Connect with us

CTET

CTET 2022: दिसंबर माह में आयोजित सीटेट परीक्षा में पूछे जा सकते हैं ‘पर्यावरण अध्ययन’ के कुछ ऐसे प्रश्न!

Published

on

CTET Environment Study MCQ Test
Advertisement

CTET Environment Study MCQ Test: ऑनलाइन मोड में आयोजित होने वाली सीटेट परीक्षा दिसंबर से जनवरी माह में आयोजित की जाएगी। देश की सबसे बड़ी शिक्षक पात्रता परीक्षा में शामिल इस परीक्षा में लाखों की संख्या में अभ्यर्थी शामिल होंगे। लिहाजा अभ्यर्थियों के मध्य प्रतिस्पर्धा कड़ी रहने वाली है। ऐसे में अच्छे अंकों के साथ सफलता प्राप्त करने के लिए अभ्यर्थियों को रणनीति के तहत पढ़ाई करना बेहद आवश्यक हो जाता है। यहां पर हम एग्जाम पैटर्न पर आधारित पर्यावरण अध्ययन के महत्वपूर्ण प्रश्न (CTET Environment Study MCQ Test) आपके साथ शेयर कर रहे हैं जो कि इस प्रकार हैं।

पर्यावरण अध्ययन की ऐसे प्रश्न जो सीटेट परीक्षा की दृष्टि से है महत्वपूर्ण—Top 15 Important Questions Environment Study CTET Exam

1. In class III, a teacher Joseph while teaching the chapter ‘Food we eat’ asks students to discuss what they ate yesterday. What is the objective of this discussion?/कक्षा III में ‘हमारा भोजन’ नामक अध्याय को पढ़ाते समय शिक्षक जोसफ विद्यार्थियों से आपस में चर्चा करने को कहते हैं कि उन्होंने कल क्या खाया था। इस चर्चा का क्या उद्देश्य है? 

A. Sharing with peers what they ate/अपने साथियों से साझा करना कि उन्होंने क्या खाया

Advertisement

B. Sharing aspects on food diversity/भोजन की विविधता के पहलुओं को साझा करना

C. Sharing what is balanced diet/ संतुलित आहार क्या है, इसकी चर्चा करना

D. Sharing what is normal to eat/करना कि क्या खाना सामान्य है

Ans- B 

2. In class 4, chapter 5 ‘Antia and the Honeybees’, a true story of Anita Khushwaha has been narrated highlighting her as a ‘girl star’. What is the most appropriate objective of such an initiative?/

कक्षा 4, पांचवां अध्याय ‘अनिता एवं मधुमक्खियां’ में अनिता खुशवाहा नाम की एक लड़की की सच्ची कहानी है जिसमें उसका वर्णन एक ‘बालिका सितारा’ के रूप में उजागर किया गया है। इस प्रकार की पहल का सर्वाधिक उपयुक्त उद्देश्य क्या है?

A. Showing how girls are happy and underline the much needed support to them/दर्शाना कि लड़कियाँ कैसे खुश होती हैं एवं उनको प्रोत्साहित करने पर अत्यधिक बल देना 

B. Showing girl power is dynamic and speaks volumes about equality and empowerment./यह दर्शाना कि नारी शक्ति बालिका शक्ति किस प्रकार गतिशील है तथा समानता एवं सशक्तिकरण को प्रदर्शित करती है।

C. Showing how girls are ignorant and need guidance/दर्शाना कि किस प्रकार लड़कियां अनभिज्ञ होती हैं एवं उन्हें उचित मार्गदर्शन की आवश्यकता होती है।

D. Showing how girls are a burden on their family and society/दर्शाना कि किस प्रकार लड़कियाँ परिवार एवं समाज पर बोझ होती हैं।

Ans- B 

3. In class IV, the chapter on ‘The world in my home’ a story on Akshay tells about how his grandmother tells him not to eat or drink at Anil’s home. What important message children learn from this story?/

कक्षा 4 के अध्याय ‘दुनिया मेरे घर में नामक कहानी अक्षय के बारे में है, जो बताता है कि कैसे उसकी दादी उसे अनिल के घर कुछ भी खाने या पीने के लिए मना करती हैं। इस कहानी से बच्चों को कौन-सी महत्वपूर्ण शिक्षा मिलती है?

A. Existence of equality and harmony in our society/हमारे समाज में समानता और सामंजस्य का अस्तित्व

B. Existence of caste discrimination and untouchability/जाति भेदभाव एवं अस्पृश्यता का अस्तित्व

Advertisement

C. Existence of communalism/साम्प्रदायिकता का अस्तित्व

D. Existence of religious discrimination/धार्मिक भेदभाव का अस्तित्व

Ans- B 

4. Which one of the following statements define peer assessment in EVS?/निम्नलिखित में से कौनसा कथन EVS में सहपाठी आकलन को परिभाषित करता है?

A. It focuses on a student’s own assessment of her learning and progress in knowledge/यह शिक्षा एवं ज्ञानवर्धन पर विद्यार्थी के स्वयं के आकलन पर केंद्रित करता है।

B. It focuses on a student while she is doing an activity/यह विद्यार्थी के कार्य करते समय उस पर केंद्रित होता है।

C. It focuses on students assessing other students in pairs or in groups/विद्यार्थियों पर केंद्रित होता है जब वो दूसरे विद्यार्थियों का आकलन जोड़ों में या समूह में कर रहे हों।

D. It focuses on the learning and progress of group of studentsविद्यार्थियों के समूह में शिक्षा एवं प्रगति पर केन्द्रित होता है।

Ans- C 

5. In class III, chapter ‘Work We Do’, the story of Deepali is to focus on:/कक्षा III के अध्याय ‘हम चीज़ें कैसे बनाते हैं’ में दीपावली की कहानी किस पर केंद्रित है?

A. The concept of dignity of labour/शारीरिक श्रम की मर्यादा की अवधारणा

B. The concept of equal pay for equal work/समान कार्य के लिए समान पारिश्रामिक / वेतन की अवधारणा

C. The concept of gender bias in household work/घरेलू कामकाज में लिंग संबंधी भेदभाव की अवधारणा

D. The concept of profession/व्यवसाय की अवधारणा

Ans- C

6. Oral history is an important means to collate experiences of specific groups of the society. In this context indicate the statement that best illustrates its usage:/मौखिक इतिहास, समाज के विशिष्ट समूहों के अनुभवों का समन्वय करने का महत्वपूर्ण साधन है। इस संदर्भ में, इंगित कीजिए कि कौन-सा कथन इसके उपयोग को सबसे अच्छी तरह दर्शाता है।

A. Teacher asks students to orally learn historical facts about India’s independence./शिक्षक छात्रों को भारत की स्वतंत्रता से संबंधित ऐतिहासिक तथ्यों को मौखिक रूप से याद करने को कहते हैं।

B. Teacher asks students to give an oral presentation of India’s history. /शिक्षक छात्रों से भारत के इतिहास का मौखिक प्रस्तुतीकरण करने को कहते हैं।

Advertisement

C. Teacher asks students to collect experiences of grandparents about the freedom struggle./ शिक्षक अपने छात्रों से उनके दादा-दादी / नाना-नानी के स्वतंत्रता संग्राम के अनुभवों को एकत्र करने को कहते हैं।

D. Teacher asks students to orally list the names of famous freedom fighters./ शिक्षक छात्रों से प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानियों के नामों की सूची मौखिक रूप से प्रस्तुत करने को कहते हैं।

Ans- C 

7. Mapping skills are essential for a student to understand space. Suggest which of the following statements about maps are correct:/ स्थान- विशेष को समझने के लिए बच्चों को मानचित्र बनाने की कला का ज्ञान आवश्यक है। प्रस्तुत वाक्यों में से कौनसा मानचित्र के बारे में सही है?

A) A map is always made assuming that a person is looking at a place from the ground./मानचित्र सदैव यह मानकर बनाया जाता है कि व्यक्ति किसी स्थान को ज़मीन से देख रहा है।

B) We use symbols to show objects, walls, roads etc./ वस्तुओं, दीवारों, सड़कों आदि के लिए हम चिन्हों का प्रयोग करते हैं।

C) We measure actual distances and depict the same./ हम वास्तविक दरियाँ नाप कर उन्हीं को दर्शाते हैं।

D) The north in a map is always towards the top margin./ मानचित्र में उत्तर दिशा सदैव सबसे ऊपर के हाशिए पर होती है।

A. A & C

B. B & D

C. C & D

D. A & D

Ans- B

8. Which of the following is the best resource to discuss the issue ‘water scarcity’ and its impact on any region:/निम्नलिखित में से कौनसा साधन जल के अभाव एवं इसका किसी क्षेत्र पर पड़ने वाले प्रभाव की चर्चा का सर्वोत्तम माध्यम है?

A. Textbooks/ पाठ्य पुस्तकें

B. Audio aids/श्रव्य साधन

C. Encyclopaedia/विश्वकोष

D. Newspaper reports/सामाचार पत्र की रिपोर्ट्स

Advertisement

Ans- D 

9. Which of the following statements is true in relation to the students learning EVS?/विद्यार्थियों के EVS सीखने के संदर्भ में, निम्न में से कौन-सा कथन सही है?

A. Students are ’empty vessels’ or ‘blank slates’ to be filled up with information that the school only can give./विद्यार्थी ‘रिक्त पात्र’ अथवा ‘कोरे कागज’ की भाँति होते हैं जिनको जानकारी व ज्ञान से भरना होता है जो एक विद्यालय ही दे सकता है।

B. All students are same and they respond similarity while learning/सभी विद्यार्थी एक समान होते हैं तथा सीखते समय उनकी प्रतिक्रिया एक जैसी होती है।

C. Students learn in a linear way. This new leaning is to be derived from the preceding facts and information/विद्यार्थी रैखिक रूप से सीखते हैं। अतः नया ज्ञान पिछले तथ्यों व जानकारी से ही प्राप्त होता है। 

D. Students learn in a spiral way. Every student is a unique individual, she/he learns and respond to situations in her/his own way./विद्यार्थियों के सीखने का तरीका सर्पिल पेंचदार होता है। प्रत्येक बच्चा अद्वितीय होता है। वह परिस्थितियों से सीखना व प्रतिक्रिया अपने ढंग से देता है।

Ans- D 

10. Portfolio is an important assessment tool for assessing students’ learning. Which among the following statements defines portfolios in the more appropriate manner?/विद्यार्थियों के सीखने का मूल्यांकन करने के लिए फाइल या पोर्टफोलियो एक महत्वपूर्ण उपकरण है। निम्न में से कौन-सा वाक्य पोर्टफोलियो को सर्वाधिक उपयुक्त से परिभाषित करता है?

A. Information is gathered about students in natural settings. It could be based on teacher’s observation about students in the course of teaching./विद्यार्थियों के विषय में जानकारी उनके स्वाभाविक परिवेश में एकत्र होती है। इसका आधार पढ़ाने की क्रिया में शिक्षक का अवलोकन हो सकता है। 

B. It involves collection and analysis of data undertaken once a period of time./इसमें एक निश्चित समय में एकत्र व विश्लेषित किए गए आंकड़े होते हैं। 

C. A systematic way of recording specific behaviour that helps focus attention on particular aspects./व्यवस्थित ढंग से विशेष व्यवहार को अंकित करना जिससे विशिष्ट पहलू पर ध्यान केन्द्रित हो सके।

D. Collection of a student’s work over a period of time. Usually, day-to-day work or selection of the student’s best piece of work./एक निश्चित समय में विद्यार्थी के कार्यों को एकत्र करना – अधिकतर दिन-प्रतिदिन के कार्य या विद्यार्थी के सर्वोत्तम कार्य को चुन लेना।

Ans- D 

11. Conflict issues surface quite often in the classroom. As a teacher, when a student brings about a socio-cultural issue for discussion, how would you respond?/कक्षा में विरोध की परिस्थिति अक्सर उजागर होती हैं। जब कोई छात्र किसी सामाजिक-सांस्कृतिक विषय पर चर्चा प्रारंभ करता है, तब एक शिक्षक के रूप में आपकी क्या प्रतिक्रिया होगी?

A. Tell the student to not get distracted and focus on theme under study./आप छात्र से कहेंगे कि ध्यान भंग न करे एवं अध्ययन के विषय पर ध्यान केन्द्रित करे। 

B. Tell the students to discuss this issue after the class with you./छात्र से कहेंगे कि वह कक्षा के उपरान्त आपसे इस विषय पर चर्चा करे।

C. Tell the student to ask his/her parents and not bring it to the school./छात्र से कहेंगे कि वह अपने माता-पिता से पूछे व विद्यालय में इस विषय को न उठाए।

D. Tell the student to share his/her experience and try to address the same in the class./छात्र से कहेंगे कि अपने अनुभव साझा करे और कक्षा में इस विषय पर संबोधन करे।

Advertisement

Ans- D 

12. A teacher is keen that students develop an understanding about plants. What among the following does she need to do?/एक अध्यापिका की इच्छा है कि उसके छात्रों में वनस्पतियों के बारे में समझ व ज्ञान विकसित हो, इसके लिए उसे निम्न में से क्या करना चाहिए?

A. Tells students to memorise names of plants and share in the class./वह छात्रों से पौधों के नाम कंठस्थ करके कक्षा में बताने को कहे।

B. Tells students to ask their parents about varieties of plants./छात्रों से कहे कि वह विभिन्न प्रकार के पौधों के बारे में अपने माता-पिता से पूछे।

C. Tells students to accompany her in the school garden and identifies all plants./छात्रों को अपने साथ विद्यालय के बगीचे में चलने को कहे तथा वहाँ पर सभी पौधों की पहचान करने को कहे।

D. Tells students to watch videos on their own and identify the plants/छात्रों से कहे कि वह स्वयं वीडियो देखकर पौधों की पहचान करें।

Ans- C 

13. Farah while teaching the theme ‘Means of communication’ to class III students uses which of the following strategies to encourage inquiry among learns?/कक्षा 3 के छात्रों को ‘संचार के माध्यम’ विषय पढ़ाते समय फ़राह अपने छात्रों में अन्वेषण को प्रोत्साहित करने के लिए निम्न में से कौन-सी नीतियों का उपयोग करेंगी?

A) Asks students to collect and classify pictures of means of communication/छात्रों से कहेंगी कि वे संचार के माध्यमों के चित्र एकत्र करें व उन्हें वर्गीकृत करें।

B) Shows a video of means of communication/संचार के माध्यमों पर एक वीडियो दिखाएँगी। 

C) Asks students to narrate their experiences of means of communication and discusses with them/छात्रों से कहेंगी कि वे संचार के माध्यमों पर अपने अनुभव बताएँ एवं उन पर चर्चा करें। 

D) Shows a presentation on means of communication/के माध्यमों पर एक पावर पॉइंट प्रस्तुतीकरण दिखाएँगी।

A. A & B/A तथा B

B. A & D/A तथा D

C. A & C /A तथा C

D. A only/ केवल A

Ans- C 

14. In class III chapter ‘Flying High’ while discussing the topic birds, a teacher Tina asks students to observe bird and their characteristics in their surroundings. The purpose of this activity is to:/कक्षा 3 के अध्याय ‘ऊँची उड़ान’ में पक्षियों के विषय पर चर्चा करते हुए, शिक्षक टीना छात्रों से कहती हैं कि वे अपने आस- पास पक्षियों व उनकी विशेषताओं का अवलोकन करें। इस क्रियाकलाप का लक्ष्य है.

Advertisement

A. Develop information base on birds among students/छात्रों में पक्षियों से संबंधित जानकारी का आधार विकसित करना।

B. Develop knowledge base about birds among students/छात्रों में पक्षियों के बारे में ज्ञान का आधार विकसित करना।

C. Develop interest of students in birds/छात्रों में पक्षियों के प्रति रुचि विकसित करना।

D. Develop scientific understanding of birds by students/छात्रों में पक्षियों के बारे में वैज्ञानिक समझ विकसित करना।

Ans- C 

15. (Seema, an EVS teacher asked students to collect object around them like metal pen, steel spoon plastic spoon and put the objects one by one in a bucket of water and observe whether they float or sink. Students asked her why steel spoon sinks, but plastic spoon floats. She did not think it was necessary to introduce ‘density’ to explain to them, because/सीमा, एक EVS अध्यापिका, छात्रों का अपने आस-पास की वस्तुओं को संग्रहित करने के लिए कहती हैं। उन वस्तुओं, जैसे धातु का पैन, स्टील की चम्मच, प्लास्टिक की चम्मच आदि को पानी की बाल्टी में डालकर देखें कि वे तैरती हैं अथवा डूबती हैं। छात्रों ने पूछा कि स्टील की चम्मच क्यों डूबी और प्लास्टिक की चम्मच क्यों तैरती रही? वे छात्रों को ‘घनत्व’ के बारे में बताना आवश्यक नहीं समझतीं, क्योंकि –

A. they cannot remember the concept of density./वे घनत्व का प्रत्यय याद नहीं रख पायेंगे।

B. they form alternate conceptions about density./वे घनत्व की वैकल्पिक अवधारणाएं बना लेंगे।

C. they will learn ‘density’ on higher classes./वे घनत्व उच्च कक्षाओं में पढ़ेंगे।

D. they cannot conduct activities related to ‘density’ to understand it./वे घनत्व को समझने के लिए उससे संबंधित क्रियाकलाप नहीं कर सकते।

Ans- B 

Read More:-

CTET 2022: ‘संस्कृत पेडागॉजी’ के इन सवालों के माध्यम से चेक करें सीटेट परीक्षा की अपनी तैयारी!

CTET 2022: सीटेट परीक्षा में शामिल होने से पहले ‘हिंदी पेडागॉजी’ के इन सवालों का अध्ययन जरूर करें

Advertisement

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

CTET

UP Teacher Vacancy 2023: योगी सरकार का तोहफा, 51 हजार शिक्षक भर्ती जल्द, CTET-UPTET क्वालीफाई को मिलेगी एंट्री

Published

on

By

Advertisement

UP Shikshak Bharti 2023 (UPDATED): उत्तर प्रदेश में लंबे समय से शिक्षक भर्ती परीक्षा का इंतजार कर रहे अभ्यर्थियों के लिए अच्छी खबर है. उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा परिषद (UPBEB) जल्द ही शिक्षक के 51 हजार से अधिक रिक्त पदों पर बंपर भर्ती निकालने वाला है. नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक लोकसभा चुनाव से पहले योगी सरकार प्रदेश में  माध्यमिक व राजकीय विद्यालयों में रिक्त शिक्षकों के पदों पर भर्ती करने जा रही है.

इतने पदों पर होगी भर्ती

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक बेसिक शिक्षा विभाग में टीजीटी/ पीजीटी शिक्षकों के लगभग 51 हजार से अधिक पद रिक्त हैं, इसके अलावा राजकीय विद्यालयों में शिक्षकों के 7 हजार 471 पद रिक्त हैं. तो वही बात करें प्रवक्ता तथा सहायक अध्यापकों के पदों कि तो बताया जा रहा है प्रवक्ता के 2115 जबकि सहायक अध्यापक के 5256 पद खाली हैं जिनपर भर्ती की जानी है.

CTET-UPTET पास कर सकेंगें आवेदन

Advertisement

उत्तर प्रदेश के प्राइमरी तथा अपर प्राइमरी सरकारी स्कूलों में शिक्षकों की भर्ती सुपर टेट परीक्षा (SUPER TET) के माध्यम से की जाती है, जिसका आयोजन उत्तर प्रदेश बेसिक एजुकेशन बोर्ड द्वारा किया जाता है. सुपर टेट परीक्षा में केवल वे अभ्यर्थी ही शामिल हो सकते हैं जिन्होंने यूपी टेट परीक्षा (Uttar Pradesh Teacher Eligibility TestUPTET) पास की हो.  बहुत से अभ्यर्थियों के मन में यह सवाल भी रहता है कि क्या सीटेट परीक्षा क्वालीफाई अभ्यर्थी यूपी शिक्षक भर्ती परीक्षा में शामिल हो सकते हैं? 

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश शिक्षक भर्ती परीक्षा यानी सुपर टेट में शामिल होने के लिए उम्मीदवार को किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक डिग्री तथा टीचिंग ट्रेनिंग कोर्स (D.El.Ed, BTC, B.Ed. आदि) पास किया होना चाहिए साथ ही UPBEB द्वारा आयोजित यूपी टेट परीक्षा पास होना जरूरी है. इसके अलावा पेपर -1 के लिए सीटेट पास अभ्यर्थी भी सुपर टेट परीक्षा देने के पात्र होते हैं. 

यदि बात करें आयु सीमा की तो न्यूनतम 21 वर्ष से लेकर अधिकतम 40 वर्ष की आयु वाले अभ्यर्थी सुपर टेट परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं हालांकि उत्तर प्रदेश के मूल निवासी अभ्यर्थियों को कैटेगरी वाइज अधिकतम आयु में छूट का प्रावधान है अधिक जानकारी के लिए आधिकारिक नोटिफिकेशन पढ़ें.

इच्छुक उम्मीदवार आधिकारिक वेबसाइट ctet.nic.in पर जाकर अपना आवेदन सबमिट कर सकते हैं. सीटेट परीक्षा पास करने पर उम्मीदवार सुपर टेट के साथ ही केंद्र सरकार द्वारा संचालित केंद्रीय विद्यालय, नवोदय विद्यालय तथा आर्मी पब्लिक स्कूल आदि में निकलने वाली शिक्षकों की भर्ती में भी शामिल हो सकते हैं.

कब आएगा यूपीटीईटी नोटिफ़िकेशन? (UPTET 2023 Notification Update)

उत्तर प्रदेश में शिक्षक बनने की चाह रखने वाले लाखों अभ्यर्थी उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी यूपीटीईटी के नोटिफिकेशन का इंतजार कर रहे हैं नवीनतम मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यूपीटीईटी परीक्षा का नोटिफिकेशन फ़रवरी 2023 के अंतिम सप्ताह या मार्च के पहले सप्ताह तक जारी किया जा सकता है। नोटिफिकेशन जारी होने के बाद अभ्यर्थी आधिकारिक वेबसाइट updeled.gov.in पर जाकर आवेदन कर पाएंगे. जिसके बाद अप्रैल महीने में ऑनलाइन मोड में UPTET परीक्षा आयोजित की जाएगी.

अधिक जानकारी के लिए अभ्यर्थी लगातार शिक्षा विभाग की वेबसाइट पर विजिट करते रहें बता दें कि यूपीटीईटी परीक्षा में शामिल होने के लिए अभ्यर्थी की उम्र 18 साल या उससे अधिक होनी चाहिए इसके साथ ही बैचलर डिग्री या समकक्ष डिप्लोमा होना जरूरी है।

Read More:

CTET Exam 2023: ‘अल्बर्ट बंडूरा के सिद्धांत’ से जुड़े कुछ ऐसे सवाल ही पूछे जा रहे हैं सीटेट परीक्षा की सभी शिफ्टों में

Advertisement

Continue Reading

CTET

CTET Answer Key 2023: शिक्षक पात्रता परीक्षा की आंसर की करें डाउनलोड, जानें कब तक आयेगा परीक्षा परिणाम 

Published

on

By

Advertisement

CTET Answer Key 2023: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड याने CBSE द्वारा आयोजित की जाने वाली CTET परीक्षा आज 7 फ़रवरी को पूरी हो चुकी है, यह परीक्षा 28 दिसंबर अग़ल-अलग दिन दो शिफ्ट में आयोजित की जा रही है जिसमें शिक्षक बनने की चाह रखने वाले लाखों अभ्यर्थी शामिल हुए है। अब परीक्षा की समाप्ति के बाद अभ्यर्थी अपनी आंसर की जारी होने का इंतज़ार कर रहे है, बता दें कि परीक्षा समाप्ति के कुछ दिन के भीतर ही CBSE द्वारा आंसर की जारी कर दी जाती है।

इस दिन जारी होगी आंसर की 

CTET परीक्षा में शामिल हुए अभ्यर्थियों का इंतज़ार जल्द ही ख़त्म होने वाला है मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक़ CBSE द्वारा 11 फ़रवरी 2023 को आधिकारिक वेबसाइट ctet.nic.in पर CTET पेपर 1 तथा पेपर 2 की आंसर की जारी कर दी जाएगी। इसके बाद मार्च माह में फाइनल आंसर-की तथा परीक्षा परिणाम जारी किया जा सकता है।

बता दें आंसर की लिंक ऐक्टिव होने के बाद उम्मीदवार अपने रजिस्ट्रेशन नंबर तथा जन्म तारीख़ की सहायता से आधिकारिक वेबसाइट पर लॉगिन कर अपनी उत्तर कुंजी डाउनलोड कर पाएँगें।

Advertisement

परीक्षा में लागू होगा नॉर्मलिज़ेशन

सीबीएसई द्वारा दिसंबर 2021 में पहली बार CTET परीक्षा ऑनलाइन आयोजित की गई थी, तथा इस बार भी यह परीक्षा ऑनलाइन ही आयोजित हुई है। चुकी परीक्षा का आयोजन अलग- अगल दिन कई शिफ़्टों में किया गया है लिहाज़ा परीक्षार्थियों के मध्य समान प्रतिस्पर्द्धा क़ायम रखने के लिए नॉर्मलिज़ेशन व्यवस्था को लागू किया गया है। बता दें कि परीक्षा में नॉर्मलिज़ेशन होने की जानकारी CBSE द्वारा नोटिफिकेशन जारी कर पहले ही दे दी गई थी। 

CTET Exam Cut Off 2023

सीटीएटी परीक्षा में कैटेगरी वाइज कटऑफ़ निर्धारित किया गया है। पेपर 1 तथा पेपर 2 के लिए कट ऑफ अंक समान है। सामान्य वर्ग के अभ्यर्थी को इस परीक्षा में पास होने के लिए 60 प्रतिशत अंक याने 150 नंबर के पेपर में 90 अंक लाना होगा, जबकि आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों को 55 प्रतिशत अंक यानें 150 अंक के पेपर में 82 अंक लाना होगा।

CategoryMinimum qualifying percentageMinimum qualifying Marks
Schedule Caste (SC)55%82 out of 150
Schedule Tribe (ST)55%82 out of 150

CTET Exam 2023 Important FAQs

क्या सीटीईटी परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग होती है?

नहीं, CBSE द्वारा आयोजित सीटीईटी परीक्षा में किसी भी प्रकार की नकारात्मक मार्किंग नहीं की जाती है।

सीटीईटी सर्टिफिकेट की वैद्यता कितने वर्ष होती है?

आजीवन, CTET परीक्षा पास करने वालों अभ्यर्थियों को मिलने वाले सर्टिफिकेट की वैद्यता लाइफ टाइम कर दी गई है जो पहले 7 वर्ष थी।

सीटीईटी परीक्षा में शामिल होने के लिए आयु सीमा क्या है?

इस परीक्षा में शामिल होने के लिए अधिकतम उम्र सीमा निर्धारत नहीं है, हालाकि न्यूनतम आयु 18 वर्ष होना चाहिए।

सीटीईटी परीक्षा कितने बार दे सकते है?

उम्मीदवार जीतने बार चाहे उतने बार सीटीईटी परीक्षा में शामिल हो सकते है, जो अभ्यर्थी इस परीक्षा में पास हो चुके है वे अपने स्कोर को सुधार के लिए दुबारा परीक्षा दे सकते है।

Advertisement

Continue Reading

CTET

CTET 2022-23: लेव वाइगोत्सकी के सिद्धांत से परीक्षा में पूछे जा रहे है ये सवाल, अभी पढ़ें

Published

on

Lev Vygotsky's Theories Based MCQ For CTET
Advertisement

Lev Vygotsky’s Theories Based MCQ For CTET: शिक्षक बनने के लिए जरूरी सीटेट यानी केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा का आयोजन 7 फरवरी 2023 तक ऑनलाइन सीबीटी मोड में किया  जा रहा है.  यह परीक्षा 29 दिसंबर 2023 से शुरू हुई थी तथा अब 3, 4, 6  तथा 7 फरवरी को परीक्षा का आयोजन होना बाकी है.  यदि आप भी आगामी सीटेट परीक्षा में शामिल होने जा रहे हैं तो इस आर्टिकल में दी गई जानकारी आपके लिए बेहद महत्वपूर्ण हैं.

यहां पर हम नियमित रूप से सीटेट परीक्षा के लिए प्रैक्टिस सेट शेयर करते रहे हैं। इसी श्रृंखला में आज हम लेव वाइगोत्सकी के सिद्धांत पर आधारित कुछ ऐसे सवाल लेकर आए हैं, जो की परीक्षा में पूछे जा सकते हैं। तो लिए जाने इन महत्वपूर्ण सवालों को जो की इस प्रकार हैं।

Read More: CTET 2023: हर शिफ्ट में पूछे जा रहे है ‘जीन पियाजे’ के सिध्दांत से ये सवाल, इन्हें पढ़ कर पक्के करे नंबर

Advertisement

 लेव वाइगोत्सकी के सिद्धांत से जुड़े संभावित प्रश्न—CTET Exam Lev Vygotsky’s Theories Related Questions

1. लेव वाइगोत्स्की के अनुसार, निम्न में से किसके लिए “समीपस्थ विकास क्षेत्र” का इस्तेमाल करना चाहिए?

1. अध्यापन और मूल्याँकन

2. केवल अध्यापन

3. केवल मूल्यांकन

4. प्रवाही बौद्धिकता की पहचान

Ans- 1 

2. एक विशिष्ट संप्रत्यय को पढ़ाने हेतु एक अध्यापिका बच्चे को आधा हल किया हुआ उदाहरण देती है। लेव वायगोत्सकी के अनुसार अध्यापिका किस रणनीति का इस्तेमाल कर रही है?

1. अवलोकन अधिगम

2. पाड़

3. द्वंद्वात्मक अधिगम

4. अनुकूलन

Ans- 2 

3. ‘समीपस्थ विकास के क्षेत्र का संप्रत्यय किसने प्रतिपादित किया है?

1. जेरोम ब्रूनर

2. डेविड ऑसबेल

Advertisement

3. रोबर्ट एम. गायने

4 लेव व्यागोत्सकी

Ans- 4

4. रश्मि अपनी कक्षा में विद्यार्थियों के सीखने की क्षमता को ध्यान में रखकर विभिन्न प्रकार के कार्यकलापों का उपयोग करती है और सहपाठियों द्वारा अधिगम को बढ़ावा देने के लिए समूह भी बनाती है। निम्नलिखित में से कौन-सा इसका समर्थन करता है?

1. सिग्मंड फ्रॉयड का मनो यौनिक सिद्धांत

2. लेव वायगोत्सकी का सामाजिक सांस्कृतिक सिद्धांत

3. लॉरेंस कोहलबर्ग का नैतिक विकास का सिद्धांत

4. बी. एफ. स्किनर का व्यवहारवादी सिद्धांत

Ans- 2 

5. वायोगात्सकी के सिद्धांत के अनुसार ‘निजी संवाद’ 

1. बच्चों के आत्मकेंद्रीयता का घोतक है।

2. बच्चों के क्रियाकलापों और व्यवहार का अवरोधक है।

3. जटिल कार्य करते समय बच्चे को उसके व्यवहार संचालन में सहायता देता है।

4. यह संकेत देता है कि संज्ञान कभी भी आंतरिक नहीं होता।

Ans- 3 

6. कौन सा कथन लेव व्यागोत्सकी के मूल सिद्धांत को सही मायने में दर्शाता है?

1. अधिगम एक अन्तमन प्रक्रिया है।

2. अधिगम एक सामाजिक क्रिया है।

Advertisement

3. अधिगम उत्पतिमूलक क्रमादेश है। 

4. अधिगम एक अक्रमबद्ध प्रक्रिया है जिसके चार चरण है।

Ans- 2 

7. इनमें से कौन-सा अध्यापक द्वारा पाड़ का उदाहरण नहीं है?

1. अनुकरण के लिए कौशलों का प्रदर्शन करना

2. रटना

3. इशारे एवं संकेत

4. सहपाठियों संग साझा शिक्षण

Ans- 2 

8. लेव वायगोत्सकी के संज्ञानात्मक विकास के सिद्धांत को ……….. कहा जाता है क्योंकि वे तर्क देते हैं कि बच्चों का सीखना संदर्भ में होता है।

1. मनोगतिशील

2. मनोलैंगिक

3. सामाजिक सांस्कृतिक

4. व्यवहारात्मक

Ans- 3 

9. जब कोई अध्यापिका किसी विद्यार्थी को उसके विकास के निकटस्थ क्षेत्र पर पहुंचाने के लिए सहायता को उसके निष्पादन के वर्तमान स्तर के अनुरूप है, तो अध्यापिका किस नीति का प्रयोग कर रही है। कर रही है।

1. सहयोगात्मक अधिगम का प्रयोग

2. अंतर पक्षता का प्रदर्शन

Advertisement

3. पाड़

4. विद्यार्थी में संज्ञानात्मक द्वंद पैदा करना

Ans- 3

10. लेव वायगोत्सकी द्वारा दिए बच्चों के विकास का सिद्धांत किस पर आधारित है ?

1. भाषा और संस्कृति

2. भाषा और परिपक्वता

3. भाषा और भौतिक जगत

4. परिपक्वता और संस्कृति

Ans- 1

11.समीपस्थ विकास के क्षेत्र’ की संरचना किसने प्रतिपादित की थी?

1. लॉरेंस कोहल

2. लेव वायगोत्स्की

3. ज़ोरोंन ब्रूनर

4. जीन पियाजे

Ans- 2 

12. निम्न में से कौन-सा कथन बच्चों के संज्ञानात्मक विकास के विषय में जीन पियाजे और लेव वायगोत्सकी के विचारों के बीच मुख्य अंतर दर्शाता है?

1. पियाजे बच्चों के स्वतंत्र प्रयासों द्वारा जगत को अनुभव करने पर जोर देते हैं, जबकि वायगोत्स्की संज्ञानात्मक विकास को सामाजिक मध्यस्थ प्रक्रिया के रूप में देखते हैं। 

2. पियाजे बच्चों को सक्रिय स्वतंत्र जीव के रूप में देखते हैं, जबकि वायगोत्स्की उन्हें मुख्यतः वातावरण द्वारा नियंत्रित जीव के रूप में देखते हैं।

Advertisement

3. पियाजे भाषा को बच्चों के संज्ञानात्मक विकास के लिए महत्वपूर्ण मानते हैं, जबकि विकास पर बल देते हैं।

4. पियाजे के अनुसार बच्चे अपने मार्गदर्शन के लिए स्वयं से बात कर सकते हैं, जबकि वायगोत्सकी के लिए बच्चों की बात आत्मकेन्द्रीयता का द्योतक है।

Ans- 1 

13. एक अध्यापिका शिक्षण-अधिगम प्रक्रिया में विद्यार्थियों को सहपाठियों से अंतः क्रिया कराकर एवं सहारा देकर अध्यापन करती है। यह शिक्षण अधिगम की प्रक्रिया किस पर आधारित है ?

1. लॉरेंस कोहलबर्ग के नैतिक विकास सिद्धांत पर 

2. जीन पियाजे के संज्ञानात्मक विकास सिद्धांत पर

3. लेव वायगोत्स्की के सामाजिक-सांस्कृतिक सिद्धांत पर

4. हावर्ड गार्डनर के बहुआयामी बुद्धि सिद्धांत पर

Ans- 3 

14. वायगोत्स्की के सिद्धान्त के अनुसार ‘सहायक खोज’ किस में सहायक है।

1. संज्ञानात्मक द्वंद्व

2. उत्प्रेरक-प्रतिक्रिया सहचर्य

3. पुनर्बलन

4. सहपाठी- सहयोग

Ans- 4 

15. कक्षा में विद्यार्थियों को त्यौहारों को मनाने के अपने अनुभवों को साझा करने के देना और उसके आधार पर सूचना निर्मित करने को बढ़ावा देना किसका उदाहरण है। ?

1. व्यवहारवाद

2. पाठ्यपुस्तक आधारित अध्यापन

Advertisement

3. सामाजिक संरचनावाद

4. प्रत्यक्ष निर्देशन

Ans- 3

ये भी पढे:-

CTET 2022: सीटेट परीक्षा के लिए बुद्धि परीक्षण पर आधारित इन सवालों से करे अपनी अंतिम तैयारी!

CTET 2022: हिन्दी भाषा शिक्षण के इन सवालों से करे अपनी बेहतर तैयारी

Advertisement

Continue Reading

Trending