Connect with us

CTET

CTET 2022: यदि शामिल होने वाले हैं सीटेट परीक्षा में तो ‘बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र’ से जुड़े इन सवालों को जरूर पढ़ें!

Published

on

Advertisement

Bal Vikas Shiksha Shastra Question For CTET: शिक्षक के रूप में कैरियर बनाने की चाह लिए हर वर्ष लाखों अभ्यर्थी केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा में सम्मिलित होते हैं। इस परीक्षा का आयोजन वर्ष में दो बार किया जाता है। जिसमें क्वालीफाई अभ्यर्थी केंद्रीय विद्यालय नवोदय विद्यालय एवं आर्मी पब्लिक स्कूल में होने वाली सरकारी शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया में आवेदन करने के पात्र होते हैं। इसके साथ ही राज्य में होने वाली शिक्षकों की भर्ती में भी अभ्यर्थी आवेदन कर सकते हैं। यहां पर हम बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र पर आधारित कुछ ऐसे महत्वपूर्ण सवाल इस आर्टिकल में आपके साथ शेयर कर रहे हैं। जो कि आगामी सीटेट परीक्षा को ध्यान में रखते हुए तैयार किए गए हैं। इन प्रश्नों का अध्ययन अभ्यर्थियों को परीक्षा में उत्तम परिणाम दिलाने में मददगार साबित हो सकता है।

परीक्षा हॉल में जाने से पहले पड़े बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र की इन प्रश्नों को—CTET Bal Vikas Shiksha Shastra Important Question

Q. ‘प्रतिभाशाली’ विद्यार्थियों के सफल समावेशन हेतु, एक अध्यापक को निम्न में से क्या करने से बचना चाहिए?

(a) विविध दृष्टिकोणों को व्यक्त करने के मौके देना।

Advertisement

(b) विद्यार्थियों को शैक्षणिक संवर्द्धक गतिविधियाँ प्रदान 

(c) अध्यापक केन्द्रित पाठ्यक्रम को लागू करना करना ।

(d) विद्यार्थियों को उनकी रुचि के अनुसार स्वतंत्र परियोजनाएँ करने देना

Ans- c 

Q. एक ऐसा तंत्र तैयार करने के लिए जो विद्यार्थियों की व्यक्तिगत विभिन्नताओं को सम्मान दे, एक अध्यापक को क्या करना चाहिए?

(a) सभी विद्यार्थियों के लिए मानकीकृत पाठ्यचर्या का प्रयोग 

(b) अधिगम गति और परिप्रेक्ष्यों में विविधता को स्वीकृति 

(c) सभी विद्यार्थियों से अधिगम की निम्न अपेक्षाएँ 

(d) सिर्फ परीक्षा में उच्च अंक पाने वाले विद्यार्थियों पर ध्यान

Ans- b 

Q. एक विद्यार्थी कक्षा में ध्यान दे पाता है, आसानी से दूसरी ओर आकर्षित हो जाता है, नियुक्त स्थान पर नहीं बैठ पाता है, बेचैन रहता है और वस्तुएँ खो देता है। ये गुण निम्न में से किसके संकेतक हैं?

(a) अवधान न्यूनता अतिसक्रियता विकार

(b) दृश्य बाधिता

(c) वाचन वैकल्य

(d) लेखन वैकल्य

Advertisement

Ans- a 

Q. श्रवण बाधिता वाले विद्यार्थियों के समावेशन हेतु एक अध्यापिका को ————- | 

(a) उस वक्त बोलने से बचना चाहिए जब विद्यार्थी उसका चेहरा ना देख पाए।

(b) सांकेतिक भाषा के इस्तेमाल को हतोत्साहित करना चाहिए।

(c) सहायक तकनीकों (प्रौद्योगिकी) के इस्तेमाल से बचना चाहिए।

(d) जानकारी प्रक्रमण के लिए अतिरिक्त समय नहीं देना चाहिए।

Ans- a 

Q. ऐसी गतिविधियों का चयन जिसमें अन्तः दृष्टि और विविध प्रकार के उत्तर देने की संभावनाएँ है, वे किसे समुन्नत करती हैं?

(a) रटकर याद करना

(b) सृजनात्मकता

(c) कुण्ठा

(d) प्रतिस्पर्द्धा

Ans- b

Q. परीक्षा में कम अंक पाने वाले विद्यार्थियों को –

(a) विशिष्ट विद्यालय में भेज देना चाहिए । 

(b) केवल व्यावसायिक शिक्षा पाने के लिए मार्गदर्शन देना चाहिए।

(c) दण्ड देना चाहिए।

(d) उसकी व्यक्तिगत आवश्यकताओं के अनुसार  सहायता देनी चाहिए।

Advertisement

Ans- d 

Q. कथन (A) अर्थपूर्ण अधिगम के लिए नई सामग्री को बच्चे के मौजूदा ज्ञान से जोड़ना जरूरी है।

 तर्क (R) : अधिगम एकरेखीय तरीके से होता है। सही विकल्प चुनें।

(a) A और R दोनों सही है और R सही व्याख्या करता है R की। 

(b) A और R दोनों सही हैं लेकिन R सही व्याख्या नहीं है A की।

(c) A सही है लेकिन R गलत है। 

(d) A और R दोनों गलत हैं।

Ans- c 

Q. विद्यालयों को निम्न में से सफलता की किस धारणा को चूनौती देनी चाहिए?

(a) विद्यार्थी विद्यालयों में खुद को दूसरों से बेहतर प्रमाणित करके सफलता प्राप्त करे।

(b) सफलता प्रतिस्पर्द्धा संबंधित नहीं होनी चाहिए।

(c) सफलता को संकल्पित समय विद्यालयों को संज्ञानात्मक के साथ-साथ भावात्मक क्षेत्रों को भी महत्व देना चाहिए। 

(d) एक ऐसी आकलन प्रणाली जिसमें कोई पहला आता है, उसे निर्मित करते समय हम यह प्रणाली भी बना देते हैं कि कोई अंतिम स्थान पर आएगा।

Ans- a 

Q. किसी संप्रत्यय को पढ़ाते समय, एक अध्यापिका को निम्न में से क्या नहीं करना चाहिए?

(a) रूपकों का विभिन्न क्षेत्रों व एक ही क्षेत्र उपयोग

(b) विभिन्न परिघटनाओं में सह-सम्बन्धों को रेखांकित 

(c) विद्यार्थियों को कार्य-कारण सम्बन्धों को तलाशने के लिए कहना

Advertisement

(d) गैर-उदाहरणों और अपवादों के सम्मिलन का वर्जन

Ans- d 

Q. निम्न में से अधिगम की कौन-सी तकनीक पर एक अध्यापिका को बल देना चाहिए?

(a) उद्दीपक-प्रतिक्रिया द्वारा अधिगम

(b) संरचनाबद्ध अन्वेषण की प्रक्रिया द्वारा अधिगम

(c) रट्टा-मार सीखना

(d) दूसरों से ज्यादा अंक प्राप्त करने के लिए सीखना

Ans- b

Q. निम्न में से कौन-सा बाह्य अभिप्रेरणा का उदाहरण नहीं है?

(a) सजा से बचना

(b) रुचि

(c) इनाम

(d) असफलता का डर

Ans- b

Q. निम्न में से कौन-सा भाव, विद्यार्थियों के अधिगम में बाधक रहेगा?

(a) उत्सुकता

(b) कृतज्ञता

(c) जिज्ञासा

Advertisement

(d) निराशा

Ans- d 

Q. एक कक्षा में जल संप्रत्यय पर चर्चा के दौरान एक बच्चा कहता है कि ‘जब रंगहीन नहीं है। अध्यापिका के पूछे जाने पर वह उसके घर के पास वाले नाले के गंदे पानी का संदर्भ देता है। बच्चे के इस अंति पर अध्यापिका की क्या प्रतिक्रिया होनी चाहिए? 

(a) इस जवाब को सिरे से नकार देना चाहिए।

(b) इस बात पर बल देना चाहिए कि उसका तर्क निराधार है। 

(c) इस जवाब को अपना लेना चाहिए और जल के रंगहीन होने का तर्क बताना चाहिए।

(d) केवल एक ही सही जवाब जो है कि जल रंगहीन है पर जोर देना चाहिए।

Ans- c 

Q. अधिगम का सामाजिक-संरचनात्मक उपागम निम्न में से किसकी महत्ता पर बल देता है?

(a) इनाम और दण्ड

(b) मानकीकृत आकलन

(c) सांस्कृतिक संदर्भ

(d) प्रतिमादक अध्यापन

Ans- c 

Q. अधिगम सबसे अधिक प्रभावशाली और अर्थपूर्ण होगा, अगर

(a) यह संदर्भित रूप में हो ।

(b) अधिगमकर्ता प्रदर्शन – अभिमुखी हो ।

(c) अधिगमकर्ता बाह्य कारकों से अभिप्रेरित हो। 

Advertisement

(d) जानकारी असंबंधित खण्डों में प्रस्तुत की जाए।

Ans- a 

Read More:-

CTET 2022: ‘संस्कृत पेडागॉजी’ से जुड़े ऐसे 15 सवाल जो परीक्षा की दृष्टि से हैं बेहद महत्वपूर्ण डालें एक नजर

CBSE CTET Exam 2022: ईवीएस पेडागॉजी प्रैक्टिस सेट के माध्यम से चेक करें सीटेट परीक्षा की अपनी फाइनल तैयारी

यहां पर हमने दिसंबर में आयोजित होने वाली केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा के लिए‘बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र से संबंधित महत्वपूर्ण सवालों (bal vikas shiksha shastra question) का अध्ययन किया। केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (CTET) से जुड़ी नवीनतम अपडेट और प्रैक्टिस सेट प्राप्त करने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल के सदस्य बने, जॉइन लिंक नीचे दी गई है

Advertisement

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *