What Happens if Rupee Equals Dollar: क्या होगा अगर 1 रुपया 1 डॉलर हो जाए? जाने यहाँ

Advertisement

What happens if Rupee equals Dollar: अक्सर हम ये बाते सुनते रहते है कि भारतीय रुपया डॉलर के मुकाबले और भी ज्यादा कमजोर हो गया है, आ[पको तो पता ही होगा वर्तमान मे 1 डॉलर की कीमत भारतीय रुपए के मुकाबले 78.95 रुपए है और यह हर दिन घटता बढ़ता  रहता है, डॉलरकी वैल्यू अधिक और भारतीय रुपए की वैल्यू  काम होने की वजह से हमारी देश की अर्थव्यवस्था पर असर पड़ता है, देश के बाजार मे तो कोई असर नहीं पड़ता है लेकिन अंतराष्ट्रीय स्तर पर कोई भी समान खरीदने के लिए भारत को ज्यादा कीमत चुकानी पड़ेगी। बही बात करे सन 1947 की तो उस वक्त 1 रुपए 1 डॉलर के बराबर ही हुआ करता था, जिसके बाद से रुपए की कीमत लगातार कमजोर हॉट चली आ रही है। ऐसे मे क्या होगा अगर एक ही दिन मे 1 रुपए 1 डॉलर के बराबर हो जाए, इस आर्टिकल मे आपको इसकी सम्पूर्ण जानकारी मिलने वाली है। अतः यह जानने के लिए आर्टिकल को पूरा पढ़े। 

Read More: Interesting Facts of Commonwealth Games: कॉमनवेल्थ गेम्स के कुछ रोचक तथ्य जिनकी जानकारी आपको शायद ही पता होगी, यहा जानिए 

रुपए के कम होने की बजह क्या है

दोस्तों किसी भी देश की करेंसी को रेग्युलेट करने की जिम्मेदारी उस देश की गोवर्मेंट सेंट्रल बैंक पर होती है । भारत मे आजादी के बाद काफी समय तक ( Fixed Exchange Rate System) के आधार पर रुपए की कीमत अन्तराष्ट्रीय बाजार मे तय  होती थी। सन 1947 मे 1 रुपया 1 डॉलर के बराबर ही था। आजादी के बाद भारत ने दूसरे देशों से लोन लेना शुरू कर दिया था, जिसके बाद सन 1962 मे चीन के साथ युद्ध और 19645 मे पाकिस्तान के विरुद्ध युद्ध मे भारत को आर्थिक तौर भी काफी नुकसान का सामना करना पड़ा। इसके कारण विदेशों लिया गया कर्ज बढ़ने लगा, और भारत ने रुपयों की छपाई की साथ ही रुपए मे गिरावट की गई जिससे की देश मे विदेशी कॉम्पनीया  निवेश कर सके इसलिए 1966 मे डॉलर की कीमत 7.5 रुपए कर दी गई। 

Advertisement

आखिर क्या होगा जब 1 रुपए डॉलर के एक  समान हो जाए 

अगर रातोंरात अचानक से 1 रुपए की कीमत 1 डॉलर के बराबर हो जाए तो अगले दिन से ही भारत की दशा बदल जाएगी, देश का हर नागरिक अमीर हो जाएगा। मतलब जो व्यक्ति महीने के 10000 रुपए कमाता होगा तो अब वो 10000 डॉलर कमाने लगेगा, यानि उसकी कमाई 78 गुना बढ़ जाएगी। देश मे महंगाई खत्म होने लगेगी, बाहर से आने बाली चीजों मे भारी गिरावट देखने को मिलेगी। वर्तमान मे आईफोन के लिए 70 से 80 हजार चुकाने पड़ते है वही अमेरिका मे 1 आईफोन की कीमत 1 हजार डॉलर की है। इस तरह गड़िया भी देश मे सस्ती होने लगेगी 10 से 15 हजार मे आपको गड़िया मिल जाएगी और 1 से 2 लाख रुपए मे तो आप महंगी से महंगी गाड़ी अपने घर ला सकते है।

मतलब देश मे सारी चीजे जो बाहर के देशों से इम्पोर्ट की जाती है वो सारी चीजे सस्ती हो जाएगी। भारतीय लोगों के लिए घूमना खाना पीना सब कुछ सस्ता हो जाएगा जिस देश के टूर के लिए अभी आपको लाखों रुपए खर्च करने पर रहे हैं वो टूर अब हजारों रुपए मे ही हो जाएगा। इसी से अंदाजा लगा सकते हैं कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर रुपए कितना मजबूत हो जाएगा। 

1 रुपए के बराबर 1 डॉलर होने पर हमारे देश को इन हानियों का सामना करना पड़ेगा

आपको बता दें कि $1 के बराबर एक रुपए होने पर फायदे ही नहीं हालाकि हमारे देश मे  कई सारे नुकसान भी देखने को मिलेंगे । भारत वर्तमान में बड़ी संख्या के साथ दुनिया भर के सभी देशों मैं इंपोर्ट एक्सपोर्ट कर रहा है रुपया और डॉलर की कीमत बराबर होने पर अंतरराष्ट्रीय बाजार में एक बड़ा असर देखने को मिलेगा। भारत अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सबसे ज्यादा इंपोर्ट करता है।

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर रुपया मजबूत होने पर भारत अर्थव्यवस्था को एक बड़ा झटका लगेगा क्योंकि एक फोन रेट मे एकदम से गिरावट देखने को मिलेगी, क्योंकि अन्य देशों को भारत से सामान खरीदना काफी महंगा लगने लगेगा। वही इंपोर्ट में इजाफा होना तय है, देश में धीरे-धीरे विदेशी कंपनियां व्यापार करना बंद कर देगी, देश विदेशी इनवेस्टमेंट आना बंद हो जाएगा, जिससे लाखों करोड़ों की संख्या मे युवा वेरोजगार हो जाएंगे, विदेशों मे नौकरी करने बाले लोग भी भारत मे वापस आने लगेंगे। भारत मे अनेम्प्लॉइड एक बडा मुद्दा बन जाएगा। सब लोग बेरोजगारी से गरीब हो जाएंगे,क्योंकि इतना सारा रोजगार लाना किसी भी देश की सरकार के लिए संभव नहीं होगा।

ये भी पढ़ें-  

PM Kisan Samman Nidhi Yojna: इस दिन आएगी 12वी किस्त, जानें प्रधान मंत्री किसान सम्मान निधि योजना की नई उपडेट

Advertisement

Leave a Comment