Connect with us

CTET

CTET 2022-23: पेपर में आने वाले ‘बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र’ के संभावित प्रश्न यहां पढ़िए!

Published

on

Advertisement

CDP Expected Questions For CTET:  देश की सबसे बड़ी शिक्षक पात्रता परीक्षा में से एक केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षाएं वर्तमान में चल रही है जो कि 7 फरवरी 2023 तक जारी रहेंगे इस परीक्षा के लिए देशभर से लाखों की संख्या में अभ्यर्थियों ने अपना रजिस्ट्रेशन करवाया है लिहाजा अभ्यर्थियों के मध्य प्रतिस्पर्धा की रहने वाली है यदि आप भी इस परीक्षा में सम्मिलित होने जा रहे हैं और आपकी परीक्षा आने वाले कुछ दिनों में होने वाली है तो यहां पर हम आपके लिए परीक्षा में शामिल हुए अभ्यर्थियों के द्वारा दिए गए फीडबैक के आधार पर बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र से जुड़े कुछ ऐसे सवाल लेकर आए हैं जो कि आपको परीक्षा हॉल में जाने से पूर्व एक बार अवश्य पढ़ लेना चाहिए जिससे कि अच्छे अंकों के साथ सीटेट परीक्षा में सफलता हासिल की जा सके

बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र से जुड़े महत्वपूर्ण प्रश्न जो आगामी शिफ्ट में पूछे जा सकते हैं—child development pedagogy question For CTET Exam 2022

Q. A child learns to run and hop before she can skip. Which principle of development does this illustrate?/एक बालिका कूदना सीखने से पहले चलना और उछलना सीखती है। यह विकास के किस सिद्धांत को दर्शाता है?

A. All domains of development are inter-related./विकास के सभी आयाम पारस्परिक रूप से संबंधित हैं।

Advertisement

B. Development follows a predictable pattern./विकास पूर्व अमुमानित प्रतिमानों का अनुसरण करता है।

C. Development is discontinuous in nature./विकास की प्रकृति सततगामी नहीं है।

D. Development is influenced by both maturation and experience./परिपक्वता और अनुभव दोनों विकास को प्रभावित करते हैं।

Ans- B 

Q. Growth and development of children consists of-/बालकों में वृद्धि और विकास में क्या शामिल है?

A. quantitative changes./मात्रात्मक परिवर्तन

B. qualitative changes/गुणात्मक परिवर्तन.

C. both quantitative and qualitative changes./दोनों मात्रात्मक एवं गुणात्मक परिवर्तन 

D. only physical changes in body size and structure./शरीर के आकार और बनावट में केवल भौतिक परिवर्तन

Ans- C 

Q. ————— refers to the complex forces of the physical and social world that influence a child’s experience during the course of her development./निम्नलिखित में से कौन सा कारक भौतिक एवं सामाजिक दुनिया की जटिल शाक्तियों को संबोधित करता है जो किसी बालिका के अनुभवों को उसके विकास के दौरान प्रभावित करते हैं?

A. Nature/प्रकृति

B. Heredity/आनुवांशिकता

C. Nurture/लालन-पालन

D. Chromosomes/क्रोमोजोम

Advertisement

Ans- C 

Q. Which of the following are primary socializing agencies for children?/निम्नलिखित में से कौन सी बच्चों के समाजीकरण की प्राथमिक संस्थाएं हैं?

A. School and neighbourhood/स्कूल एवं पास-पड़ोस

B. Family and media/ परिवार और संचार माध्यम

C. Neighbourhood and teachers/ पास पड़ोस एवं शिक्षक

D. Family and neighbourhood/ परिवार एवं पास-पड़ोस

Ans- D 

Q. Kamal reasons that he will give a crayon to Tanu if she also gives her one so that it is an equal exchange of favours. At which stage of Lawhrence Kohlberg’s moral development is Kamal at?/कमल स्वयं को तर्क देता है कि यदि तनु उसे एक क्रेयोन देगी तो वह उसे भी एक क्रेयोन देगा ताकि उपहारों के लेन देन में समानता हो । कमल, लारेन्स कोहलबर्ग के नैतिक विकास के किस चरण पर है?

A. Instrumental purpose orientation/यान्त्रिक – उद्देश्य अभिनवीकरण 

B. Good boy-nice girl orientation/अच्छा लड़का, अच्छी लड़की अभिनवीकरण

C. Social-order maintaining orientation/सामाजिक व्यवस्था निर्वाहन अभिनवीकरण

D. Social-contract orientation/सामाजिक समझौता-अभिनवीकरण

Ans- A 

Q. In which stage of cognitive development do children begin to build on each others’ play ideas; strengthen the understanding that symbols represent objects; but lack conservation skills?/संज्ञानात्मक विकास के किस चरण में बच्चे एक-दूसरे के साथ खेल संबंधी विचार साझा करते हैं, और इस समझ को कि संकेत वस्तुओं को दर्शाते हैं, सुदृढ़ करते हैं, लेकिन संरक्षण करने में असक्षम होते हैं।

A. Sensory motor/संवेदी पेशीय अवस्था

B. Formal operational/औपचारिक संक्रियात्मक अवस्था

C. Pre operational/पूर्व संक्रियात्मक अवस्था

D. Concrete operational/मूर्त संक्रियात्मक अवस्था

Advertisement

Ans- C 

Q. A 6 year old child reasons that a taller glass has more water than a shorter and wider container even though the liquid has been poured from the container to the glass in front of her eyes. According to Jean Piaget this kind of reasoning by the child is due to the child’s reasoning by the child is due to the child’s inability to-/एक छः वर्षीय बालिका सोचती है कि लंबे गिलास में छोटे और चौड़े बर्तन से अधिक पानी आता है यद्यपि उसकी आँखों के सामने ही पानी एक बर्तन से दूसरे बर्तन में पलटा गया है। पियाजे के अनुसार बालिका की यह सोच किस योग्यता की कमी के कारण है?

A. seriate./क्रमबद्धता की योग्यता

B. perform heirarchial classification./सोपान क्रमिक वर्गीकरण योग्यता

C. decenter./अकेन्द्रीयता

D. apply prepositional logic./आनुपातिक तर्क की योग्यता

Ans- C 

Q. Lev Vygotsky’s theory of cognitive development is situated in the- /लेव वायगोत्स्की का संज्ञानात्मक विकास का सिद्धान्त किससे संबंधित है?

A. socio-cultural perspective./सामाजिक-सांस्कृतिक दृष्टिकोण

B. psycho-sexual perspective./मनोयौनिक दृष्टिकोण

C. behaviouristic perspective./व्यवहारवादी दृष्टिकोण

D. historical perspective./ऐतिहासिक दृष्टिकोण

Ans- A 

Q. In a constructivist classroom based on Piagetian principles children learn-/पियाजे के सिद्धान्तों पर आधारित एक रचनावादी कक्षा में बच्चे किस तरह से सीखते हैं?

A. by imitating adults./बड़ों को अनुसरण करके सीखते हैं।

B. through explanation given by adults./बड़ों द्वारा दी गई व्याख्याओं से सीखते हैं।

C. by striving for rewards./पुरस्कार के लिए प्रयास से सीखते हैं।

D. through self-initiated activity./स्वतः स्फूर्त गतिविधियों से सीखते हैं।

Advertisement

Ans- D

Q. In Howard gardener’s theory of Multiple Intelligence, if a person has a skill of understanding the motives feelings and behaviours of other people, she is said to have-/हावर्ड गाडर्नर के बहुबुद्धि सिद्धान्त के अनुसार यदि किसी व्यक्ति में दूसरों के अभिप्राय, भावनाएँ और व्यवहार को समझने की योग्यता है तो उसमें निम्नलिखित में से कौन-सी बुद्धि कही जाएगी?

A. Intrapersonal Intelligence./व्यक्तिगत बुद्धिमता

B. Experiential Intelligence/अनुभव जन्य

C. Social Intelligence/सामाजिक बुद्धि

D. Interpersonal Intelligence/अन्तः वैयाक्तिक

Ans- D 

Q. Teachers should not restrict themselves to examples which depict women as nurses  and teachers and men as doctors and pilot as this leads to- /अध्यापकों को उदाहरण देते हुए महिलाओं को नर्स व अध्यापिका दिखाने में तथा पुरूषों को डाक्टर या पायलेट दिखाने तक सीमित नहीं करना चाहिए। इससे क्या चिहिन्त होता है?

A. gender empowerment./जैन्डर सशक्तिकरण

B. gender stereotyping./जैन्डर रूढ़िबद्धता

C. gender stereotype-flexibility./जैन्डर रूढ़िबद्ध-लचीलापन

D. gender constancy./जैण्डर-समरूपता

Ans- B 

Q. Harjot gets very upset when she does not receive a ‘star’ on her assignment. She gets defensive at any critical remarks on her work. Which of the following feedback approach would be most effective in this case?/जब हरजोत को अपने प्रदत्त कार्य में ‘सितारा’ नहीं मिलता तो वह बहुत परेशान हो जाती है। अपने काम के संदर्भ में दी गई किसी भी आलोचनात्मक टिप्पणी के प्रति वह रक्षात्मक रुख अपनाती है। इस संबंध में निम्नलिखित में से कौन सा उपागम सबसे अधिक प्रभावकारी होगा?

A. Giving her lots of constructive feedback and allowing her to revise her work./उसे रचनात्मक प्रतिपुष्टि देना और अपना काम दोहराने के लिए कहना ।

B. Making sure that she gets a ‘star’ on every assignment, to not make her upset./यह सुनिश्चित करना कि उसे उसके हर प्रदत्त कार्य में सितारा’ मिले जिससे कि वह परेशान न हो।

C. Making sure that she does not get a ‘star’ or any other reward on any assignment so that she becomes used to it./यह सुनिश्चित करना कि उसे उसके किसी भी कार्य में कोई सितारा या पुरस्कार न मिले जिससे कि उसकी आदत न पड़े। 

D. Not giving her any kind of feedback./उसको किसी भी तरह की प्रतिपुष्टि न देना।

Advertisement

Ans- A 

Q. Which of the following is NOT a feature of portfolio?/निम्नलिखित में से कौन सी पोर्टफोलियो की विशेषता नहीं है?

A. Portfolios collect work samples over time, reflecting development changes./पोर्टफोलियो समय विशेष के दौरान किए गए कार्यों को संकलित करता है और विकासात्मक परिवर्तनों पर प्रकाश डालते हैं।

B. Portfolios involve students in design, collection and evaluation./पोर्टफोलियो विद्यार्थी को अभिकल्प करने, संग्रह करने और मूल्यांकन में संलग्न करते हैं।

C. Portfolios promote self regulation by involving students in the assessment of their own  learning progress./पोर्टफोलियो विद्यार्थी को स्वयं की अधिगम प्रगति के आकलन में संलग्न करके स्वनियमितता को समुन्नत करते हैं।

D. Portfolios comprise of disconnected tests and quizzes and help in ascertaining the product of learning./पोर्टफोलियो में असम्बद्ध परीक्षण और क्विज़ होते हैं और अधिगम के उत्पाद को सुनिश्चित करते हैं।

Ans- D 

Read More:-

CTET Exam: ‘हिंदी पेडागोजी’ के इन सवालों को सीटेट परीक्षा में शामिल होने से पहले एक बार जरूर पढ़ें!

CTET 2022-23: ‘पर्यावरण NCERT’ पर आधारित इन रोचक सवालों से करें सीटेट परीक्षा की फाइनल तैयारी!

यहाँ हमने आगामी सीटीईटी परीक्षा की तैयारी कर रहे अभ्यर्थीयो के लिए ‘बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र से जुड़े महत्वपूर्ण सवाल (CDP Expected Questions For CTET) विषय के महत्वपूर्ण सवालों का अध्ययन किया है CTET सहित सभी शिक्षक पात्रता परीक्षा की बेहतर तैयारी के लिए आप हारे TELEGRAM CHANNEL के सदस्य जरूर बने Join Link नीचे दी गई है?

Advertisement

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

CTET

UP Teacher Vacancy 2023: योगी सरकार का तोहफा, 51 हजार शिक्षक भर्ती जल्द, CTET-UPTET क्वालीफाई को मिलेगी एंट्री

Published

on

By

Advertisement

UP Shikshak Bharti 2023 (UPDATED): उत्तर प्रदेश में लंबे समय से शिक्षक भर्ती परीक्षा का इंतजार कर रहे अभ्यर्थियों के लिए अच्छी खबर है. उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा परिषद (UPBEB) जल्द ही शिक्षक के 51 हजार से अधिक रिक्त पदों पर बंपर भर्ती निकालने वाला है. नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक लोकसभा चुनाव से पहले योगी सरकार प्रदेश में  माध्यमिक व राजकीय विद्यालयों में रिक्त शिक्षकों के पदों पर भर्ती करने जा रही है.

इतने पदों पर होगी भर्ती

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक बेसिक शिक्षा विभाग में टीजीटी/ पीजीटी शिक्षकों के लगभग 51 हजार से अधिक पद रिक्त हैं, इसके अलावा राजकीय विद्यालयों में शिक्षकों के 7 हजार 471 पद रिक्त हैं. तो वही बात करें प्रवक्ता तथा सहायक अध्यापकों के पदों कि तो बताया जा रहा है प्रवक्ता के 2115 जबकि सहायक अध्यापक के 5256 पद खाली हैं जिनपर भर्ती की जानी है.

इन उम्मीदवारों को मिलेगी एंट्री

Advertisement

उत्तर प्रदेश के प्राइमरी तथा अपर प्राइमरी सरकारी स्कूलों में शिक्षकों की भर्ती सुपर टेट परीक्षा (SUPER TET) के माध्यम से की जाती है, जिसका आयोजन उत्तर प्रदेश बेसिक एजुकेशन बोर्ड द्वारा किया जाता है. सुपर टेट परीक्षा में केवल वे अभ्यर्थी ही शामिल हो सकते हैं जिन्होंने यूपी टेट परीक्षा (Uttar Pradesh Teacher Eligibility TestUPTET) पास की हो.  बहुत से अभ्यर्थियों के मन में यह सवाल भी रहता है कि क्या सीटेट परीक्षा क्वालीफाई अभ्यर्थी यूपी शिक्षक भर्ती परीक्षा में शामिल हो सकते हैं? 

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश शिक्षक भर्ती परीक्षा यानी सुपर टेट में शामिल होने के लिए उम्मीदवार को किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक डिग्री तथा टीचिंग ट्रेनिंग कोर्स (D.El.Ed, BTC, B.Ed. आदि) पास किया होना चाहिए साथ ही UPBEB द्वारा आयोजित यूपी टेट परीक्षा पास होना जरूरी है. इसके अलावा पेपर -1 के लिए सीटेट पास अभ्यर्थी भी सुपर टेट परीक्षा देने के पात्र होते हैं. 

यदि बात करें आयु सीमा की तो न्यूनतम 21 वर्ष से लेकर अधिकतम 40 वर्ष की आयु वाले अभ्यर्थी सुपर टेट परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं हालांकि उत्तर प्रदेश के मूल निवासी अभ्यर्थियों को कैटेगरी वाइज अधिकतम आयु में छूट का प्रावधान है अधिक जानकारी के लिए आधिकारिक नोटिफिकेशन पढ़ें.

इच्छुक उम्मीदवार आधिकारिक वेबसाइट ctet.nic.in पर जाकर अपना आवेदन सबमिट कर सकते हैं. सीटेट परीक्षा पास करने पर उम्मीदवार सुपर टेट के साथ ही केंद्र सरकार द्वारा संचालित केंद्रीय विद्यालय, नवोदय विद्यालय तथा आर्मी पब्लिक स्कूल आदि में निकलने वाली शिक्षकों की भर्ती में भी शामिल हो सकते हैं.

कब आएगा यूपीटीईटी नोटिफ़िकेशन? (UPTET 2023 Notification Update)

उत्तर प्रदेश में शिक्षक बनने की चाह रखने वाले लाखों अभ्यर्थी उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी यूपीटीईटी के नोटिफिकेशन का इंतजार कर रहे हैं नवीनतम मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यूपीटीईटी परीक्षा का नोटिफिकेशन फ़रवरी 2023 के अंतिम सप्ताह या मार्च के पहले सप्ताह तक जारी किया जा सकता है। नोटिफिकेशन जारी होने के बाद अभ्यर्थी आधिकारिक वेबसाइट updeled.gov.in पर जाकर आवेदन कर पाएंगे.

अधिक जानकारी के लिए अभ्यर्थी लगातार शिक्षा विभाग की वेबसाइट पर विजिट करते रहें बता दें कि यूपीटीईटी परीक्षा में शामिल होने के लिए अभ्यर्थी की उम्र 18 साल या उससे अधिक होनी चाहिए इसके साथ ही बैचलर डिग्री या समकक्ष डिप्लोमा होना जरूरी है।

Read More:

CTET Exam 2023: ‘अल्बर्ट बंडूरा के सिद्धांत’ से जुड़े कुछ ऐसे सवाल ही पूछे जा रहे हैं सीटेट परीक्षा की सभी शिफ्टों में

Advertisement

Continue Reading

CTET

CTET 2023: ‘पक्षियों’ से जुड़े बेहद रोचक सवाल, जो सीटेट की सभी शिफ्ट में पूछे जा रहे हैं!

Published

on

By

EVS MCQ on Birds For CTET
Advertisement

EVS MCQ on Birds For CTET: शिक्षक के रूप में कैरियर बनाने की चाहत लिए लाखों अभ्यर्थी प्रतिवर्ष सीबीएसई के द्वारा संचालित सिटी परीक्षा में शामिल होते हैं। इस वर्ष किस परीक्षा का आयोजन 28 दिसंबर से किया जा रहा है। अगर आप भी इस परीक्षा में शामिल होने जा रहे हैं, तो यहां पर हम आपके लिए पर्यावरण अध्ययन के अंतर्गत पक्षियों पर आधारित परीक्षा में पूछे जाने वाले संभावित प्रश्न लेकर आए हैं। इस टॉपिक से पेपर में एक से दो प्रश्न पूछे जा रहे हैं अभ्यर्थियों को इन प्रश्नों का अध्ययन एक बार अवश्य कर लेना चाहिए।

Read More:- UP Teacher Vacancy 2023: योगी सरकार का तोहफा, 51 हजार शिक्षक भर्ती जल्द, CTET-UPTET क्वालीफाई को मिलेगी एंट्री

CTET Environment MCQ on Birds—पर्यावरण अध्ययन के अंतर्गत पक्षियों पर आधारित परीक्षा में पूछे जाने वाले संभावित प्रश्न

1) किस प्रकार के पक्षी की चोंच मीट को काटने और खाने के काम आती है?

Advertisement

1. तिकोने आकार की चोंच

2. सीधी और पतली चोंच

3. हुक जैसी चोंच

4. लम्बी पतली सुई जैसी चोंच

Ans- 3

2) पक्षियों की एक स्पीशीज (प्रजाति) ऐसी है, जिसका नर पक्षी सुन्दर सुन्दर घोंसले बुनता है। मादा पक्षी उन सभी पोसलों को देखती है। उनमें से वह उसे चुनती है जो उसे सबसे अच्छा लगता है और उसी में अंडे देती है। पक्षियों की इस स्पीशीज का नाम है.

1. कोयल

2. वीवर पक्षी

3. शक्कर खोरा

4. वसंत गौरी

Ans- 2

3) अपनी गर्दन को पीछे तक घुमा सकने वाला पक्षी है.

1. कबूतर 

2. तोता

3. उल्लू 

Advertisement

4. मैना

Ans- 3

4) अपनी गर्दन को झटके से आगे पीछे कर सकने वाला पक्षी है.

1. कबूतर (कपोत)

2. तोता

3. उल्लू

4. मैना

Ans- 4

5) तीन पक्षियों का वह समूह जिसका प्रत्येक सदस्य वस्तुओं को हमारी तुलना में, चार गुना अधिक दूरी स्पष्ट देख सकता है, जो वस्तु हमें दो मीटर की दूरी से दिखाई देती है उसे ही ये पक्षी आठ मीटर दूरी से देख लेते हैं) कौन सा है

1 बाज़, कौआ, कबूतर

2 बाज़, चील, गिद्ध

3 कबूतर, तोता, चील 

4 कोआ, चील, बुलबुल

Ans- 2

6) पक्षियों की उस प्रजाति का नाम क्या है जिसमें नर पक्षी अनेक सुन्दर घोंसले बनाते हैं और मादा पक्षी उनमें से केवल एक घोंसला चुनते हैं और उसमें अण्डे देते हैं? 

1. कलचिड़ी

2. शकरखोरा

3. दर्जिन चिड़िया 

Advertisement

4. बया (वीवर)

Ans- 4

7. उस पक्षी का नाम जिसकी आंखें मानवों की तरह सामने की तरफ होती हैं:

1. चील

2. बाज

3. गिद्ध

4. उल्लू

Ans- 4

8) तीन पक्षियों का वह समूह जिसका प्रत्येक सदस्य वस्तुओं को हमारी तुलना में, चार गुना अधिक दूरी स्पष्ट देख सकता है, जो वस्तु हमें दो मीटर की दूरी से दिखाई देती है उसे ही ये पक्षी आठ मीटर दूरी से देख लेते हैं) कौन सा है

1 बाज़, कौआ, कबूतर

2 बाज़, चील, गिद्ध 

3 कबूतर, तोता, चील 

4 कोआ, चील, बुलबुल

Ans- 2

9) निम्नलिखित में से कौन सा सबसे छोटा प्रवासी पक्षी है जो उत्तरध्रुवीय क्षेत्र से भारत आता है:

1. सीखपर बत्तख (पिनटेल डक)

2. छोटी मतस्यकुररी (ऑस्प्रे) 

3. हंसावर (फ्लेमिंगो) 

Advertisement

4. छोटी जलरंक (स्टिंट)

Ans- 4

10) एक छोटे से पेड़ या झाड़ी की शाखा से लटकने वाला घोंसला बनाने वाला पक्षी है। 

1. सूर्यपक्षी / शक्कर खोरा

2. कौवा 

3. बारबेट / बसंतगौरी

4. भारतीय रॉबिन / कलचिड

Ans- 1

Read More:-

CTET 2023: ‘बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र’ के इस लेवल के सवाल पूछे जा सकते हैं आने वाली शिफ्ट में अभी पढ़ें!

CTET Exam: परीक्षा हॉल में बहुत काम आने वाले हैं ‘हिंदी पेडागॉजी’ के यह प्रश्न!

यहाँ हमने आगामी सीटीईटी परीक्षा की तैयारी कर रहे अभ्यर्थीयो के लिए ”पक्षियों” से जुड़े महत्वपूर्ण सवाल (EVS MCQ on Birds For CTET) विषय के महत्वपूर्ण सवालों का अध्ययन किया है CTET सहित सभी शिक्षक पात्रता परीक्षा की बेहतर तैयारी के लिए आप हारे TELEGRAM CHANNEL के सदस्य जरूर बने Join Link नीचे दी गई है?

Advertisement

Continue Reading

CTET

CTET Exam 2023: ‘अल्बर्ट बंडूरा के सिद्धांत’ से जुड़े कुछ ऐसे सवाल ही पूछे जा रहे हैं सीटेट परीक्षा की सभी शिफ्टों में

Published

on

By

Albert Bandura's Social Learning Theory for CTET AND TET Exams
Advertisement

Albert Bandura Theory Based Questions CTET: केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा का आयोजन सीबीएसई बोर्ड के द्वारा 28 दिसंबर 2022 से किया जा रहा है। परीक्षा वर्तमान समय में जारी है, जो कि 7 फरवरी 2023 तक जारी रहेगी। अगर आप भी इस परीक्षा में शामिल होने वाले हैं, तो यहां पर हम आपके लिए अल्बर्ट बंडूरा के द्वारा दिए गए सिद्धांत पर आधारित परीक्षा में पूछे जाने वाले संभावित प्रश्न लेकर आए हैं। जो कि आपको परीक्षा में बेहद काम आने वाले हैं। विगत शिफ्ट में इस टॉपिक से प्रश्न पूछे जा रहे हैं। ऐसे में आगामी चरण में भी यहां से प्रश्न पूछे जाने की प्रबल संभावना है।

केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा के लिए अल्बर्ट बंडूरा के सिद्धांत से जुड़े महत्वपूर्ण प्रश्न—MCQ on Albert Bandura Social Learning Theory For CTET Exam

1. अल्बर्ट बंडूरा ने प्रयोग किया?

A- कुत्ते पर

Advertisement

B-गुड़िया पर

C-जोकर पर

D-B और C दोनों पर

Ans- D 

2. सामाजिक अधिगम का सिद्धांत किसने दिया?

A- वाइगोत्सकी

B-जीन पियाजे

C- अल्बर्ट बंडूरा

D-कोहलबर्ग

Ans- C 

3. बंडूरा के अनुसार अनुकरण की प्रक्रिया के कितने चरण हैं?

A- पांच

B- सात

C- चार

D-दस

Advertisement

Ans- C 

4. अल्बर्ट बंडूरा ने अपना सिद्धान्त कब दिया?

A-1994

B-1977

C-1897

D-1920

Ans- B 

5. जिस माध्यम से बच्चा अनुकरण के द्वारा सीखता है उसे अल्बर्ट बंडूरा ने क्या कहा?

A-उत्पाद

B-मॉडल

C-स्की मा

D- पुनर्बलन

Ans- B

6. Social Foundations of Thought and Action पुस्तक किसकी है

A- जीन पियाजे

B-अरस्तू

C- अल्बर्ट बंडूरा

D-कोहलबर्ग

Advertisement

Ans- C 

7. …………… के अनुसार, बच्चों के चिंतन के बारे में सामाजिक प्रक्रियाओं तथा सांस्कृतिक संदर्भ के प्रभाव को समझना आवश्यक है।

A-लॉरेंस कोलबर्ग

B-जीन पियाजे

C-लेब वायगोट्स्की

D-अलबर्ट बैन्डुरा

Ans- C 

8. – बच्चों को संकेत देना तथा आवश्यकता पड़ने पर सहयोग प्रदान करना निम्नलिखित में से किसका उदाहरण है?

A-प्रबलन

B-अनुबंधन

C-मॉडलिंग

D-पाड़ (ढाँचा)

Ans- D

9. अल्बर्ट बैन्ड्यूरा के सामाजिक अधिगम सिद्धांत के अनुसार निम्न में से कौन-सा सही है?

A-बच्चों के सीखने के लिए प्रतिरूपण (मॉडलिंग) एक मुख्य तरीका है

B-अनसुलझा संकट बच्चे को नुकसान पहुंचा सकता है

C-संज्ञानात्मक विकास सामाजिक विकास से स्वतंत्र है

D-खेल अनिवार्य है और उसे विद्यालय में प्राथमिकता दी जानी चाहिए

Advertisement

Ans- A 

10. कोहलबर्ग के अनुसार, शिक्षक बच्चों में नैतिक मूल्य का विकास कर सकता है-

A-” कैसे व्यवहार किया जाना चाहिए ” इस पर कठोर निर्देश देकर

B-धार्मिक शिक्षा को महत्त्व देकर

C- व्यवहार के स्पष्ट नियम बनाकर

D-नैतिक मुद्दों पर आधारित चर्चाओं में उन्हें शामिल करके

Ans- D

11. लारिंस कोहलबर्ग विकास के क्षेत्र में शोध के लिए जाने जाते हैं।

A-संज्ञानात्मक

B-शारीरिक

C-नैतिक

D- गामक

Ans- C 

12. कोहलबर्ग के अनुसार सही और गलत प्रश्नों के बारे में निर्णय लेने में शामिल चिंतन प्रक्रिया को कहा जाता है

A-सहयोग की नैतिकता

B-नैतिक तर्कणा

C-नैतिक यथार्थवाद

D-नैतिक दुविधा

Advertisement

Ans- B

13. लॉरेंस कोहलबर्ग के द्वारा प्रस्तावित निम्नलिखित चरणों में से प्राथमिक विद्यालयों के बच्चे किन चरणों का अनुसरण करते हैं?

(1) आज्ञापालन और दंड – – उन्मुखीकरण

(2) वैयक्तिकता और विनिमय

(3) अच्छे अंत : वैयक्तिक संबंध

(4) सामाजिक अनुबंध और व्यक्तिगत अधिकार

A-2 और 1

B-2 और 4

C-1 और 4

D-1 और 3

Ans- A 

14. करनैल सिंह कानूनी कार्यवाही तथा खर्चों के बावजूद आय कर नहीं देते। वे सोचते हैं कि वे एक भ्रष्ट सरकार को समर्थन नहीं दे सकते, जो अनावश्यक बाँधों के निर्माण पर लाखों रुपये खर्च करती हैं । वे संभवतः कोहलबर्ग के नैतिक विकास की किस अवस्था में हैं?

A-परंपरागत

B-पश्च परंपरागत

C-पूर्व परंपरातगत

D-परा-परंपरागत

Ans- B

15. एक शिक्षिका अपनी कक्षा से कहती है, ‘सभी प्रकार के प्रदत्त’ कार्यों का निर्माण इस प्रकार किया गया है कि प्रत्येक विद्यार्थी अधिक प्रभावशाली ढंग से सीख सके, अतः सभी विद्यार्थी बिना किसी अन्य की सहायता से अपना कार्य पूर्ण करें। वह कोहलबर्ग के किस नैतिक विकास के चरण की ओर संकेत दे रही है?

Advertisement

A-पूर्व औपचारिक चरण 2 वैयक्तिकता और विनिमय

B-औपचारिक चरण 4 कानून और व्यवस्था

C-पर – औपचारिक चरण 5 सामाजिक संविदा

D- पूर्व – औपचारिक चरण 1 दंड परिवर्जन

Ans- B

Read More:-

CTET 2023: ‘बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र’ के इस लेवल के सवाल पूछे जा सकते हैं आने वाली शिफ्ट में अभी पढ़ें!

CTET Exam 2023: ‘पर्यावरण’ के इन सवालों को परीक्षा हॉल में जाने से पहले एक बार जरूर पढ़ें!

Advertisement

Continue Reading

Trending