर प्रदेश में शिक्षक बनने की चाह रखने वाले लाखों अभ्यर्थी उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी यूपीटीईटी के नोटिफिकेशन का इंतजार कर रहे हैं नवीनतम मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यूपीटीईटी परीक्षा का नोटिफिकेशन फ़रवरी 2023 के अंतिम सप्ताह या मार्च के पहले सप्ताह तक जारी किया जा सकता है। नोटिफिकेशन जारी होने के बाद अभ्यर्थी आधिकारिक वेबसाइट updeled.gov.in पर जाकर आवेदन कर पाएंगे. जिसके बाद अप्रैल महीने में ऑनलाइन मोड में UPTET परीक्षा आयोजित की जाएगी.

अधिक जानकारी के लिए अभ्यर्थी लगातार शिक्षा विभाग की वेबसाइट पर विजिट करते रहें बता दें कि यूपीटीईटी परीक्षा में शामिल होने के लिए अभ्यर्थी की उम्र 18 साल या उससे अधिक होनी चाहिए इसके साथ ही बैचलर डिग्री या समकक्ष डिप्लोमा होना जरूरी है।

Read More:

CTET Exam 2023: ‘अल्बर्ट बंडूरा के सिद्धांत’ से जुड़े कुछ ऐसे सवाल ही पूछे जा रहे हैं सीटेट परीक्षा की सभी शिफ्टों में

Advertisement

Continue Reading

Trending