CTET

CTET 2022 Hindi Pedagogy: परीक्षा हॉल में जाने से पहले ‘हिंदी पेडागॉजी’ के इन सवालों पर डालें एक नजर!

Advertisement

CTET 2022 Hindi Pedagogy MCQ: सीबीएसई के द्वारा हर साल आयोजित की जाने वाली सीटेट परीक्षा का आयोजन इस वर्ष दिसंबर से जनवरी माह में होने वाला है। जिसमें लाखों की संख्या में अभ्यर्थी सम्मिलित होंगे। अगर आप भी इस परीक्षा को देने जा रहे हैं, तो आपके लिए यहां पर हम हिंदी शिक्षण शास्त्र से जुड़े कुछ ऐसे सवाल लेकर आए हैं। जो की परीक्षा की दृष्टि से बहुत ही महत्वपूर्ण है। इन प्रश्नों के माध्यम से अभ्यर्थी अपनी तैयारी के स्तर को परख सकेंगे और अच्छे अंकों के साथ सफलता प्राप्त कर पाएंगे।

सीटेट परीक्षा की दृष्टि से महत्वपूर्ण है हिंदी शिक्षण शास्त्र के यह सवाल—Hindi Pedagogy objective Questions For CTET Exam 2022

Q.1 बहु-भाषिकता हमारी पहचान भी है और हमारी …………. व …………… अभित्र अंग भी है।

(1) संस्कृति, चुनौतियो 

Advertisement

(2) सभ्यता, संस्कृति

(3) सभ्यता, साहित्य 

(4) संस्कृति, साहित्य

Ans- 2 

Q.2 प्राथमिक स्तर की पाठ्य पुस्तक में कार्टून भाषण, विज्ञापन आदि बच्चों के भाषा – क्षमता विकास में …….. है।

(1) अनुपयोगी

(2) सहायक

(3) बाधक

(4) निरर्थक

Ans- 2 

Q.3 पांचवी कक्षा की सुहानी ‘पांचो, किन्हें, आंखे, दोनों आदि शब्द लिखती है। आप कहानी के लेखक क्षमता के बारे में क्या कहेंगे

(1) वह अनुशासिक चिन्ह के नियम का अति सामान्यीकरण करती है।

(2) वह अनुशासिक चिन्ह का प्रयोग बिलकुल नहीं जानती ।

(3) वह अनुशासिक चिन्ह का प्रयोग के प्रति सजग है।

(4) वह अनुशासिक चिन्ह का प्रयोग के प्रति लापरवाह है।

Advertisement

Ans- 1 

Q.4 विद्यालय में भाषा शिक्षण के लिए कोई कार्यक्रम शुरु करते समय सबसे महत्वपूर्ण है।

(1) बच्चे की पठन क्षमता को पहचानना ।

(2) बच्चे की लिखित क्षमता को पहचानना ।

(3) बच्चे की सहज भाषायी क्षमता को पहचानना ।

(4) बच्चे की सहज मौखिक अभिव्यक्ति को पहचानना ।

Ans- 3 

Q.5 कई बार बच्चे जब स्कूल आते हैं तो दो या तीन भाषाओं को ………….. और बोलने की क्षमता से लैस होते हैं।

(1) समझने

(2) पढ़ने

(3) लिखने

(4) रटने

Ans- 1 

Q.6 किसी विषय को सीखने का मतलब है उसकी ……….. को सीखन उसकी ………… को सीखना ।

(1) शब्दावली, विषय

(2) अवधारणाओं, विषय-वस्तु

(3) विषय-वस्तु, उपयोगी 

(4) अवधारणाओ शब्दावली

Advertisement

Ans- 4 

Q.7 प्राथमिक स्तर पर बच्चों की भाषा का आकलन करने का उद्देश्य है।

(1) उसके बोलने की कुशलता का आकलन ।

(2) उसकी पठन क्षमता का आकलन |

(3) उसके भाषा-प्रयोग की क्षमता का आकलन |

(4) उसकी लेखन क्षमता का आकलन |

Ans- 3 

Q. 8 इनमें से कौन सा भाषा आकलन में सबसे कम प्रभावी तरीका है ?

(1) श्रुतलेख

(2) कहानी कहना

(3) कहानी लिखना

(4) घटना-वर्णन

Ans- 1 

Q.9 आकलन की प्रक्रिया में केवल बच्चे की क्षमताओ का आकलन नहीं होता बल्कि शिक्षक की शिक्षण प्रक्रिया का आकलन होता है यह विचार ।

(1) निराधार है 

(2) पूर्णत: है सही है।

(3) अंशतः सही है ।

(4) पूर्णतः गलत है।

Advertisement

Ans- 2 

Q. 10 रीमा ने तीसरी कक्षा में पढ़ने वाली रितिका की भाषा – क्षमताभाषा – निस्पंदन सम्बंधी क्रमिक प्रगति का ब्यौरा उसके अभिभावकों को दिया। रीमा ने …………… आधार पर यह जानकारी दी।

(1) लिखित परीक्षा 

(2) अवलोकन

(3) पोर्टफोलियो

(4) जाँच सूची

Ans- 3 

Q. 11 पहली कक्षा में ………….. भी लिखना के अंतर्गत आता है।

(1) चित्र बनाना

(2) वाक्य लिखना

(3) शब्द लिखना

(4) अक्षर बनाना

Ans- 1 

Q. 12 प्राथमिक स्तर पर पढ़ना सीखने से पहले कम महत्वपूर्ण है ।

(1) पढ़ने का उद्देश्य

(2) अनुमान लगाना

(3) संदर्भाअनुसार अर्थ 

(4) अक्षरों की पहचान

Advertisement

Ans- 4 

Q. 13 ‘ भाषा अर्जन क्षमता किसके साथ संबंधित है?

(1) ब्रूनर

(2) पियाजे

(3) चॉम्स्की

(4) स्किनर

Ans- 3

Q.14 प्राथमिक स्तर पर भाषा सीखने में भाषा संबंधी कौन सा संसाधन सर्वाधिक महत्वपूर्ण है?

(1) टेलीविजन 

(2) कम्प्यूटर

(3) बाल साहित्य 

(4) समाचार-पत्र

Ans- 3 

Q. 15 बच्चे अपनी मातृभाषा का प्रयोग करते हुए हिंदी भाषा की कक्षा में अपनी बात कहते हैं। यह बात………. है।

(1) अनुचित

(2) स्वाभाविक

(3) निंदनीय

(4) विचारणीय

Advertisement

Ans- 2 

Read More:-

CTET 2022: सीटेट परीक्षा के आयोजन का समय बेहद करीब, बाल विकास के इन चुनिंदा सवालों से करें, CTET की तैयारी

CTET 2022 SST MCQ: शिक्षक पात्रता परीक्षा में हर बार पूछे जातें है ये सवाल, अभी पढ़ें

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button